मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> सरकारी बैंकों में अगले कुछ महीनों में 83,000 करोड़ रुपये की पूंजी डालेगी सरकार : जेटली

सरकारी बैंकों में अगले कुछ महीनों में 83,000 करोड़ रुपये की पूंजी डालेगी सरकार : जेटली

नई दिल्ली 22 दिसंबर 2018 । वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार चालू वित्त वर्ष के बचे हुए महीनों में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में डाले जाने वाली पूंजी बढ़ाकर 83,000 करोड़ रुपये करेगी. इसके साथ चालू वित्त वर्ष में बैंकों को मिलने वाली पूंजी 1.06 लाख करोड़ रुपये हो जाएगी.

जेटली ने कहा कि पूंजी अगले कुछ महीनों में डाली जाएगी. इससे सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की कर्ज देने की क्षमता बढ़ेगी और आरबीआई की सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) रूपरेखा से तत्काल बाहर निकलने में मदद मिलेगी. इससे पहले सरकार ने 2018-19 में सरकारी बैंकों में 65,000 करोड़ रुपये की पूंजी डालने की घोषणा की थी. इसमें से 23,000 करोड़ रुपये की पूंजी पहले ही डाली जा चुकी है. कुल प्रस्तावित पूंजी में से 42,000 करोड़ रुपये बची है. सरकार ने 41,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त पूंजी डाले जाने को लेकर संसद की मंजूरी मांगी. यह राशि अक्टूबर, 2017 में सरकार द्वारा बैंकों में जो 2.11 लाख करोड़ रुपये की पूंजी डालने की घोषणा की गई थी उसके अतिरिक्त है.

जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि पूंजी डाले जाने से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की कर्ज देने की क्षमता बढ़ेगी और आरबीआई के सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) रूपरेखा से तत्काल बाहर निकलने में मदद मिलेगी. उन्होंने कहा, “अब इस साल बैंकों में 1.06 लाख करोड़ रुपये की पूंजी डाली जाएगी और इसमें से शेष बची 83,000 करोड़ रुपये का उपयोग चार अलग-अलग मदों में किया जाएगा. पहला, निश्चित रूप से यह सुनिश्चित करना है कि बैंक नियामकीय पूंजी नियमों को पूरा करे.”

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना महामारी के चलते सादे समारोह में ममता बनर्जी ने ली शपथ

नई दिल्ली 05 मई 2021 । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राजभवन …