मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> अब अटल और हिंदुत्व पर फोकस

अब अटल और हिंदुत्व पर फोकस

नई दिल्ली 23 अगस्त 2018 । मध्यप्रदेश में भाजपा की रणनीति बदल दी है। सीएम शिवराज सिंह ने कमान अपने हाथ में रखने की काफी कोशिश की। लेकिन अब समझ आने लगा है कि मध्यप्रदेश में ‘फिर शिवराज’ वाली लहर नहीं चल पाई। अब अटल बिहारी और हिंदुत्व पर फोकस किया जा रहा है, ताकि लोगों के दिमाग में से 2013 से 2018 तक की यादें मिटाकर नए मुद्दे भरे जा सकें।
बता दें कि मध्यप्रदेश आरएसएस और भाजपा का मजबूत गढ़ जरूर रहा है परंतु यहां कट्टरवाद को कभी प्रोत्साहन नहीं मिला। जातिवाद दल सपा/बसपा को इस बार कांग्रेस जरूर महत्व दे रही है परंतु मतदाताओं ने कभी महत्व नहीं दिया। यहां राममंदिर के लिए चंदा दिया गया लेकिन बावरी के लिए दंगे नहीं भड़के। मध्यप्रदेश के नागरिक ना तो जातिवादी हैं और ना ही सम्प्रदायवादी।  भाजपा ने भी यहां कभी कोई सुर्ख कार्ड नहीं खेला परंतु इस बार चाल शुरू हो गई है। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर मदरसों को तिरंगा यात्रा निकालने और विडियो बनाने का फरमान इसी कड़ी का हिस्सा है। स्वयं CM शिवराज सिंह चौहान अपनी जीवन संगीनी साधना सिंह के साथ प्रदेश के मंदिर मंदिर का भ्रमण कर रहे हैं। भाजपा के नेता सोशल मीडिया पर देश भर के हिंदू विरोधी मामलों को मप्र की जनता के सामने प्रस्तुत कर रहे हैं ।
भाजपा की दूसरी रणनीति है ‘अटल बिहारी’। देश के सबसे लोकप्रिय नेता की मृत्यु का ऐसा लाभ भी लिया जा सकता है शायद किसी ने सोचा भी नहीं होगा। मध्यप्रदेश में एक बड़ा वर्ग है जो काफी कोशिशों के बावजूद कट्टरवादी बहाव में नहीं बहेगा। भाजपा ने ऐसे लोगों के लिए ‘अटल बिहारी’ का फोटो सजा लिया है। श्रृद्धांजलि सभाएं, कलश यात्राएं, योजनाओं के नाम और पता नहीं क्या क्या। टारगेट सिर्फ एक है। समझदार नागरिकों के सामने उम्मीद की एक किरण जगाना। जो कुछ मध्यप्रदेश और चुनावी राज्य राजस्थान व छत्तीसगढ़ में हो रहा है, देश के दूसरे राज्यों में नहीं हो रहा जबकि अब तो 80 प्रतिशत राज्यों में भाजपा की सरकार है।

“सायबर योद्धाओं के दम पर भाजपा लड़ेगी चुनाव”

आगामी विधानसभा व लोकसभा चुनाव में भाजपा के आईटी व सोषल मीडिया विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। नारद रूपी कार्यकर्ता को नारायण रूपी संगठन का कार्य करना है। हमें सत्य के लिए लड़ना भी है और प्रष्नों का समाधान भी करना है। पार्टी के प्रषिक्षित सायबर योद्धाओं के दम पर हम आगामी चुनाव लड़ने जा रहे हैं।
“सायबर योद्धाओं के दम पर भाजपा लड़ेगी चुनाव”
“सायबर योद्धाओं के दम पर भाजपा लड़ेगी चुनाव”

यह बात भाजपा के प्रदेष प्रवक्ता उमेष शर्मा ने यहां आईटी सेल व सोषल मीडिया विभाग की संभागीय कार्यषाला में कही। भाजपा जिला मीडिया प्रभारी प्रकाष भावसार ने बताया श्री शर्मा ने कार्यषाला में खरगोन, बड़वानी, खंडवा, बुरहानपुर जिले से आए कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा सोषल मीडिया दुधारी तलवार है। हमें इस पर विरोधियों के अनावष्यक मुंह नहीं लगते हुए संगठन व पार्टी हित में कार्य करना है। महत्वपूर्ण विषयों का अध्ययन व मनन करते हुए प्रामाणिकता के साथ सोषल मीडिया पर अपनी बात रखें।

