मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बीजेपी अगर रही बहुमत से दूर, तो ये 2 विपक्षी पार्टियां करेंगी 272 का आंकड़ा पूर्ण

बीजेपी अगर रही बहुमत से दूर, तो ये 2 विपक्षी पार्टियां करेंगी 272 का आंकड़ा पूर्ण

नई दिल्ली 20 मई 2019 । इस बार के लोकसभा चुनाव 2014 की तरह एकतरफा नहीं होने वाले हैं. इसकी दो वजह हैं. पहली तो मोदी लहर का फीका पड़ना और दूसरी अखिलेश-मायावती के यूपी में गठबंधन के साथ-साथ कांग्रेस का मजबूत होना. ऐसे में माना जा रहा है कि अगर बीजेपी को बहुमत न मिला तो पीएम की कुर्सी को वापस पाना नरेंद्र मोदी के लिए मुश्किल हो सकता है.

चुनाव परिणाम को लेकर राजनीतिक विश्लेषकों की अलग-अलग राय है. कई लोग ये भी मानते हैं कि इस बार बीजेपी बहुमत से दूर रह सकती है. यही वजह है कि विपक्षी एकता की कवायद जोरों पर है. ऐसे में अगर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी को बहुमत प्राप्त नहीं होता है तो सरकार बनाने के लिए भाजपा को इन 2 दलों के साथ की सबसे ज्यादा जरूरत होगी.

1.बीजू जनता दल-

नवीन पटनायक के नेतृत्व वाली बीजू जनता दल वर्तमान समय में कांग्रेस व भाजपा से बराबर दूरी बनाए हुए है. इससे पहले बीजू जनता दल कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों के साथ गठबंधन कर चुकी है. उड़ीसा में बीजू जनता दल और भाजपा एक-दूसरे के विरोध में लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन राजनीतिक विश्लेषकों का यह मानना है कि भाजपा को पूर्ण बहुमत ना मिलने की स्थिति में बीजू जनता दल एनडीए गठबंधन में आ सकता है.

2.वाईएसआर कांग्रेस-

जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के रुख पर भी सबकी नजर है. आंध्र प्रदेश में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी और जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है. चुनाव परिणाम के बाद टीडीपी का कांग्रेस के साथ जाना लगभग तय है. जगन मोहन रेड्डी और कांग्रेस के बीच संबंध अच्छे नहीं है. ऐसे में भाजपा को पूर्ण बहुमत ना मिलने पर जगन मोहन रेड्डी कुछ शर्तों को आगे रखकर एनडीए गठबंधन में शामिल हो सकते हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …