मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> जुए में एक खरब रुपये हार गए Gionee के चेयरमैन, दिवालिया होने की कगार पर कंपनी

जुए में एक खरब रुपये हार गए Gionee के चेयरमैन, दिवालिया होने की कगार पर कंपनी

नई दिल्ली 1 दिसंबर 2018 । चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी जियोनी भले ही हुवावे, ओप्पो, वीवो और शियोमी की तरह पॉपुलैरिटी हासिल न कर पाई हो लेकिन इसे एक बड़े ब्रांड की तरह जाना जाता है. खबर है कि चीन की यह कंपनी मुश्किल दौर से गुजर रही है और दिवालियेपन की कगार पर आ गई है. हालांकि इस बारे में कंपनी की ओर से अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है.

सिक्योरिटीज टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी सप्लायर्स को पैसे देने में नाकामयाब रही और एक सौदे पर काम करने के लिए उनके साथ मुलाकात की है. यह मीटिंग 20 सप्लायर्स द्वारा शेन्ज़ेन इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट में दिवालियेपन को लेकर आवेदन दायर करने के बाद की गई.

चीन की वेबसाइट Jiemian ने लिखा कि जियोनी के चेयरमैन Liu Lirong साइपैन के एक कसीनो में जुआ खेलते वक्त कथित तौर पर 10 अरब युआन (करीब 1 खरब रुपये) हार गए, जिसके कारण कंपनी को इस दौर से गुजरना पड़ रहा है. लेकिन इसके बाद Lirong ने सिक्योरिटीज टाइम्स को बताया कि वे एक अरब युआन हारे हैं. Lirong ने यह भी दावा किया कि उन्होंने जुए के लिए जियोनी के कैश का गलत इस्तेमाल नहीं किया लेकिन यह कहा कि उन्होंने कंपनी से फंड जरूर उधार लिया है.

काउंटरप्वॉइंट के रिसर्च के अनुसार 2017 के पहले तिमाही में जब जियोनी ने सेल्फी फोकस्ड कैमरे के साथ एंट्री की थी तब भारतीय बाजार में इसका 4.6 पर्सेंट शेयर था. 15 से 30 हज़ार के प्राइस ब्रैकेट में बेचने वाली कंपनी में जियोनी पांच टॉप ब्रांड्स में से एक रही. इसके बाद 2018 के दूसरे तिमाही में लेनोवो, माइक्रोमैक्स और सोनी के साथ जियोनी के भी वर्ल्डवाइड शिपमेंट में गिरावट देखी गई.

अप्रैल में खबर आई कि भारत के टॉप 5 स्मार्टफोन ब्रांड में शामिल होने के लिए जियोनी इस साल 6.5 अरब रुपये का निवेश करेगी. कंपनी ने अप्रैल में Gionee F205 और Gionee S11 Lite के साथ भारतीय बाजार में वापसी की थी. इन दोनों फोन्स को सेल्फी के शौकीन लोगों को ध्यान में रखकर लॉन्च किया गया था.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों को कैसे दें सुरक्षा कवच

नई दिल्ली 12 मई 2021 । भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार …