मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> 15 मरीजों की आंखों की रोशनी जाने के मामले में चार डॉक्टरों पर मुकदमा दर्ज

15 मरीजों की आंखों की रोशनी जाने के मामले में चार डॉक्टरों पर मुकदमा दर्ज

इंदौर 30 अगस्त 2019 । इंदौर आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के दौरान 15 मरीजों की आंखों की रोशनी जाने के मामले में चार डॉक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने थाने पहुंच लापरवाही के दोषी डॉक्टरों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया। जानकारी के अनुसार मामले में डॉ. सुधीर महाशब्दे, डॉ. सुहास बंडे, डॉ. अनुसुईया चौहान और डॉ. वनिंदर कौर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

मामला उजागर होने के बाद प्रशासन ने जांच समिति गठित की थी जिसकी रिपोर्ट के आधार पर उक्त डॉक्टरों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। वहीं मप्र सरकार ने भी एक तीन सदस्यीय डॉक्टरों की कमेटी का गठन जांच के लिए किया है। प्रदेश सरकार द्वारा गठित कमेटी 30 अगस्त को अपनी रिपोर्ट सरकार को देगी। गौरतलब है कि एमओजी लाइन स्थित इंदौर आई हॉस्पिटल में 8 अगस्त को मोतियाबिंद ऑपरेशन शिविर के दौरान 14 में से 11 केस बिगड़ गए थे। 17 अगस्त को मामला सामने आने पर राज्य सरकार ने सभी मरीजों को धार रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया था। बाद में 5 अगस्त को ऑपरेशन किए गए कुछ और मरीज भी सामने आए थे जिनकी आंखों की रोशनी जा चुकी थी। 5 मरीजों को उपचार के लिए चेन्नई भेजा गया था। वहीं अन्य का उपचार इंदौर में ही किया जा रहा है। मामले में स्वास्थ्य विभाग ने अस्पताल का पंजीयन निरस्त कर दिया है। वहीं इंदौर आई हॉस्पिटल की जमीन व भवन में जिला अस्पताल प्रारंभ करने की कवायद भी की जा रही है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …