मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> G-7 की जगह G-11 : भारत होगा मेंबर, चीन को जगह नहीं, मीटिंग का बुलावा, चीन पर अहम निर्णय

G-7 की जगह G-11 : भारत होगा मेंबर, चीन को जगह नहीं, मीटिंग का बुलावा, चीन पर अहम निर्णय

नई दिल्ली 2 जून 2020 । अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के खिलाफ जो रुख अपनाया है उसका असर समूचे वैश्विक ताने-बाने पर पड़ने की संभावना जोर पकड़ते जा रही है। ट्रंप ने अब दुनिया के सबसे शक्तिशाली सात देशों के संगठन G-7 को समाप्त कर इसकी जगह पर G-11 बनाने का प्रस्ताव किया है। इस समूह में शामिल होने के लिए उन्होंने भारत को भी रूस, आस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया के साथ आमंत्रित किया है। चीन के साथ सीमा विवाद में उलझे भारत को यह फैसला करना होगा कि सितंबर, 2020 में बुलाई गई इस बैठक में शामिल होना है या नहीं। न्यूयार्क टाइम्स ने लिखा है कि इस मीटिंग में सभी देश एकजुट होकर चीन के साथ भविष्य के रिश्तों पर भी अहम फैसले लेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने G-7 समिट को सितंबर तक के लिए टाल दिया है। ट्रंप ने इसमें शामिल देशों की लिस्ट को बढ़ाने का इरादा जताया है। इसमें भारत समेत 4 नये देश शामिल होंगे। ट्रंप ने कहा- वह इसमें भारत, रूस, साउथ कोरिया और ऑस्ट्रेलिया को शामिल करना चाहते हैं। उन्होंने शनिवार को अपने आधिकारिक प्लेन एयरफोर्स वन पर इस सम्मेलन से जुड़े सवालों के जवाब देते हुये इस बात की जानकारी दी। ट्रम्प ने कहा- मैंने इस शिखर सम्मेलन के टालने का फैसला किया है। मुझे नहीं लगता है कि G-7 दुनिया की मौजूदा स्थिति का सही ढंग से प्रतिनिधित्व करता है। यह देशों का बहुत पुराना समूह है।
ट्रम्प ने यह भी कहा- G-7 के बदले एक विस्तारित सम्मेलन बुलाया जायेगा। इसमें भारत, रूस, दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों को भी आमंत्रित करना चाहेंगे। अब यह सितंबर में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के पहले या उसके बाद हो सकता है। जी-7 में अमेरिका, फ्रांस, कनाडा, ब्रिटेन, जर्मनी, जापान और इटली शामिल हैं। सभी सदस्य देश बारी-बारी से सालाना बैठक का आयोजन करते हैं। इस बार अमेरिका के कैंप डेविड में जी-7 सम्मेलन होना था। हालांकि, कोरोना की वजह से सदस्य देशों के नेताओं का व्यक्तिगत तौर पर आना मुमकिन नहीं था। ऐसे में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जून में यह बैठक बुलाने का फैसला किया गया था।आखिरी बार अमेरिका में यह समिट 2012 में हुई थी। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मैरीलैंड के कैंप डेविड में सरकारी इमारत में समिट कराई थी। 2004 में पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने जॉर्जिया के सी आइलैंड रिजॉर्ट में इसे आयोजित किया था। अगस्त 2019 में जी-7 समिट फ्रांस के बियारिट्ज शहर में हुई थी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …