मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> रंग लाया भारत का प्रयास, चीन में भारतीय अंगूर का निर्यात बढ़कर दोगुना

रंग लाया भारत का प्रयास, चीन में भारतीय अंगूर का निर्यात बढ़कर दोगुना

बीजिंग 28 नवम्बर 2018 । चीन में भारतीय अंगूर का निर्यात बढ़ाने के भारत का प्रयास रंग ला रहा है. चीनी आयातकों का समूह इसी सिलसिले में भारत की यात्रा पर आया है. भारतीय अंगूर का निर्यात 2017 में करीब दोगुना होकर 67 लाख डॉलर तक पहुंच गया. 2016 में निर्यात 35 लाख डॉलर का था. पिछले वर्ष चीन में भारतीय अंगूर के निर्यात में 50 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी लेकिन इस वर्ष चीन के आयतक सीधा संपर्क बनाए हुए हैं.

भारतीय दूतावास ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि हालांकि चीन में आयातित अंगूर का यह केवल एक प्रतिशत है. चीन में करीब 63 करोड़ डॉलर मूल्य का अंगूर आयात होता है. भारत के कुल 30 करोड़ डॉलर के फल निर्यात में इसकी हिस्सेदारी केवल 2 प्रतिशत है.

बड़े बाजार में पैठ बढ़ाने के मकसद से बीजिंग में भारतीय दूतावास तथा गुआनझाऊ और शंघाई में वाणिज्य दूतावास ने चीन में भारतीय अंगूर को लोकप्रिय बनाने के लिए प्रयास किए हैं. इन प्रयासों में भारत सरकार के वाणिज्य विभाग के अंतर्गत आने वाला कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) के समर्थन से खरीदार-बिक्रेताओं की मंबई में बैठक शामिल है.

बयान के अनुसार चीन से करीब 23 आयातक तथा 100 से अधिक भारतीय निर्यातक बैठक में शामिल हुए. इस दौरान निर्यातकों ने उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई. एपीडा चीनी निर्यातकों को नासिक भी ले जाएगा. नासिक को अंगूर की राजधानी माना जाता है और देश में कुल अंगूर निर्यात इसकी करीब आधी हिस्सेदारी है. 2020 तक निर्यात में 200 फीसदी की बढ़ोतरी होने की संभावना है.

एपीडा के चेयरमैन प्रबन के बोर्थकुमार का कहना है, “हमने चीन की सरकार के अधिकारियों के साथ कई दौर की बैठक की थी जिसके बाद उन्होंने नासिक आने पर सहमति जताई. चीन से 19 कंपनियों के 25 प्रतिनिधियों ने बैठक में हिस्सा लिया है. दुनियाभर की करीब 54 कंपनियों के 100 से अधिक प्रतिनिधियों ने सहभागिता की.”

मजेदार बात यह है कि चीन की फाइटो-सैनिटरी एजेंसी ने भारत के रजिस्टर्ड पैकेजहाउस और अंगूर का बगीचों की सूची मांगी है ताकि अंगूर निर्यातकों को अप्रूवल दे सके. वर्तमान में चीन, इटली, फ्रांस, स्पेन, अमेरिका और तुर्की से बड़ी मात्रा में अंगूर का आयात करता है. 77 मिलियन टन उप्तादन के साथ भारत का अंगूर के उप्तादन में विश्व में पांचवा स्थान है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …