मुख्य पृष्ठ >> केंद्र में भी लागू किया गया गुजरात मॉडल, निर्दोषों को फंसा फर्जी मामले किए दर्ज

केंद्र में भी लागू किया गया गुजरात मॉडल, निर्दोषों को फंसा फर्जी मामले किए दर्ज

भोपाल 7 सितम्बर 2019 । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि केन्द्र में भाजपा नीत सरकार ने ‘‘शासन का गुजरात मॉडल’’ लागू किया है, जिसका मकसद निर्दोष लोगों को फंसाना और फर्जी मामले दर्ज करना है। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता दिग्विजय ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई पर सवाल के जवाब में कहा कि केन्द्र की यह सरकार दुश्मनी को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा, ‘‘ये लोग आज सत्ता में, शासन का गुजरात मॉडल लागू कर रहे हैं। निर्दोष लोगों को फंसा रहे हैं, झूठे मामले दर्ज कर रहे हैं, जैसा कि इन्होंने गुजरात में किया था।’’ हालांकि, उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी के खिलाफ ईडी के मामले के बारे में अनभिज्ञता जाहिर की।

चिदंबरम के खिलाफ ईडी की कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर दिग्विजय ने कहा, ‘”मैं इसकी निंदा करता हूं। उन्हें झूठा फंसाया गया है। किसी भी मामले में उनके खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है। मैं 1984-85 से उन्हें जानता हूं, वह ईमानदार हैं और कभी भी नियम और कानून के खिलाफ काम नहीं करते हैं।’’ कांग्रेस नेता ने प्रदेश में 15 साल रही भाजपा सरकार की ओर इशारा करते हुए यह भी कहा, “भाजपा ने मुझे 15 साल तक फंसाने की कोशिश की। लेकिन, कोई मामला नहीं था।

ईडी, आयकर, सीबीआई और मेरे खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में भी कुछ नहीं है। यदि उनके पास मेरे खिलाफ सबूत होते, तो क्या मैं खुले तौर पर उनका विरोध कर पाता।’’ मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार के अपने आप गिर जाने वाले भाजपा के कई नेताओं के बयान पर दिग्विजय ने कहा कि भाजपा के नेता विपक्ष में होने को पचा नहीं पा रहे हैं। उन्हें सत्ता भोगने की आदत हो गई है इसलिये वे प्रदेश में सत्ता खोने के बाद से परेशान हैं।

मध्य प्रदेश कांग्रेस में जारी विवाद पहुंचा दिल्ली, सोनिया ने तलब की रिपोर्ट

मध्य प्रदेश कांग्रेस में अंदरखाने चल रहा घमासान अब आलाकमान तक पहुंच गया है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और सूबे के वनमंत्री उमंग सिंघार के बीच जारी विवाद पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रिपोर्ट मांगी. उन्होंने यह रिपोर्ट मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया से मांगी है.

सूत्रों के मुताबिक मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया ने सोनिया गांधी को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. इसमें उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह ने मंत्रियों से उनके द्वारा किए गए कामों का जवाब मांगा है. इससे कुछ मंत्री असहज हैं. बताया जा रहा है कि उमंग सिंघार के बयान से सोनिया गांधी बेहद नाराज हैं.

दीपक बावरिया ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि उमंग सिंघार के बयानों से पार्टी की छवि को नुकसान पहुंचा है. उनके दिग्विजय सिंह को लेकर दिए गए कुछ बयान आपत्तिजनक हैं, जिससे बचा जा सकता था. अगर आगे किसी नेता ने बयानबाजी की तो उस पर कार्रवाई होगी.

दरअसल, मध्य प्रदेश के वनमंत्री उमंग सिंघार ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को ब्लैकमेलर बताया था. साथ ही दिग्विजय सिंह पर पर्दे के पीछे से सरकार चलाने का आरोप जड़ा था. इसके बाद दिग्विजय सिंह मीडिया के सामने आए थे और सफाई दी थी. उन्होंने उमंग सिंघार के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि अनुशासनहीनता करने वाले पार्टी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. दिग्विजय सिंह ने कहा कि पार्टी में अनुशासनहीनता कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी. इस विवाद में कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी कूद पड़े. बुधवार को उन्होंने ग्वालियर में मीडिया से बातचीत की और वनमंत्री उमंग सिंघार का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को अपने दम पर चलना चाहिए. इसमें किसी का भी हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए.

सिंधिया ने कहा कि उमंग सिंघार द्वारा उठाए गए मुद्दों को अच्छे से सुनना चाहिए. मुझे लगता है कि सूबे के मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस मामले पर दोनों पक्षों को बैठाकर विवाद का समाधान जल्द निकालना चाहिए, क्योंकि 15 साल की कड़ी मेहनत के बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है.

उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार को सत्ता में आए अभी 6 महीने भी नहीं हुए हैं और कांग्रेस पार्टी में विवाद शुरू हो गया है. सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस सरकार से लोगों को विकास को लेकर उम्मीदे हैं. अगर किसी भी तरह का कोई विवाद सामने आता है, तो मुख्यमंत्री कमलनाथ को दोनों पक्षों को बैठाकर विवाद को सुलझाना चाहिए.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …