मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की जुबान फिसली, पीएम मोदी के लिए बोल दी बड़ी बात

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की जुबान फिसली, पीएम मोदी के लिए बोल दी बड़ी बात

रीवा 3 फरवरी 2019 । मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल फिर सुर्खियों में हैं। इस बार भी उनका एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वे मोदी साहब का ध्यान रखने की बात कह रही है। इससे पहले भी पटेल चित्रकूट दौरे के वक्त भी सतना एयरपोर्ट पर वे भाजपा पदाधिकारियों को जीत का मंत्र देते हुए विवादों में आ गई थीं। इधर, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पटेल के बयान वायरल होने के बाद राजनीति गर्मा गई है।

विंध्य में दो दिवसीय दौरे पर आईं राज्यपाल आनंदी पटेल शनिवार को गुढ़ स्थित सोलर पॉवर प्लांट का निरीक्षण करने पहुंची। निरीक्षण के बाद उन्होंने ग्रामीणों से मुलाकात की। जब गांव के लोगों ने उनसे मांग की कि सोलर पॉवर प्लांट में स्थानीय युवाओं को रोजगार दिया जाए, तो उन्होंने इस संबंध में अधिकारियों को सूची बनाने को कहा और जाते-जाते ग्रामीणों से उन्होंने साफ शब्दों में कहा- मोदी साहब का ध्यान रखो…। इस दौरान पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक राजेन्द्र शुक्ला व केपी त्रिपाठी भी मौजूद रहे।

कांग्रेस बोली- राष्ट्रपति को लेना चाहिए संज्ञान
मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा ने इस बारे में कहा है कि राज्यपाल का पद संवैधानिक और गरीमामय पद होता है। राज्यपाल की विचारधारा कोई भी हो, किन्तु राज्यपाल पद की शपथ लेने के बाद निष्पक्ष आचरण अपनाना चाहिए। भाजपा और संघ के कार्यकर्ता बनकर यदि कोई राज्यपाल अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहा है तो वो संवैधानिक व्यवस्था में सीधा हस्तक्षेप है। इस पर राष्ट्रपति को संज्ञान लेना चाहिए।

विंध्य में पहली बार दो दिवसीय दौरे में आई राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सिंगरौली पहुंचकर शासन की महिला बाल विकास, स्कूल शिक्षा एवं पोषण पुर्नवास एवं टीबी कार्यक्रम को लेकर समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने बैढऩ जिला अस्पताल का निरीक्षण भी किया है और अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देशित किया था।

इसके बाद रीवा पहुंची राज्यपाल ने अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के अध्यक्षीय भाषण में केन्द्र सरकार की उज्जवला एवं स्वच्छता अभियान योजनाओं की सराहना की थी। इसके बाद रीवा के राजनिवास में अधिकारियों को बुलाकर महिला बाल विकास, स्वच्छता मिशन, क्षय रोग को लेकर समीक्षा की।

इस तरह दो दिनों तक विंध्य में पहली बार इस तरह राज्यपाल का योजनाओं की समीक्षा करना चर्चाओं में है। इसके बाद शनिवार को बदवार में निरीक्षण के दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने ग्रामीणों से मोदी साहब का ध्यान रखने का निर्देश दे दिया। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले विंध्य में राज्यपाल का यह दौरा व ग्रामीणों से की गई बातचीत सवाल खड़े कर रही है।

विंध्य से मिली है 26 सीटें
गौरतलब है कि विंध्य में भाजपा को 30 सीट में 26 सीट मिली है। ऐसे में लोक सभा चुनाव में अपना विंध्य में दबदबा बनाने भाजपा पीछे नहीं रहना चाहती है। यही कारण है कि विंध्य में दौरे में राज्यपाल योजनाओं की समीक्षा व निरीक्षण भाजपा विधायकों के साथ एवं खुले तौर पर लोगों से मोदी साहब का ध्यान रखने जैसे शब्दों को प्रयोग कर रही है।

सतना में भी राज्यपाल की फिसली थी जुबान, वायरल हुआ था वीडियो

सतना एयरपोर्ट पर दिया था जीत का मंत्र
मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल इससे पहले भी कई बार अपने बयानों से सुर्खियों में रही। चित्रकूट दौरे के वक्त भी उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे भाजपा के लोगों को समझाते हुए नजर आ रही थीं। वे समझा रही थीं कि भाजपा को कैसे वोट मिलेंगे और 2022 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना कैसे पूरा होगा। उसके बाद वे विवादों में आ गई थीं। गौरतलब है कि 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने आनंदी बेन पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया था। हालांकि दो साल के बाद ही उनसे इस्तीफा ले लिया था। वे प्रधानमंत्री मोदी के विश्वसनीय लोगों में गिनी जाती हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

मोदी सरकार के आर्थिक सुधार कार्यक्रमों के सुखद परिणाम अब नजर आने लगे हैं

नई दिल्ली 20 सितम्बर 2021 । वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के स्थापित …