मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कोरोना से लड़ाई पर भारत को किया सलाम

कोरोना से लड़ाई पर भारत को किया सलाम

नई दिल्ली 20 अप्रैल 2020 । कोरोना वायरस महामारी से जब पूरी दुनिया जुझ रही है, उसी समय भारत ने इस महामारी से लड़ने के लिए एक नई राह दुनिया को दिखाई है। तमाम देश कई तरह के कदम उठा रहे हैं, लेकिन वे नाकाम साबित हो रहे हैं, पर भारत सरकार के फैसलों की दुनियाभर में तारीफ हो रही है। भारत की इस सफलता को समर्पित करते हुए स्विस आल्प्स के मैटरहॉर्न पर्वत को भारतीय तिरंगे का रंग दिया गया। इसके जरिए कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ भारत के प्रयासों से दुनियाभर में जगी उम्मीद और जज्बे को सलाम किया गया है।

दरअसल भारत की जनसंख्या काफी ज्यादा है और इस लिहाज से यहां की सरकारों द्वारा उठाए गए कदमों के कारण यहां कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति काफी नियंत्रित है। अन्य देशों से तुलना की जाए तो जनसंख्या के अनुपात में भारत के संक्रमितों की संख्या लाखों में होना थी, लेकिन फिलहाल ये 17 हजार के आसपास है। ऐसे में भारत के प्रयासों की दुनियाभर में तारीफ हो रही है।

ट्विटर पर छाया तिरंगा

स्विटजरलैंड के मशहूर लाइट आर्टिस्ट गेरी हॉफस्टेटर ने 14690 फीट ऊंचे मैटरहॉर्न पहाड़ को भारतीय तिरंगे के रंग में रोशनी से भर दिया। स्विटजरलैंड में भारतीय एंबेसी और भारतीय विदेश सेवा अधिकारी गुरलीन कौर ने इसकी तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल से शेयर की है। भारतीय एंंबेसी की ओर से लिखा गया – करीब 1000 मीटर से बड़े आकार का भारतीय तिरंगा स्विटजरलैंड के जरमैट में मैटरहार्न पर्वत पर प्रदर्शित हुआ। ये कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सभी भारतीयों के साथ एकजुटता के लिए है। इस भावना के लिए धन्यवाद।

पीएम मोदी ने भी दी प्रतिक्रिया

उधर इस पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सभी का धन्यवाद माना है। उन्होंने इस तस्वीर को रीट्वीट करते हुए लिखा – दुनिया कोविड19 के खिलाफ एकजुट होकर लड़ रही है.. महामारी पर निश्चित रूप से मानवता की जीत होगी। 14.2 हज़ार लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

गौरतलब है कि इस पर्वत पर बीते 24 मार्च से ही कोरोना महामारी के खिलाफ दुनिया की एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए हर दिन अलग-अलग देशों के झंडों के रंगों को दर्शाती रोशनी की जा रही है। बुधवार को यहां स्विटजरलैंड, अमेरिका, ब्रिटेन, इटली और स्विस क्षेत्र टिसिनो के झंडों के रंगों वाली रोशनी की गई थी।
आर्टिस्ट गैरी ने कही ये बात

लाइट आर्टिस्ट गैरी हॉफस्टेटर का कहना है कि प्रकाश को हमेशा उम्मीद का संकेत माना जाता है और ऐसे समय में जब दुनिया कोरोना जैसे संकट का सामना कर रही है, ऐसे में तमाम देश पूरे जज्बे के साथ इसका सामना कर रहे हैं। इस प्रयास को सलाम करने के लिए ऐसा किया गया है। हम ये संदेश देना चाहते हैं कि पूरी दुनिया एकजुट होकर इस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है। हमें उम्मीद हैं कि हम कामयाब होंगे।

बता दें कि स्विट्जरलैंड भी कोरोना महामारी से बेहद प्रभावित देशों में शामिल हैं। यहां अब तक 18 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 430 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत की तर्ज पर यहां भी देशव्यापी लॉकडाउन लागू कर स्थिति को नियंत्रित किया गया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमेरिका के आगे झुका पाकिस्तान, अफगानिस्तान में हमलों के लिए देगा एयरस्पेस

नई दिल्ली 23 अक्टूबर 2021 । जो बाइडेन प्रशासन ने कहा है कि अमेरिका अफगानिस्तान …