मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बंगाल में अब शुरू होगा खेला होबे 2.0, बीजेपी की बैठक में नड्डा ने बताया प्लान

बंगाल में अब शुरू होगा खेला होबे 2.0, बीजेपी की बैठक में नड्डा ने बताया प्लान

नई दिल्ली 8 नवंबर 2021 । भारतीय जनता पार्टी भले ही बीते पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस से हार गई हो, मगर पार्टी का बंगाल पर से फोकस हटा नहीं है। अब 2024 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने ‘खेला होबे पार्ट-2’ का प्लान बना लिया है। भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं से बंगाल में मुस्तैद रहने को कहा है। बंगाल में 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अभूतपूर्व प्रदर्शन किया था और 42 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की थी। मिशन 2024 को ध्यान में रखते हुए भाजपा ने रविवार को राज्य में वोट शेयर में सुधार करने की कसम खाई। मई में विधानसभा चुनाव के बाद पार्टी का वोट शेयर 2019 से काफी कम हो गया है। विधानसभा चुनाव के बाद से टीएमसी में पलायन करने वाले भाजपा नेताओं और कैडरों की संख्या बढ़ी है और इस तरह से भगवा पार्टी अपने नेताओं को खोती जा रही है। रविवार को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भाग लेने वाले पार्टी के नेताओं ने स्वीकार किया कि राज्य पर लगातार ध्यान केंद्रित करने का उद्देश्य पार्टी से सत्तारूढ़ टीएमसी तक नेताओं के जाने के प्रवाह को रोकना है।

नड्डा के भाषण की विस्तृत जानकारी देते हुए पश्चिम बंगाल में भाजपा के उभार का उल्लेख करते हुए धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि राजनीति विज्ञान की दृष्टि से यदि कोई भाजपा के उभार का विश्लेषण करेगा तो पाएगा कि भारतीय राजनीतिक इतिहास में ऐसा बहुत कम हुआ है। प्रधान के मुताबिक नड्डा ने कहा, ‘लगभग 10 करोड़ वाले इस राज्य में भाजपा के प्रति जन आस्था में तीव्र विकास हुआ है। वर्ष 2016 के चुनाव में भाजपा का वोट प्रतिशत जहां नगण्य था, वहीं पिछले चुनाव में उसे 38 प्रतिशत के करीब मत मिले। पार्टी ने लोकसभा की 18 सीटें जीती और विधानसभा में 77 सीटें।’ नड्डा ने अपने संबोधन में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा के प्रदर्शन का विशेष उल्लेख किया और आरोप लगाया कि चुनाव बाद हिंसा में राज्य में पार्टी के 53 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई, जबकि एक लाख लोगों को विस्थापित होना पड़ा। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनावों में भाजपा प्रजातांत्रिक तरीके से लड़ाई लड़ेगी और अराजक तत्वों को जवाब देगी। रविवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अपने उद्घाटन भाषण में पार्टी प्रमुख जे पी नड्डा ने चुनाव खत्म होने के बाद से बंगाल में टीएमसी द्वारा अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हमले पर प्रकाश डाला और कहा कि पार्टी राज्य में हर कार्यकर्ता के साथ खड़ी होगी।

जेपी नड्डा ने कहा, ‘बंगाल की जनता के साथ भाजपा चट्टान की तरह खड़ी है। आने वाले समय में जब भी बंगाल में चुनाव होगा तब भाजपा प्रजातांत्रिक तरीके से बंगाल को बचाने के लिए, बंगाल में प्रजातंत्र और संविधान को बहाल करने के लिए अपनी लड़ाई लड़ेगी।’ उन्होंने कहा कि भाजपा का जहां लगातार विस्तार हो रहा है, वहीं उसके सामने अभी कुछ चुनौतियां भी हैं। बैठक में इनकी समीक्षा की गई और केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा ओर तेलंगाना में संगठन को ओर मजबूत बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘भाजपा का उत्कर्ष आना अभी बाकी है।’जेपी नड्डा ने कहा कि अगर कोई 2014 के विधानसभा चुनाव और 2016 के पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनावों में बीजेपी के वोट शेयर को देखता है, और उनकी तुलना 2019 के लोकसभा चुनाव और 2021 के विधानसभा चुनावों से करता है, तो यह राज्य में बीजेपी के लिए पर्याप्त ग्रोथ को दर्शाता है। अपने संबोधन में जेपी नड्डा ने टीएमसी पर भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा करने का आरोप लगाया और बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी को चेतावनी दी कि भाजपा चुपचाप नहीं बैठेगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

नयी दिल्ली 18 मई 2022 । कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात …