मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> इंदौर फिर बना देश में सबसे स्वच्छ शहर

इंदौर फिर बना देश में सबसे स्वच्छ शहर

इंदौर 8 मार्च 2019 । केंद्र सरकार के शहरी विकास मंत्रालय द्वारा कराए गए स्वच्छता सर्वेक्षण में एक बार फिर इंदौर सिरमौर बन गया है। लगातार तीसरे वर्ष इंदौर को देश का सबसे स्वच्छ शहर होने का गौरव हासिल हुआ है। इसके साथ ही इंदौर ने हैट्रिक लगा दी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इंदौर को यह अवार्ड सौंपा।

: केंद्र सरकार द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणामों की घोषणा के लिए आज का दिन निश्चित किया गया था। आज सुबह 10:00 बजे से राष्ट्रपति भवन में इन परिणामों की घोषणा और पुरस्कारों के वितरण के लिए समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह में भाग लेने के लिए मध्यप्रदेश से इंदौर, भोपाल और उज्जैन के महापौर निगम आयुक्त और नेता प्रतिपक्ष को दिल्ली बुलवा लिया गया था । इन सभी के दिल्ली पहुंच जाने के बाद कल इस कार्यक्रम की रिहर्सल हुई थी।

उसके पश्चात आज सुबह कार्यक्रम शुरू होने के 1 घंटा पूर्व एक बार फिर रिहर्सल हुई। इस रिहर्सल में इन सभी को बता दिया गया कि कार्यक्रम के दौरान परिणामों की घोषणा होगी और विजेता शहरों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा अलंकृत किया जाएगा। इस कार्यक्रम में जैसे ही इंदौर को नंबर एक का अवार्ड देने का ऐलान किया गया वैसे ही मध्यप्रदेश के नगरी प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह प्रमुख सचिव संजय दुबे महापौर मालिनी गौड़ आयुक्त आशीष सिंह और नेता प्रतिपक्ष फोजिया शेख अली अवॉर्ड लेने के लिए मंच पर पहुंचे। इन्हें राष्ट्रपति कोविंद के द्वारा अवार्ड देकर अलंकृत किया गया।

: केंद्र सरकार द्वारा अपनी टीम भेजकर इस वर्ष देश के 4237 शहरों में स्वच्छता की स्थिति का सर्वेक्षण कराया गया था। इसमें से टॉप टेन शहरों का चयन किया जाना है। इस सर्वे के आधार पर सभी शहरों को 5000 अंकों में से अंक दिए गए थे। इस सर्वेक्षण के लिए केंद्र सरकार की टीम जनवरी में इंदौर पहुंची थी। इस टीम के द्वारा 1 सप्ताह तक इंदौर में रुक कर सर्वेक्षण का कार्य किया गया था।

पिछले 2 वर्षों से इस सर्वेक्षण में लगातार नंबर 1 आने के कारण इस बार इंदौर की ओर से फिर से नंबर 1 आकर हैट्रिक लगाने की कोशिश की गई। निगम की यह कोशिश सफल रही ।लगातार तीसरे वर्ष देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर को चुना गया है। इसके साथ ही इंदौर में अपनी हैट्रिक भी लगा दी है।

सैयदना के कार्यक्रम को अवार्ड:
आज के दिल्ली के कार्यक्रम में इंदौर को एक साथ तीन अवार्ड मिले हैं। एक तो स्वच्छता सर्वेक्षण का अवार्ड है । दूसरा फाइव स्टार रेटिंग का अवॉर्ड है। इसके अलावा तीसरा अवार्ड इंदौर को इनोवेटिव श्रेणी में इंदौर में आयोजित सैयदना साहब के वाइस के कार्यक्रम के दौरान गार वेज फ्री आयोजन के लिए मिला है।

 उज्जैन शहर देश में सबसे स्वच्छ शहर घोषित

3 से 10 लाख की आबादी वाले शहर की रैंकिंग में उज्जैन शहर देश में सबसे स्वच्छ शहर घोषित। देश में ओवर ऑल रैंकिंग में इंदौर टॉप, अहमदाबाद द्वितीय और उज्जैन तीसरे नंबर पर। दिल्ली में राष्ट्रपति से महापोर और निगमायुक्त ने पुरस्कार प्राप्त किया। इसके अलावा स्वच्छता इनोवेशन व बेहतर सेवाओं में 3 नेशनल अवॉर्ड भी मिले।

शहर की सुंदरता को सर्वेक्षण टीम ने सराहा
प्रमुख मंदिरों से रोज निकलने वाले निर्माल्य से ऑर्गेनिक अगरबत्ती, शिप्रा के कचरे-पूजन सामग्री से कागज के बैग-फाइल बनाने की यूनिट व शहर के प्रमुख हिस्से डस्टबिन फ्री करने के कामों ने उज्जैन को देशभर में खास शहर बना दिया। इन कामों के बूते शहर को स्वच्छता इनोवेशन व सर्विस के तीन नेशनल अवॉर्ड मिले। बुधवार को दिल्ली में राष्ट्रपति की मौजूदगी में आयोजित समारोह में ये अवॉर्ड प्रदान किए गए। इधर, स्वच्छता सर्वेक्षण की कसौटी पर भी शहर खरा उतरा, हालांकि फाइव स्टार रेटिंग हासिल करने में शहर पिछड़ गया। इस पैमाने पर बंदोबस्त खरे नहीं उतरे।

कचरे को भी उपयोगी बनाया
स्वच्छता सर्वेक्षण के साथ शहर में इस क्षेत्र में इनोवेशन व नई तकनीकों का सहारा लेकर कचरे को भी उपयोगी बनाया गया, जिसमें मंदिरों के फूल-पत्ती से अगरबत्ती बनाने का काम शुरू हुआ तो शिप्रा से निकलने वाले कचरे, कपड़े व अन्य सामग्री से पेपर बैग बनाना शुरू किए गए। इन कार्यों ने देश के नगर निगमों की अपेक्षा उज्जैन को कुछ अलग व खास बनाया, जिसने शहर को तीन एक्सीलेंस नेशनल अवॉर्ड प्राप्त कराए।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना महामारी के चलते सादे समारोह में ममता बनर्जी ने ली शपथ

नई दिल्ली 05 मई 2021 । तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने राजभवन …