मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> यहां चलेगा महारानी का जादू …

यहां चलेगा महारानी का जादू …

भोपाल 22 अगस्त 2018 । मध्यप्रदेश में सत्ता वापसी के लिए कांग्रेस भी तुरूप के पत्ते रिजर्व में रख रही है, और चुनावी बिसात से ठीक पहले यह तुरूप चालें चली जाएंगी, ताकि प्रदेश का माहौल कांग्रेस मय किया जा सके। इसके तहत प्रदेश के दो अंचलों की कमान सिंधिया परिवार सम्हांल सकता है। मालवा अंचल में स्वयं ज्योतिरादित्य सिंधिया कमान सम्हालेंगे, वह उज्जैन संभाग की किसी भी सीट से लडने का ऐलान कर सकते हैं, इसके लिए सीट भी तलाशी जा रही है, जहां सिंधिया बिना प्रचार के वहां से निकल सकें।
सिंधिया के उज्जैन से चुनाव लडने से वह वहां मालवा अंचल को केन्द्रित कर सकते हैं और इसके लिये वह स्वयं टारगेट लेकर चल रहे हैं। इसी प्रकार ज्योतिरादित्य सिंधिया की निगाह ग्वालियर पर भी है, वह ग्वालियर चंबल अंचल की ३४ सीटों को इंग्रोर नहीं कर सकते । अत: वह अपनी पत्नी प्रियदर्शिनी राजे को इस अंचल की कमान सौंपेंगे, ताकि प्रियदर्शिनी का जादू वोटरों पर सर चढकर बोल सके। वैसे यह बात स्पष्ट है कि सिंधिया राजवंश के प्रति अंचल के लोगों के अगाध श्रद्धा है और यदि प्रियदर्शिनी यहां की कमान सम्हालती हैं, तो परिणाम जादुई होंगे।

व्यापम के बाद पी.एस.सी. घोटाले से प्रदेश के युवाओं का सरकार पर से विश्वास खत्म हुआ- नेता प्रतिपक्ष

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने न्याय यात्रा के दूसरे दिन सागर जिले में 6 जनसभाएं और रोड शो किए। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा है कि व्यापम महाघोटाले के बाद पी.एस.सी. भर्ती परीक्षा में भी घोटाले सामने आने के बाद अब प्रदेश के युवाओं का इस सरकार से विश्वास ही उठ गया है और उन्होंने कहा पूरे देश में मध्यप्रदेश की छवि खराब हुई है। सिंह ने कहा की यह कौन मामा है जो भांजों के साथ विश्वासघात कर रहा है। सी.बी.आई. को उसका असली चेहरा सामने लाना चाहिए। सिंह सागर जिले में न्याय यात्रा के दूसरे दिन मकरोनिया, कर्रापुर, बंडा, बांदरी, खुरई और बीना में विशाल जन-सभाओं को संबोधित कर रहे थे।
नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा की घोटालों से भ्रष्टाचार से प्रदेश के मुख्यमंत्री का चोली-दामन का साथ रहा है। डम्पर से शुरू हुए तो आज पी.एस.सी. घोटाले तक में लिप्त होने का आरोप है। उन्होंने सवाल किया कि क्या बात है कि प्रदेश में कोई भी घोटाला होता है तो उसके तार मामा से ही क्यों जुड़ जाते हैं। श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश की शिक्षा और उसके बाद भर्ती प्रक्रिया में जिस तरह शिवराज सरकार ने घोटाले और भ्रष्टाचार किए हैं उससे प्रदेश का युवा न केवल ठगा महसूस कर रहा है बल्कि वह अपने भविष्य को अंधकार में देख रहा है। सिंह ने कहा कि जांच एजेंसियों की साख दाव पर है वे मामा के वी.आई.पी. जैसे शब्दों की तह तक पहुंचे और असली चेहरे को सामने लाएं।
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान अपने शर्मनाक कार्यकाल के बाद किस बात की जन-आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं। क्या व्यापम और पी.एस.सी. जैसे घोटाले के बाद युवाओं से उन्हें आशीर्वाद चाहिए? क्या अपनी उपज का वाजिब मूल्य न मिलने और छाती पर गोली चलाकर हत्या करने वालों को माफ कर देने के लिए किसानों का आशीर्वाद चाहिए? क्या कर्ज के कारण 20 हजार किसानों ने आत्महत्या की उनके परिवारों से आशीर्वाद मांगने निकले? श्री सिंह ने कहा कि जो मुख्यमंत्री 14 साल तक गरीबों, किसानों को बिजली बिल न भरने पर आपराधिक प्रकरण दर्ज कर रहा हो उन्हें जेल में डाल रहा हो उनके सामान की कुरकी कर रहा हो वह मुख्यमंत्री 15 साल में चुनाव के 4 माह पहले गरीबों और किसानों का हितेषी कैसे बन सकता है। श्री सिंह ने कहा आज मध्यप्रदेश में एक धोखेबाज, ठग और हत्यारी सरकार है। इस सरकार ने प्रदेश के हर वर्ग से वादा खिलाफी की है। अब वक्त आ गया है कि इस सरकार को उखाड़ फेंके।
केरलवासियों की मदद के लिए आगे आएं, नेता प्रतिपक्षअजय सिंह की प्रदेशवासियों से अपील
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश के नागरिकों से अपील की है कि वे सदी की सबसे भीषण त्रासदी से जूझ रहे केरलवासियों की मदद के लिए आगे आएं। नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि भारत का एक राज्य केरल के रहवासी बाढ़ विभिषिका से जूझ रहे हैं। जब हमारे देश का एक राज्य संकट में हो तो हम सभी भारतवासियों का कर्तव्य है कि हम उनकी मदद के लिए आगे बढ़ें। इस विभिषिका से जूझते हुए हमारे देश के तीनों स्तर के सैनिक अपनी जान की बाजी लगाकर केरल वासियों की मदद कर रहे हैं। यह जज्बा हम सभी को प्रेरित करे हम सभी जिस स्तर पर भी हो मदद के लिए लिए आगे बढ़ें और अपनी जान और माल खो चुके लोगों की सहायता करें।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

मोदी सरकार के आर्थिक सुधार कार्यक्रमों के सुखद परिणाम अब नजर आने लगे हैं

नई दिल्ली 20 सितम्बर 2021 । वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के स्थापित …