मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> अगर हर घर को पानी नहीं दे पाया तो नहीं लड़ूंगा चुनाव

अगर हर घर को पानी नहीं दे पाया तो नहीं लड़ूंगा चुनाव

नई दिल्ली 3 सितम्बर 2018 । तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने समय से पहले विधानसभा भंग करने की अटकलों को खारिज कर दिया है. राव ने रविवार को हैदराबाद के बाहर इब्राहिमपटनम में एक बड़ी रैली को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि लोक कल्याण को ध्यान में रखते हुए वह सही समय पर सही फैसला लेंगे.

केसीआर ने कहा, ‘मैं वादा करता हूं कि अगर चुनाव से पहले मैं मिशन भागीरथ के जरिये हर घर को पानी मुहैया नहीं करा पाया तो मैं चुनाव नहीं लडूंगा. इस देश में कोई भी मुख्यमंत्री इस तरह की बात करने की हिम्मत नहीं दिखाएगा.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ मीडिया चैनल अटकलेंबाजी कर रहे हैं कि केसीआर सरकार भंग कर देंगे. लेकिन टीआरएस के सदस्यों ने तेलंगाना के भविष्य पर फैसला करने के लिए मुझे एक मौका दिया है. मैं आपको बताना चाहता हूं कि मैं जब कोई निर्णय लूंगा तो बता दूंगा. उन्होंने यह भी कहा कि अगले चुनाव के लिए घोषणा पत्र तैयार करने के लिए एक समिति गठित की है जिसकी अध्यक्षता राज्यसभा सदस्य के केशव राव करेंगे.

बहरहाल रैली को संबोधित करते हुए केसीआर ने अपनी उपलब्धियों को गिनाया. उन्होंने कहा, ‘हमने चुनावों के समय जो घोषणा पत्र जारी किया था, उससे ज्यादा काम किया है और 76 अतिरिक्त कल्याणकारी योजनाएं शुरू की है.’ केसीआर ने कहा कि किसानों के लिए बीमा की शुरुआत की गई है. 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है. त्यौहार के समय गरीब परिवारों को कपड़े दिए जा रहे हैं. बच्चों को स्कूल ड्रेस दी जा रही है.

टीआरएस की इस भव्य रैली से पहले तेलंगाना कैबिनेट की बैठक हुई जिसमें विधानसभा भंग करने की चर्चा को लेकर कोई कुछ भी कहने को तैयार नहीं है. हालांकि ऐसी संभावना जताई जा रही थी कि टीआरएस प्रमुख केसीआर अपनी घोषणा से विपक्ष को चकित कर सकते हैं. रंगारेड्डी जिले के अंतर्गत आने वाला इब्राहिमपटनम इलाका राजधानी हैदराबाद से 25 किमी की दूरी पर है. संभावना जताई जा रही थी कि वह विधानसभा भंग करने की घोषणा भी कर सकते हैं, ताकि इस साल के अंत में होने वाले चार राज्यों के विधानसभा चुनाव के साथ तेलंगाना के भी चुनाव कराए जा सकें.

बता दें कि अगस्त में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने दो दिवसीय तेलंगाना प्रवास के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को आगामी लोकसभा और तेलंगाना विधानसभा चुनावों के लिए जी जान से जुट जाने का संदेश दे चुके हैं. तेलंगाना दौरे के दौरान राहुल ने कुछ स्वयं सहायता समूहों, उद्योगपतियों और छात्रों से मिलने के साथ सेरी-लिंगमपल्ली में एक जनसभा को भी संबोधित किया जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री केसीआर पर परिवारवाद का आरोप लगाते हुए तीखा हमला बोला था.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमित शाह के बयान पर नीतीश कुमार का तंज, बोले- इतिहास कोई कैसे बदल सकता है

नयी दिल्ली 14 जून 2022 । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी सहयोगी पार्टी बीजेपी …