मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> स्लिम दिखने के लिए स्मृति ईरानी कर रहीं मेहनत

स्लिम दिखने के लिए स्मृति ईरानी कर रहीं मेहनत

नई दिल्ली 6 जनवरी 2019 । कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी हेल्थ को लेकर काफी सतर्क हैं। वह कांस्टीट्यूशन क्लब के जिम में एक्सरसाइज करके वजन घटाने में लगी हैं। ईरानी को वैसे भी अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को 2019 के चुनाव में चुनौती देना है। ईरानी के अलावा स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू, राजीव प्रताप रुडी भी स्लिम रहने के लिए काफी कुछ कर रहे हैं। केन्द्रीय सड़क परिवहन व जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी को भी आप देख सकते हैं, उन्होंने काफी वजन घटा लिया है। गडकरी पहले की तुलना में अब काफी स्मार्ट दिखने लगे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी भी करते हैं योगाभ्यास

प्रधानमंत्री के बारे में भी जानकारी मिली है। सूचना है कि वह व्यस्तता के कारण एक्सरसाइज के लिए कम समय निकाल पाते हैं। योगाभ्यास करते हैं, लेकिन जिम आदि के लिए महीने में बमुश्किल 10-12 दिन का उन्हें समय मिल पाता है। प्रधानमंत्री कार्यालय के सूत्र बताते हैं कि प्रधानमंत्री ने भी वजन घटाया है। वह पहले से अधिक चुस्त-फुर्त स्मार्ट हुए हैं। पीने में हिमालया का मिनरल वाटर पसंद करते हैं और खान-पान में विशेष ध्यान रखते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी लोक सभा चुनाव 2019 की चुनौतियों, दौरों, व्यस्तता को ध्यान में रखकर सेहत को लगातार दुरुस्त करने में लगे हैं। कुछ महीने पहले प्रधानमंत्री ने इसके बाबत अपना एक वीडियों भी जारी किया था। जिसमें वह सुबह की सैर, व्यायाम आदि करते दिखाई दिए थे।

जेटली ने भी बदला खान-पान

वित्तमंत्री अरुण जेटली को आप देख सकते हैं, जिन्होंने एम्स से गुर्दे का प्रत्यारोपण कराकर लौटने के बाद अपने खान-पान को बहुत दुरुस्त किया है। चिकित्सकों ने उन्हें संक्रमण से बचने के लिए लंबी-चौड़ी हिदायत दे रखी है, लेकिन काम का बोझ, मिलने, जुलने के दौर में उनसे थोड़ी बहुत लापरवाही हो जा रही है। अरुण जेटली भी सेहत सुधारने में लगे हैं। उन्होंने काफी वजन घटाया है। सूत्रों की माने तो कोई 15 किलो तक वजन घटा लिया है।

समाजवादी पार्टी के सुरेन्द्र नागर कांस्टीट्यूशन क्लब अऑफ इंडिया में पसीना बहाते हुए देखे जा सकते हैं। नागर ने भी वजन घटा लिया है। स्लिम, सिलेंड्रिकल और स्मार्ट दिखने लगने लगे हैं। सीताराम येचुरी भी हेल्थ कांसस हैं। वह भी व्यायाम करना नहीं भूलते।

कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया के सूत्रों के अनुसार करीब 80 सांसद और आधा दर्जन केन्द्रीय मंत्री नियमित यहां की सेवाएं लेते हैं। क्लब में बाकायदा जिम ट्रेनर है। अच्छी और गुणवत्ता की मशीनें हैं और शाम के राजनीति के धुरंधर अपनी सेहत सुधारने आते हैं।

राजीव प्रताप रुडी के प्रयासों का असर

पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रुडी नये विचारों, नव सृजन के लिए जाने जाते हैं। स्मार्ट रूडी के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया का कायाकल्प कर दिया है। आंतरिक साज-सज्जा से लेकर क्लब की आमदनी को सुधारने तक में रूडी ने सहयोगियों के साथ मिलकर प्रयास किया है। इसका असर भी दिखाई दे रहा है।

कांस्टीट्यूशन क्लब की संसद सदस्यों के लिए कैंटीन भी अब काफी अच्छी है। स्वादिष्ट थाई, चाइनीज, यूरोपियन, नार्थ इंडियन, इटालियन फूड का भी यहां आनंद लिया जा सकता है। खास बात यह है कि यह सुविधा भी केवल संसद के सदस्यों या उनके मेहमान के लिए है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना विस्फोट के बीच क्या लगेगा लॉकडाउन? पीएम मोदी की आज बड़ी बैठक

नई दिल्ली 19 अप्रैल 2021 । कोरोना की दूसरी लहर की वजह से देश में …