श्री शर्मा ने कहा हमारे पास सिर छुपाने जैसा कुछ भी नहीं है। हमारी केंद्र व राज्य की सरकारों ने सर्वस्पर्षी व सर्व कल्याणी कार्य किए हैं। भ्रष्टाचार मुक्त शासन की स्थापना की है। श्री शर्मा ने आईटी सेल कार्यकर्ताओं से पार्टी के समस्त मोर्चा, प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से जुड़ा विवरण जुटाने के निर्देष दिए।
इससे पूर्व कार्यषाला में जिला भाजपा अध्यक्ष परसराम चौहान ने कहा समय के साथ प्रचार की तकनीक में व्यापक परिवर्तन हुआ है। वर्तमान में मीडिया का सकारात्मक के साथ नकारात्मक उपयोग हो रहा है। हमें तकनीकों का सदुपयोग करना है। इसका चुनाव में महत्व है। आईटी व सोषल मीडिया विभाग पार्टी का जनाधार बढ़ाने में भूमिका निभा रहा है। कार्यकर्ता अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए प्रतिबद्ध है। आईटी व सोषल मीडिया विभाग के संभाग प्रभारी प्रदीप माहोर ने कार्यकर्ताओं व आम जनता को भाजपा के फेसबुक व ट्वीटर अकाउंट को फॉलो करने व वाट्सअप ग्रुप से जोड़ने पर जोर दिया। उन्होंने बताया इंदौर संभाग के फेसबुक पेज के तीन लाख से अधिक फॉलोअर है।
प्रदेष संयोजक षिवराज डाबी ने मिस्ड कॉल नंबर 9111048048 से बीजेपी 4 एमपी मोबाइल एप, ट्वीटर व फेसबुक अकाउंट की लिंक प्राप्त करने व डाउनलोड करने, नरेंद्र मोदी एप, षिवराज सिंह चौहान एप, हैजटेग, वॉटसअप सेटिंग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी व टिप्स दिए। प्रदेष प्रभारी शैलेंद्र शर्मा ने मप्र भाजपा की वेबसाइड ूूण्उचइरचण्वतह की जानकारी देते हुए कहा हमें प्रतिदिन वेबसाइड का अवलोकन कर सूचनाएं प्राप्त करना चाहिए। साइबर योद्धाओं को पार्टी व सरकार से जुड़ी जानकारियां होना चाहिए। उन्होंने कहा फेसबुक वॉल व यूट्यूब चैनल के आप मालिक, संपादक व रिपोर्टर हो। इसका उपयोग देषहित, पार्टी हित व समाज हित में करें।
कार्यषाला में व्यापारी प्रकोष्ठ के प्रदेष संयोजक कल्याण अग्रवाल, संभागीय कार्यालय मंत्री अनंत पंवार, पूर्व जिलाध्यक्ष बाबुलाल महाजन, सीसीबी अध्यक्ष रणजीतसिंह डंडीर, पूर्णकालिक नवीन कुवादे मंचासीन थे। कार्यकर्ताओं को प्रोजक्टर पर स्लाइड के माध्यम से प्रषिक्षण दिया गया। कार्यषाला प्रभारी क्षितिज पुरोहित, जिला संयोजक विष्वास ताम्रकर आदि का योगदान रहा। इस दौरान भाजपा जिला महामंत्री मयाराम पाटीदार, उपाध्यक्ष संतोष पाटीदार, जिला मंत्री रितेष रोकड़े आदि उपस्थित थे। कार्यषाला का संचालन आईटी सेल के संभागीय सहप्रभारी अजय ठाकुर ने किया

BJP ने तैयार की गलत बयानबाजों की लिस्ट

इस साल 4 राज्यों में होने वाले विधानसभा और फिर अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को अपने नेताओं की गलत बयानी का खतरा महसूस होने लगा है। पार्टी को आशंका है कि बयानबाजी के लिए मशहूर उसके नेता अपने बड़बोलेपन या ऊल-जुलूल बयानों से पार्टी को नुक्सान पहुंचा सकते हैं। इन नेताओं की सूची तैयार की गई है, जो इसके लिए पार्टी में कुख्यात हो चुके हैं।भाजपा के एक बड़े नेता से मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष अमित शाह इस बात को लेकर काफी चौंकन्ने हैं कि पार्टी के किसी नेता की ओर से गलत बयानी या फिर कोई अनर्गल बात न कही जाए। उन्होंने सभी प्रदेश अध्यक्षों और संगठन मंत्रियों को कहा कि यह सुनिश्चित करें कि किसी भी मुद्दे पर पार्टी द्वारा अधिकृत व्यक्ति ही बयान दे।
सूत्रों का कहना है कि कई बार इस तरह की बयानबाजी की वजह से पूरा चुनावी परिदृश्य ही बदल जाता है।पार्टी एक पूरी सोची-समझी रणनीति और मुद्दों को लेकर चुनाव में आगे बढ़ती है। ऐसे में मुद्दों या रणनीति से हटकर बयानबाजी से पार्टी को नुक्सान हो सकता है। इसके लिए पिछले लोकसभा चुनाव का उदाहरण भी पार्टी फोरम पर दिया जा रहा है कि कैसे भाजपा के एक नेता जो अब केंद्र सरकार में मंत्री भी हैं, के बयान की वजह से भाजपा 5 सीटों पर साधारण अंतर से हार गई थी। सूत्रों का कहना है कि महिला उत्पीड़न, दलित, अल्पसंख्यक और मंदिर जैसे मुद्दे पर संजीदगी दिखाने की नसीहत पार्टी कार्यकर्त्ताओं को दी गई है। विरोधी दल के नेताओं के खिलाफ अमर्यादित शब्दों और इशारों का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह भी दी जा रही है। गौरतलब है कि चुनावी सरगर्मी में अक्सर पार्टी नेता ऐसे बयान देते रहते हैं, जो मीडिया में छा जाते हैं और जिन पर भरपूर विवाद भी होता है।

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया के सामने कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने किया हंगामा

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया के सामने एक बार फिर टिकिट की होड़ में कार्यकर्ताओ ने जमकर हंगमा किया। बावरिया आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओ से रायशुमारी करने खरगोन पहुंचे थे। इस दौरान भगवानपुरा विधानसभा से टिकिट की मांग को लेकर केदार डावर और राजेश मण्डलोई ने जमकर शक्ति प्रदर्शन किया। हालात ये हो गये की कार्यकर्ता आपस में हाथापाई पर ऊतारू हो गये। हंगामा देख दीपक बावरिया चलते बने। कांग्रेस के दिग्गज नेता भले ही कांग्रेस में गुटबाजी से इंकार करे लेकिन टिकट के दावेदारो कसरावद से कांग्रेस विधायक सचिन यादव की विधानसभा को छोडकर सभी विधानसभा क्षेत्र में नेता और कार्यकर्ताओ ने शक्ति प्रदर्शन के साथ दीपक बाबरिया के सामने विरोध दर्ज कराया।
भीकनगांव विधायक झूमा सोलंकी को टिकिट नही देने की मांग को लेकर कार्यकर्ता और पदाधिकारीयो खुलकर सोलंकी का विरोध किया। इधर हंगामा को लेकर प्रदेश प्रभारी बावरिया का बचाव मे कहना है की मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी स्वाभाविक तौर पर टिकट को लेकर प्रतिस्पर्धा होती है। गुटबाजी तो वह कहते हैं जहां प्रधानमंत्री खुद शिवराज की जाजम खींचने को आतुर हैं। खूद राष्ट्रीय अध्यक्ष गुटबाजी के आतुर है भाजपा के बड़े दिग्गज तीन मंत्री आज चादर खींचने के लिए तैयारी कर रहे हैं। उसको गुटबाजी कहते हैं। यह तंदुरुस्त प्रतिस्पर्धा है। सभी को अधिकार होता है की वो अपनी बात को रखें।

प्रधानमंत्री अटल बिहारी की अस्थी कलश यात्रा भाजपा की नौटंकी – – प्रदेश कांग्रेस प्रभारी – – दीपक बावरिया
बयान देकर सुर्खियो मे रहने वाले दीपक बाबरिया का मानना है की भाजपा स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि कलश को लेकर नौटंकी कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी नौटंकी में नंबर वन है। हम गुजरात से हैं हम जानते हैं कि 2002 में गुजरात के दंगों के दरिम्यान मोदी जी ने अटल जी का किस प्रकार से अपमान किया था। 15 मिनट तक अटल जी को एयरक्राफ्ट में बिठा कर रखा था वह उनको रिसीव करने भी नहीं आए थे किसी के अवसान के बाद उनमें से भी लाभ देखने की उनकी मानसिकता है । देश की जनता आज समझ रही है।

शिवसेना को मनाने में जुटी भाजपा, ठाकरे से मिले मुरली मनोहर जोशी

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने आज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से बांद्रा स्थित उनके आवास पर मुलाकात की। हालांकि, दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई इस बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है। माना जा रहा है भाजपा नेता पार्टी से नाराज चल रहे उद्धव ठाकरे को मनाने के लिए वहां पहुंचे।

शिवसेना और भाजपा के बीच चल रही तकरार
शिवसेना सांसद संजय राउत ने जोशी और शिवसेना प्रमुख की इस भेंट को केवल ‘‘शिष्टाचार’’ मुलाकात बताया। पिछले कुछ समय से शिवसेना और भाजपा के बीच तकरार देखने को मिल रहा है। दोनों दल महाराष्ट्र में अकेले ही चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। इसके संकेत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी दिए थे। शिवसेना के अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग से दूरी बनाने के बाद से ही शाह नाराज बताए जा रहे हैं।

अकेले दम पर चुनाव लड़ेगी दोनों पार्टियां
बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल अगले वर्ष अक्तूबर-नवंबर में खत्म होगा ऐसे में राज्य में छह माह पूर्व ही चुनाव कराये जाने के बारे में भी भाजपा आलाकमान काफी गंभीरता से विचार कर रहा है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी पार्टी की बैठकों में कई बार यह कह चुके हैं कि भाजपा को अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारत के गेम प्लान पर बोले कोच रवि शास्त्री- खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की जरूरत नहीं

नई दिल्ली 19 अक्टूबर 2021 । भारतीय क्रिकेट टीम को टी-20 वर्ल्ड कप में अपना …