मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

नई दिल्ली 21 अगस्त 2018 । पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू पर मुजफ्फरपुर में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कराया गया है. सीजेएम की अदालत में मुकदमा दर्ज कराते हुए याचिकाकर्ता अधिवक्‍ता सुधीर ओझा ने आरोप लगाया कि सिद्धू ने पाकिस्‍तान सेना प्रमुख से गले मिलकर भारतीय सेना का अपमान किया है.

पंजाब के मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्‍तान जाकर विवादों में फंस गए हैं. प्रधानमंत्री पद के लिए इमरान खान के शपथ ग्रहण में सिद्धू पाकिस्‍तान सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा से गले मिले थे. इस पर भारत में काफी हंगामा हो रहा है. बीजेपी ने उन पर अपने हमले तेज कर दिए हैं. वहीं पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने भी सिद्धू के विरोध में बयान दिया है. उन्‍होंने कहा कि गले मिलना ठीक नहीं है. उन्‍हें ऐसा नहीं करना चाहिए था. इस मामले में अब मुजफ्फपुर में नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है.

उधर सिद्धू ने बाजवा को गले लगाने के अपने कदम का बचाव किया. उन्‍होंने कहा, ‘यदि कोई मेरे पास आए और कहे कि हम एक ही कल्‍चर से ताल्‍लुक रखते हैं और हम गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर सीमा को खोलेंगे तो मैं क्‍या करता?’ सिद्धू ने पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर के प्रेसिडेंट के पास बैठने पर भी सफाई दी. इस पर उन्‍होंने बताया, ‘यदि आपको मेहमान के रूप में बुलाया जाता है तो जहां बैठने को कहा जाता है, आप वहीं पर बैठते हैं. मैं कहीं और बैठा था, लेकिन मुझे पीओके के प्रेसिडेंट मसूद खाने के पास बैठने को कहा गया.

पाक के हुक़ूमती अमले के साथ पहुँचा था दिल्ली!

हर तरफ देशभर में नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने से होहल्ला मचा है ज़्यादातर लोगो को इस बात एहेतराज़ नही की सिद्धू अपने दोस्त इमरान खान के प्रधानमंत्री बनने के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने पाकिस्तान गए बल्कि लोगो को इस बात से एहेतराज़ है कि सिद्धू ने पाक सेना के उस आर्मी कर्नल को गले लग कर प्यार कि झँप्पी दे डाली। लिहाज़ा राजनीतिक रंग ले चुका ये मामला ठंडा भी नही पड़ पाया था कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार में शामिल होने पाक के हुक़ूमती दस्ते के साथ आतंकी डेविड हेडली का भाई भी दिल्ली पहुँच गया। दरअसल अटल जी के शुक्रवार को हुए अंतिम संस्कार में शिरकत करने मुल्क़ ही नहीं दुनिया भर के कई देशों से जानी-मानी हस्तियां भारत पहुची थीं जिनमे कई ऐसे चेहरे भी देखने को मिले जिन्होंने हम भारतीयों के पीठ पर कई वार करें है।

हालांकि भारत सरकार ने इस बात को सिरे से ख़ारिज करते हुए कहा कि गिलानी अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हुए थे। बल्कि वह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ पाकिस्तानी कानून मंत्री सैय्यद अली जफर, पाकिस्तानी उच्चायुक्त सोहेल महमूद और दक्षिण एशिया के महानिदेशक महमूद फैजल की अनौपचारिक बैठक में ही शामिल हुए। लेकिन सूत्रों की माने तो वाजपेयी जी के अंतिम संस्कार में पाकिस्तानी आतंकवादी डेविड हेडली के सौतेले भाई गिलानी भी मोजूद थे और दिल्ली के ली-मेरीडियन होटल में रुके भी थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब कांग्रेस का सस्पेंस बरकरार, नाराज सुनील जाखड़ को अपनी फ्लाइट में दिल्ली लाए राहुल-प्रियंका गांधी

नई दिल्ली 23 सितम्बर 2021 । चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के बावजूद पंजाब …