मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> अब भारत का साथ देने आ गया सबसे सच्चा दोस्त रूस

अब भारत का साथ देने आ गया सबसे सच्चा दोस्त रूस

नई दिल्ली 1 मार्च 2019 । भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चल रहा है। इस तनाव को घटाने के कोशिश लगातार जारी है और पूरी दुनिया इस प्रयास में लगी है कैसे भी दोनों देशों के रिश्ते बेहतर हो जाएं। हालांकि भारत ने अपनी स्थिति पहले ही साफ कर रखी है कि उसकी जंग किसी देश के खिलाफ न होकर आतंकवाद के खिलाफ है। अब भारत के लिए एक बड़ी खुशखबरी आ गई है। भारत का साथ देने उसका सबसे सच्चा दोस्त रूस आ गया है। एक दोस्त की तरह ही रूस ने बड़ा ऐलान कर दिया है।

हमेशा से सच्चे रहे हैं दोनों देशों के संबंध
भारत और रूस के रिश्तों की बात करें तो वो हमेशा से ही सच्चे रहे हैं। दोनों देशों के रिश्ते कभी भी सौदेबाजी के नहीं रहे। बल्कि हर संकट की घड़ी में हिन्दुस्तान को रूस का साथ मिलता रहा है। इस बात को पूरी दुनिया जानती है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन हमेशा भारत की तरफदारी ही करते हैं।

सुषमा स्वराज से साथ देने का किया वादा
एयर स्ट्राइक के अगले ही दिन बुधवार को सुषमा स्वराज चीन गई थीं जहां उनको अन्तरराष्ट्रीय बैठक में भाग लेना था। यहां पर सुषमा स्वराज ने भारत का हाल दूसरे देशों को बताया और कहा कि उनकी लड़ाई आतंकवाद को लेकर है। इसके बाद रूस ने भारत को साथ देने का वादा कर दिया। रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने आतंकवाद के खात्मे पर मिलकर लड़ने का भरोसा जताया।

भारत-पाक तनाव के बीच रूस का बड़ा ऐलान
भारत का सच्चा हमदर्द देश पाकिस्तान के साथ तनाव देखकर चिंता में आ गया है। इसी वजह से रूस ने भारत के सामने बड़ी पेशकश कर दी। व्लादिमिर पुतिन के प्रेस सचिव ने बड़ा ऐलान कर दिया कि वो पूरे घटनाक्रम पर नजर रख रहे हैं। इसके साथ ही रूस ने बड़ा ऐलान कर दिया कि वो इस तनाव को खत्म करने के लिए मध्यस्तता तक करने को तैयार हैं। रूस का कहना है कि इस समस्या का हल निकलना चाहिए।

इमरान खान बोले- सता रहा था भारत के मिसाइल अटैक का डर
भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे तनाव का असर पाकिस्तान पर साफ़ दिखाई दे रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाक संसद को संबोधित करते हुए कहा कि, ‘हमें डर था कि पाकिस्तान की कार्रवाई के बाद भारत कहीं मिसाइल हमला ना कर दे इसलिए पूरा देश अलर्ट पर रखा गया था. हवाई सेवाएं रोक दी थी और सेना को किसी भी कार्रवाई के लिए तैयार रहने कहा था.’

इमरान खान ने कहा कि भारतीय एक्शन से हम खुश नहीं थे. जैसे वो हमारे सीमा में घुसे उसी तरह हम भी भारतीय सीमा में अंदर आए. उनके दो विमान भी हमने मार गिराए. लेकिन हम शांति चाहते हैं. हम केवल यह दिखाना चाहते थे कि हम भी हमला कर सकते हैं. भारत ने आज पाकिस्तान को जैश-ए-मोहम्मद पर डोजियर सौंपा है. यदि भारत हमले के पहले डोजियर देता तो हम कार्रवाई करते, लेकिन उन्होंने डोजियर देने से पहले ही हम पर हमला कर दिया.

उन्होंने आगे कहा कि हम कोई लड़ाई नहीं चाहते हैं और इसके लिए मैंने कल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बात करने की कोशिश की है. लेकिन हम जो ये कोशिश कर रहे हैं, उसे कमजोरी न समझा जाए. पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायु सेना द्वारा की गई बमबारी के जवाब में बुधवार सुबह पाकिस्तानी विमान भी भारतीय सीमा में घुस आए थे और नौशेरा सेक्टर में बमबारी की. इसके जवाब में भारतीय विमानों ने पाकिस्तान के विमानों को खदेड़ दिया और उनका एक F 16 लड़ाकू विमान भी मार गिराया. लेकिन दुर्भाग्यवश भारत का एक मिग विमान पाकिस्तानी सीमा में क्रैश हो गया और पायलट अभिनंदन वर्तमान को गिरफ्तार कर लिया गया.

इस घटना के बाद भारत ने कोई जवाबी कार्रवाई नहीं की. लेकिन प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, तीनों सेनाओं के प्रमुख और एनएसए की लम्बी बैठक चली जो पाकिस्तान के लिए चिंता बन गई. पूरा पाकिस्तान अलर्ट पर था. यहां तक कि इमरान खान ने यह भी कहा कि उन्हें डर था कि भारत मिसाइल हमला ना कर दे.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …