मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> सरकार 4 सरकारी बैंकों का करेगी निजीकरण

सरकार 4 सरकारी बैंकों का करेगी निजीकरण

नई दिल्ली 17 फरवरी 2021 । केंद्र सरकार ने अगले दौर के निजीकरण के लिए 4 सरकारी बैंकों को चुना है. बैकिंग सेक्टर में सरकारी बैंकों के निजीकरण के इस फैसले को राजनीतिक रूप से जोख़िम भरा कदम माना जा रहा है, क्योंकि इससे लाखों नौकरियों पर असर पड़ सकता है. लेकिन मोदी सरकार अब बैंकों के के निजीकरण के दूसरे चरण की शुरुआत करने की तैयारी में है.

जिन 4 बैंकों को निजीकरण के लिए चुना गया है, उनमें बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया है. इनमें से 2 बैंकों का निजीकरण वित्त वर्ष 2021-22 में किया जाएगा. अधिकारी ने बताया कि शुरुआती दौर में सरकार छोटे से लेकर मिड-साइज के बैंकों को निजीकरण के लिए चुन रही है.

आने वाले साल में अन्य बड़े बैंकों के निजीकरण का फैसला भी लिया जा सकता है. हालांकि, देश के सबसे बड़े बैंक यानी भारतीय स्टेट बैंक में सरकारी अपनी ​अधिकतम हिस्सेदारी बनाये रखेगी. SBI को एक तरह का रणनीतिक बैंक भी माना जाता है, जिसके जरिए केंद्र सरकार अपने कई पहल को लागू करती है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

बिना लगेज सफर करने वाले एयर पैसेंजर्स को किराए में छूट मिलेगी

नई दिल्ली 27 फरवरी 2021 ।  डोमेस्टिक एयर पैसेंजर्स को अब बैगेज नहीं ले जाने …