मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बच्चे के गले में फंसी कील, महाराष्ट्र में एक लाख का खर्च बताया, सूरत में 60 रुपए में निकाल दी

बच्चे के गले में फंसी कील, महाराष्ट्र में एक लाख का खर्च बताया, सूरत में 60 रुपए में निकाल दी

सूरत. 12 अप्रैल 2019 । महाराष्ट्र के एक परिवार के 4 साल के प्रथमेश के गले में कील फंस गई थी। वहां डॉक्टरों ने कील निकालने का खर्च एक लाख रुपए बताया। आखिर में इस बच्चे को सूरत के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टर्स ने दूरबीन पद्धति से कील निकाल दी। खर्च आया केवल 60 रुपए। कील निकालने में समय लगा केवल 3 मिनट।

गले में फंस गई थी कील
महाराष्ट्र के जलगांव जिले के पारोला तहसील के देवगांव में रहने वाले प्रवीण भाई पटेल खेती करते हैं। 15 दिन पहले उनका चार वर्षीय बेटा प्रथमेश खेलते-खेलते लोहे की कील निगल गया। तीन-चार दिनों तक उसे खांसी आती रही। जब खांसी बंद नहीं हुई, तो उसे डॉक्टर को दिखाया गया। डॉक्टर ने बच्चे के गले का एक्स रे लिया। जिससे पता चला कि गले में कील फंसी हुई है। इसके बाद महाराष्ट्र के कई डॉक्टर्स को दिखाया गया, सभी ने खर्च का लम्बा-चौड़ा हिसाब बताया। कई डॉक्टर्स तो एक लाख रुपए मांगने लगे। प्रवीण भाई की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण वे इतने अधिक खर्च के लिए तैयार नहीं थे।

बुआ ने बुलाया
इसकी जानकारी जब पांडेसरा में रहने वाली प्रथमेश की बुआ को हुई, तो उसने प्रथमेश के पिता को सूरत बुलाया। बुआ उसे सूरत के सिविल अस्पताल में ले गई। जहां उसे इएनटी विभाग में दिखाया गया। वहां उसका फिर से एक्स रे लिया गया। जब पूरी तरह से साफ हो गया कि गले में फंसी कील ही है, तो दूरबीन पद्धति से कील निकाल दी गई। इसे निकालने में केवल 3 मिनट लगे। इस तरह से 10 रुपए में केस पेपर बना और एक्स रे के 50 रुपए लगे। कुल 60 रुपए में प्रथमेश के गले में फंसी कील निकाल ली गई। इस काम में डॉ. जयमीन कांट्रेक्टर, डॉ. भाविक पटेल और डॉ. राहुल पटेल की टीम का कार्य सराहनीय रहा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- ‘कांग्रेस न सदन चलने देती है और न चर्चा होने देती’

नई दिल्ली 27 जुलाई 2021 । संसद शुरू होने से पहले भाजपा संसदीय दल की …