मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> ‘मुझे किसी बात का अफसोस नहीं…’, सीएम योगी आदित्यनाथ ने रैपिड फायर में दिए जवाब

‘मुझे किसी बात का अफसोस नहीं…’, सीएम योगी आदित्यनाथ ने रैपिड फायर में दिए जवाब

नई दिल्ली 29 जून 2021 । देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में राजनीतिक हलचल लगातार बढ़ रही है. प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार सुर्खियों में हैं और एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी उनकी अगुवाई में चुनाव लड़ने की तैयारी में है. इस बीच एक इंटरव्यू में योगी आदित्यनाथ ने मौजूदा राजनीतिक हालातों पर जवाब दिए हैं.

इंटरव्यू में योगी आदित्यनाथ से सवाल किया गया कि आपको अगर कोई एक अफसोस रहे तो क्या होगा. जिसपर यूपी सीएम ने कहा कि हम लोग कभी अफसोस नहीं करते हैं, काम करने से पहले सोच-समझ कर कदम उठाते हैं, अफसोस होता तो क्या संन्यासी बनता.

एक अंग्रेजी अखबार के साथ बातचीत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कई मसलों पर बात की, इस दौरान उन्होंने रैपिड फायर राउंड में भी हिस्सा लिया जहां कई सवालों के जवाब उन्होंने दिए. यूपी सीएम से जब सवाल हुआ कि यूपी के बारे में उनकी पसंदीदा बात क्या है, तो योगी ने जवाब दिया कि उत्तर प्रदेश देश का ह्रदय स्थल है, यूपी के विकास के साथ देश का विकास जुड़ा है. किसी एक उपलब्धि पर जिसपर उन्हें गर्व है, इसपर यूपी सीएम ने बताया कि लोगों की सुरक्षा और समृद्धि पर हमारा फोकस है.

सबसे अच्छा रणनीतिकार कौन, विदुर-चाणक्य या अमित शाह?
इंटरव्यू के दौरान योगी आदित्यनाथ से सवाल किया गया कि वो एक बदलाव क्या है, जो इस कार्यकाल में नहीं हो पाया. यूपी सीएम ने जवाब दिया कि हर क्षेत्र में हमने काम किया है, लेकिन हर जगह सुधार की गुंजाइश रहती है.

भारत के सबसे अच्छे राजनीतिक रणनीतिकार कौन हैं, चाणक्य, विदुर या अमित शाह? इस सवाल पर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि तीनों के अपने-अपने समय हैं, महाभारत में विदुर जरूरी थे, बाद में चाणक्य जरूरी थे और आज के समय में अमित शाह भी जरूरी हैं. राहुल गांधी से क्या कहते विदुर?
जब सवाल हुआ कि विदुर होते तो राहुल गांधी को क्या सलाह देते, इसपर योगी आदित्यनाथ ने मुस्कुराते हुए कहा कि वो होते तो कहते कि आप आराम से बैठिए, यही कांग्रेस के हित में होता. वहीं, विदुर खुद योगी आदित्यनाथ को क्या कहते, इसपर यूपी सीएम ने कहा कि वो कहते कि आप अच्छा काम कर रहे हैं, अगले 25 साल यूपी में बीजेपी को काम करना चाहिए.

यूपी मॉडल या गुजरात मॉडल?
इंटरव्यू में योगी आदित्यनाथ से यूपी मॉडल और गुजरात मॉडल को लेकर सवाल हुआ, जिसपर यूपी सीएम ने कहा कि हम पीएम मोदी के विकास के मॉडल पर काम कर रहे हैं. योगी आदित्यनाथ क्या अलग करना चाहते हैं, इसपर उन्होंने कहा कि वह राजनीति में इसलिए आए हैं कि लोगों की भ्रांति को तोड़ सकें. एक संन्यासी भी सामाजिक जीवन में बदलाव ला सकता है.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से सवाल किया गया कि विपक्ष के किस व्यक्ति की वो तारीफ करेंगे, इसपर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज के वक्त में ऐसे चेहरे का अभाव है, लेकिन डॉ. राम मनोहर लोहिया को वह सबसे आगे देखते हैं. यूपी की राजनीति को लेकर उड़ रही अफवाहों को लेकर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये अफवाहें बार-बार उड़ती हैं, लेकिन इसपर हम ध्यान नहीं देते हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

महिला कांग्रेस नेता नूरी खान ने दिया इस्तीफा, कुछ घंटे बाद ले लिया वापस

उज्जैन 4 दिसंबर 2021 ।  महिला कांग्रेस की नेता नूरी खान के इस्तीफा देने से …