मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> भारत के लिए चाैथा गोल्ड जीतकर शूटर राही सरनोबत ने रचा इतिहास

भारत के लिए चाैथा गोल्ड जीतकर शूटर राही सरनोबत ने रचा इतिहास

पालेमबांग 23 अगस्त 2018 । राही सरनोबत एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली आज पहली भारतीय महिला निशानेबाज बन गई। उन्होंने यहां महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में दो बार शूट ऑफ से गुजरने के बाद यह उपलब्धि हासिल की। इस 27 वर्षीय निशानेबाज ने जकाबारिंग शूटिंग रेंज में खेलों के नये रिकार्ड के साथ सोने का तमगा जीता।

राही और थाईलैंड की नपासवान यांगपैबून दोनों का स्कोर समान 34 होने पर शूट ऑफ का सहारा लिया गया। पहले शूट ऑफ में राही और यांगपैबून ने पांच में से चार शाट लगाये। इसके बाद दूसरा शूट ऑफ हुआ जिसमें भारतीय निशानेबाज जीत दर्ज करने में सफल रही। युवा मनु भाकर को हालांकि फाइनल में निराशा झेलनी पड़ी। उन्होंने क्वालीफिकेशन में 593 के रिकार्ड स्कोर के साथ फाइनल में जगह बनायी थी। लेकिन यह 16 वर्षीय निशानेबाज आखिर में छठे स्थान पर रही।

कॉमनवेल्थ गेम्स 2014 में भी जीता था गोल्ड
30 अक्टूबर 1990 को महाराष्ट्र के कोल्हापुर में जन्मी राही सरनोबत इससे पहले आईएसएसएफ विश्व कप की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में जीतकर चर्चा में आई थी। 2013 में हुए इन मुकाबलों के दौरान फाइनल में राही ने कोरिया के चांगवान में चल रहे विश्व कप के दौरान स्थानीय निशानेबाज केयोंगे किम को 8-6 से हराकर स्वर्ण पदक जीता था। वह विश्व कप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय पिस्टल निशानेबाज भी हैं। राही ने इससे पहले अमरीका में हुए 2011 आईएसएसएफ विश्व कप में कांस्य पदक जीता था। कॉमनवेल्थ 2010 में एक गोल्ड और एक सिल्वर मेडल जीतने वालीं राही ने आईएसएसएफ वल्र्ड कप, 2011 में ब्रॉन्ज जीतकर ओलिंपिक का टिकट लिया था। 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स के 25 मीटर एयर पिस्टल में राही सरनोबत ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल जीता।

भारत ने हांगकांग पर दर्ज की ऐतिहासिक जीत

एशियन गेम्स में आज भारतीय हॉकी टीम ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए हांग कांग को 26-0 से मात दी। इस जीत के साथ भारत ने स्वर्ण पदक की उम्मीद को और पुख्ता और जागरुक कर दिया। भारतीय हॉकी इतिहास में ये सबसे बड़ी जीत है। आपको बता दें कि इस मैच में भारत की तरफ से 14 खिलाड़ियों ने गोल दागे थे।

अच्छी लय में नजर आ रही है भारतीय टीम
भारतीय टीम का पहला मुकाबला इंडोनेशिया के साथ हुआ था। इस मैच में टीम ने मेजबान इंडोनेशिया को 17-0 से मात दी थी। वहीं भारतीयी टीम के 9 खिलाड़ियों ने इस मैच में गोल दागे थे।

इससे पहले भारत के साल 1932 में लॉस एंजेलिस में हुए ओलंपिक गेम्स में अमेरिका पर 24-1 से जीत हासिल की थी। भारत को इतनी बड़ी जीत 86 साल बाद मिली है।

महिला हॉकी ने भी दिखाया जलवा
इससे पहले मंगलवार को महिला हॉकी मैच में टीम इंडिया ने कजाकिस्तान को 21-0 से रौंदा था। भारतीय टीम की तरफ से गुरजीत कौर, लालरेमसियामी, नवनीत कौर और वंदना कटारिया की शानदार हैट्रिकों से भारतीय महिला हॉकी टीम ने 18वें एशियाई खेलों की हॉकी प्रतियोगिता में अपने विजय अभियान को आगे बढ़ाते हुए कजाखिस्तान को 21-0 से रौंद कर अपनी लगातार दूसरी जीत दर्ज की। स्वर्ण पदक और टोक्यो ओलिम्पिक का सीधा टिकट हासिल करने के इरादे से खेल रही भारतीय टीम ने लगातार दूसरे मैच में गोलों की बारिश की।

एथलीट के साथ अफेयर की खबर से दुखी हुईं विनेश फोगाट

एशियन गेम्स में गोल्ड जीत विनेश फोगाट ने देश का नाम रोशन किया है. अभी विनेश अच्छे से जीत का जश्न भी नहीं मना पाई थी कि एक अखबार में छपी खबर ने उन्हें बुरी तरह आहत कर दिया. मजबूरन विनेश को ट्वीट कर इसका खंडन करना पड़ा. दरअसल अखबार ने एक खबर लगाई थी जिसकी हेडिंग थी, ‘नीरज और विनेश के बीच बढ़ रही नजदीकियां.’

अखबार की इस कटिंग को शेयर करते हुए विनेश ने एक ट्वीट कर इस खबर का खंडन किया. विनेश ने लिखा, ‘मेरे और नीरज सहित बाकी सभी भारतीय एथलीट एक दूसरे को सपोर्ट करते हैं ताकि देश को गर्व महसूस करा सकें. लेकिन दुख तब होता है जब देश का सम्मान और गौरव बढ़ाने वाले एथलीट की गलत तस्वीर पेश की जाती है.’

वहीं विनेश ने इंस्टाग्राम पर पहलवान सोमवीर राठी के साथ एक फोटो शेयर की है. इंस्टाग्राम में डाली इस पोस्ट में विनेश ने लिखा है कि ये मेरे द्वारा लिया गया अभी तक का सबसे अच्छा निर्णय है. मुझे इस बात की खुशी है कि तुमने मुझे जीवन के लिए चुना है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पिता को 3 साल बाद पता चला कि बेटी SI नहीं है, नकली वर्दी पहनती है

जबलपुर 20 अप्रैल 2021 । मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले के एक पिता ने कटनी एसपी …