मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> मार्च के महीने में ओले गिरना कितना ख़तरनाक है?

मार्च के महीने में ओले गिरना कितना ख़तरनाक है?

नई दिल्ली 16 मार्च 2020 । दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई हिस्सों में मार्च के पहले 15 दिनों में रिकॉर्ड तोड़ बारिश और ओलावृष्टि हुई है.

भारत जहां एक ओर कोरोना वायरस की मार झेल रहा है. वहीं, दूसरी ओर इतनी तेज बारिश और ओला वृष्टि की वजह से भारत के किसानों और आम लोगों पर दोहरी मार पड़ी है.

बीबीसी ने किसानों, कृषि वैज्ञानिकों, मौसम वैज्ञानिकों और कई अन्य विशेषज्ञों से बात करके नीचे दिए गए सवालों के जवाब तलाशने की कोशिश की है.

ओले गिरने से किसानों को कितना नुकसान हुआ है?
मार्च के महीने में लगातार होती बारिश से सब्जियों और दूसरी फसलों के दामों पर क्या असर पड़ेगा?
क्या आने वाले दिनों में भी ऐसी ही मौसमी घटनाएं ज़ारी रह सकती हैं?
आंकड़ों की बात करें तो मार्च के महीने में पूरे उत्तर भारत में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है.

आफत बनी बारिश, फसलें तबाह, 25 मरे

बीते एक दो दिनों के दौरान एक के बाद एक आए पश्चिमी विक्षोभ ने उत्‍तर भारत के राज्यों में दुश्‍वारियां खड़ी कर दी हैं। मौसम विभाग की मानें तो कल यानी 14 मार्च को जम्‍मू-कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के अलग अलग इलाकों में गरज और चमक के साथ तेज हवा के साथ बारिश देखी जा सकती है। समाचार एजेंसी एएनआइ ने मौसम विभाग के हवाले से बताया है कि अगले 72 घंटों में उत्‍तराखंड के देहरादून, उधम सिंह नगर, हरिद्वार और नैनीताल में आंधी के साथ भारी बारिश और बर्फबारी हो सकती है। वहीं उत्‍तर प्रदेश के अलग अलग इलाकों में बिजली गिरने समेत बारिश से जुड़े हादसों में 25 लोगों की मौत हो गई है।

बारिश-ओलावृष्टि से फसलें खराब

बेमौसम हुई बारिश और ओलावृष्टि के चलते उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। किसानों और कृषि विशेषज्ञों की मानें तो ओलावृष्टि के कारण गेहूं की बालियां झड़ जाने से पैदावार प्रभावित होगी। वहीं, टमाटर व शिमला मिर्च की फसल को भी नुकसान हुआ है। करनाल स्थित केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे बरसात हो सकती है। जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि किसान बरसात का पानी खेतों में जमा ना होने दें। उत्तर प्रदेश में भी बारिश से रबी की फसल चौपट हो गईं और आम के बौर गिर गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 48 घंटे में लोगों को मदद पहुंचाने के निर्देश दिए हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अगले दो तीन दिन ऐसे ही आसार बने रहेंगे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

भस्मासुर बना तालिबान, अपने ही सुप्रीम लीडर अखुंदजादा का कत्ल; मुल्ला बरादर को बना लिया बंधक

नई दिल्ली 21 सितम्बर 2021 । अफगानिस्तान में सत्ता पाने के बाद आपस में खूनी …