मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> पत्रकार की मौत के मामले में IAS अधिकारी गिरफ्तार

पत्रकार की मौत के मामले में IAS अधिकारी गिरफ्तार

नई दिल्ली 7 अगस्त 2019 । आएएएस अधिकारी की कार से कुचलकर मोटरसाइकिल सवार पत्रकार की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने आईएएस अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया है। उन पर नशे में गाड़ी चलाने का आरोप है। मामला केरल के तिरुवनंतपुरम का है। हादसा उस समय हुआ जब मलयालम अखबार ‘सिराज’ के ब्यूरो प्रमुख के.मोहम्मद बशीर (35 वर्ष) मोटरसाइकिल से घर लौट रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान आईएएस अधिकारी श्रीराम वेंकटरमन ने नशे में अपनी गाड़ी से पत्रकार की मोटरसाइकिल में टक्कर मार दी। हादसे में बशीर की मौके पर ही मौत हो गई और वेंकटरमन घायल हो गए। बशीर के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं।

आईएएस अधिकारी अमेरिका के हार्वर्ड विश्वविद्यालय में परास्नातक की डिग्री लेने के बाद हाल ही में राज्य लौटे हैं। वेंकटरमन को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 33 साल के अधिकारी को बृहस्पतिवार को राज्य मंत्रिमंडल ने सर्वेक्षण निदेशक नियुक्त किया था। बताया जाता है कि हादसे के दौरान वेंकटरमन हैदराबाद के एक क्लब में पार्टी के बाद लौट रहे थे। उनकी महिला मित्र दुबई स्थित कारोबारी की पत्नी और मॉडल वफा फिरोज भी घटना के समय कार में बैठी हुईं थीं। कार उन्हीं की थीं। वेंकटरमन को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

केरल यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट (केयूडब्ल्यूजे) ने मामले में दोषी के खिलाफ कार्रवाई के लिये उचित और निष्पक्ष जांच की मांग की है। परिवहन मंत्री एके शशिंद्रन ने कहा कि आईएएस अधिकारी को नियमों का सख्ती से पालन कर अन्य के लिये उदाहरण पेश करना चाहिए था। मोटर वाहन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अधिकारी का ड्राइविंग लाइसेंस रद्द किया जाएगा।

आईजीपी और तिरुवनंतपुरम शहर के पुलिस आयुक्त धीनेन्द्र कश्यप ने बताया कि अधिकारी पर गैरजमानती अपराध का मामला दर्ज किया है और इसमें उन्हें 10 साल तक की जेल की सजा हो सकती है। वहीं, केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कहा कि उनकी सरकार बशीर की मौत के जिम्मेदार लोगों को सजा दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी। साल 2013 की लोक सेवा परीक्षा में दूसरी रैंक हासिल करने वाले वेंकटरमन उस समय सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने इडुक्की जिले के पर्वतीय स्थल मुन्नार में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की थी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Skepticism And Vaccine Hesitancy For Precaution dose Among People : Dr Purohit

Bhopal 28.01.2022. Advisor for National Immunisation Programme Dr Naresh Purohit said that there exists vaccine …