मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में बेहद भारी बारिश, रेड अलर्ट के तहत 5 जिलें

तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में बेहद भारी बारिश, रेड अलर्ट के तहत 5 जिलें

नई दिल्ली 10 नवंबर 2021 । बारिश के कहर के कारण केरल और तमिलनाडु के लिए मुश्किलें अभी खत्म नहीं हुई हैं। मौसम विभाग के अलर्ट के बाद कुछ क्षेत्रों मे तेज बारिश हो रही हैं। तमिलनाडु के चेन्नई में भारी बारिश के कारण जलजमाव जारी है। आईएमडी ने कुड्डालोर, विलुप्पुरम, शिवगंगा, रामनाथपुरम, कराईकल में आज के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, तमिलनाडु में कराईकल और नागापट्टिनम में क्रमश: 20 सेमी और 15 सेमी से अधिक वर्षा दर्ज की गई, जबकि राज्य में मौसम विभाग द्वारा पहले जारी की गई ‘अत्यधिक भारी वर्षा’ की चेतावनी थी। बारिश के कारण स्कूल हुए बंद

मौसम विभाग की एडवाइजरी के मद्देनजर सरकार ने चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर, चेंगलपेट, कुड्डालोर, नागापट्टिनम, तंजावुर, तिरुवरुर और मयिलादुथुराई जिलों में 10 और 11 नवंबर को स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी की घोषणा की है। चेन्नई के कोलाथुर इलाके से जलजमाव की खबर आ रही है। बंगाल की खाड़ी और उसके आसपास के क्षेत्र में बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण 10 और 11 नबंवर को भारी बारिश होने की संभावना है।

तमिलनाडु के नागपट्टिनम में भारी बारिश

राज्य सरकार ने भारी बारिश के पूर्वानुमान के मद्देनजर नौ जिलों-चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर, चेंगलपट्टू, कुड्डालोर, नागापट्टिनम, तंजावुर, तिरुवरूर और मयिलादुथुराई में 10 और 11 नवंबर को स्थानीय अवकाश घोषित किया है। तमिलनाडु में दो से तीन दिन तेज बारिश का अनुमान

मौसम विभाग ने मंगलवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना निम्न दबाव का क्षेत्र जल्द ही दबाव में बदल सकता है और अगले कुछ दिनों में पूरे तमिलनाडु में भारी बारिश होने की आशंका है। चेन्नई और आसपास के जिलों जैसे चेंगलपेट में मंगलवार को बारिश में कमी आई लेकिन तमिलनाडु के नागापट्टिनम और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के कराईकल जैसे क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने पीटीआई-को बताया कि सुबह से शुरू होकर रात 9.30 बजे (नौ नवंबर) तक कराईक्कल में लगभग 20 सेंटीमीटर और नागपट्टिनम में लगभग 15 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई और ‘‘ऐसे क्षेत्रों में बारिश जारी रह सकती है।’’ चेन्नई और आसपास के उत्तरी क्षेत्रों में मंगलवार रात तक ज्यादातर हल्की से मध्यम बारिश हुई। हालांकि, छह नवंबर की रात से सोमवार तक भारी बारिश के चलते चेन्नई और उपनगरों में जल-जमाव हो गया। जल संसाधन मंत्री दुरईमुरुगन ने कहा कि बांधों से जल प्रवाह और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त पानी छोड़ने के लिए कदम उठाए गए हैं। तमिलनाडु राजभवन ने एक ट्वीट में कहा कि राज्यपाल आर एन रवि ने ‘‘तमिलनाडु के लोगों से अगले कुछ दिनों में भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) द्वारा भारी बारिश के अनुमान के मद्देनजर सतर्क रहने और एहतियाती उपाय करने का आग्रह किया है। प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को गैर-जरूरी आवाजाही से बचना चाहिए। तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रमुक और मुख्य विपक्षी दल अन्नाद्रमुक के बीच महानगर में बारिश के चलते पानी भरने के मुद्दे पर मंगलवार को वाकयुद्ध शुरू हो गया। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने यहां जलजमाव के लिए पलानीस्वामी के नेतृत्व वाली पिछली सरकार को जिम्मेदार ठहराया और मामले की जांच के लिए एक आयोग की भी घोषणा की। वहीं, प्रमुख विपक्षी दल ने आरोप को खारिज किया और द्रमुक सरकार पर बदनाम करने तथा यहां जलजमाव को रोकने के लिए उपाय नहीं करने का आरोप लगाया। मंगलवार को यहां और आसपास के जिलों-कांचीपुरम, तिरुवल्लूर तथा चेंगलपेट में बारिश में कमी दर्ज की गई। लगातार तीसरे दिन यहां कई प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण करने और प्रभावित लोगों को भोजन एवं राहत सामग्री वितरित करने वाले स्टालिन ने कहा कि प्रभावित लोगों को भोजन, आश्रय और चिकित्सा सहायता प्रदान करने के संबंध में कार्रवाई जारी है। यह पूछे जाने पर कि क्या शहर में जलजमाव कम हुआ है, मुख्यमंत्री ने मौजूदा हालात के लिए पिछली अन्नाद्रमुक सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा, हिंदू पक्ष ने किया दावा-‘बाबा मिल गए’; कल कोर्ट में पेश होगी रिपोर्ट

नयी दिल्ली 16 मई 2022 । ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा हो गया है। तीसरे …