मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> उत्तरप्रदेश >> मुलायम और अखिलेश की मौजूदगी में हुड़दंग पर उतर आए सपा समर्थक

मुलायम और अखिलेश की मौजूदगी में हुड़दंग पर उतर आए सपा समर्थक

नयी दिल्ली 17 फरवरी 2022 । मैनपुरी की करहल सीट (Karhal) पर गुरुवार को सियासी हलचल चरम पर थी। एक तरफ समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और इस सीट से प्रत्याशी अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने पिता मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) यादव के साथ रैली की तो दूसरी तरफ बीजेपी उम्मीदवार एसपी सिंह बघेल के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने प्रचार किया। लंबे समय पर चुनावी रैली में नजर आए मुलायम सिंह यादव को सुनने के लिए बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी के समर्थक उमड़े। अपने पुराने और प्रिय नेता को सामने देखकर समर्थक जोश में होश भी खो बैठे और हुड़दंग पर उतारू हो गए। समर्थक सुरक्षा घेरा तोड़कर मंच के बेहद करीब आ गए। करहल में मुलायम सिंह यादव को सुनने के लिए बड़ी संख्या में समर्थक जुटे थे। खुद मुलायम भी भीड़ को देखकर गदगद हुए। उन्होंने भाषण के दौरान कई बार इस बात का जिक्र किया कि बड़ी उम्मीदों के साथ नौजवान पार्टी का साथ दे रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इतनी भीड़ की उम्मीद नहीं थी। मुलायम का भाषण खत्म होने के कुछ देर बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का हेलिकॉप्टर लैंड हुआ। मंच पर पहुंचते ही अखिलेश ने पिता का आशीर्वाद लिया और फिर माइक संभाल लिया। उन्होंने करहल से मुलायम के रिश्तों की याद दिलाते हुए जनता से वोट की गुजारिश की और योगी सरकार पर हमले किए। अखिलेश का भाषण चल ही रहा था कि सपा समर्थक बेकाबू हो गए और सुरक्षा घेरा तोड़कर मंच के बेहद करीब आ गए। एक दूसरे को धक्का देते हुए स्थिति भीड़ कभी इधर डोलती तो कभी उधर। मंच पर और उसके नीचे मौजूद सुरक्षाकर्मियों के पसीने छूटने लगे। अखिलेश के पीछे खड़े सुरक्षा अधिकारी के चेहरे पर चिंता की लकीरें साफ दिख रही थीं। उन्होंने अखिलेश को एक पर्चा भी दिया। माना जा रहा है कि संभवत: सपा अध्यक्ष को जल्दी भाषण पूरा करने की सलाह दी गई होगी। खुद मुलायम सिंह यादव समर्थकों से इशारा करते हुए पीछे हटने की अपील करते रहे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …