मुख्य पृष्ठ >> इंदौर ने बनाया नया कीर्तिमान

इंदौर ने बनाया नया कीर्तिमान

इंदौर 20 मई 2019 । मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा जागरूक नागरिकों का शहर कहे जाने वाले इंदौर ने एक नया कीर्तिमान बना दिया है। आजाद भारत के इतिहास में पहली बार इंदौर में इतना जबरदस्त मतदान हुआ है।जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार आज शाम तक इंदौर संसदीय क्षेत्र में 69.56 प्रतिशत मतदान होने की सूचना है। देर रात तक इस प्रतिशत में थोड़ा बहुत और इजाफा हो सकता है। पिछले चुनाव में जब वर्ष 2014 में पूरे देश में मोदी लहर चल रही थी तब इंदौर में 62 .25 प्रतिशत मतदान हुआ था। उसकी तुलना में एक बार 7% वोट ज्यादा डाले गए हैं। इंदौर के लोकसभा चुनाव के मतदान के इतिहास को उठाकर देखा जाए तो अब तक सर्वाधिक मतदान 1967 में 64.70 प्रतिशत हुआ था। इतना ही मतदान 1977 में भी हुआ था। इसके अलावा कभी भी इतना जोरदार मतदान नहीं हुआ। हकीकत तो यह है कि इंदौर में कभी 65% से ज्यादा भी वोट नहीं डालें गए हैं। ऐसे में आज इंदौर में करीब 70% मतदान होने से राजनेता भी चौक गए हैं।

*इंदौर वोटिंग का फाइनल आंकड़ा*
*इंदौर में टोटल – 69.56%*

किस विधानसभा क्षेत्र में हुआ कितना मतदान

विधानसभा 1 – 67.46
विधानसभा 2 – 63.51
विधानसभा 3 – 67.34
विधानसभा 4 – 70.24
विधानसभा 5 – 66.74
विधानसभा राउ – 70.12
विधानसभा सांवेर – 78.30
विधानसभा देपालपुर – 76.89

*लोकसभा में टोटल वोटर – 23 लाख 50 हजार 580 वोटर*

*डाले गए वोट की संख्या – 16 लाख 35 हजार 63 वोट*

*इंदौर में टोटल – 69.56%*

रात में फेरे होने के बाद भी दुल्हन ने सुबह तक विदा होने से कर दिया इंकार

उनके फेरे तो कल रात को ही हो गए थे लेकिन दुल्हन ने सुबह होने तक विदा होने से इंकार कर दिया। इसका परिणाम यह हुआ कि दूल्हा उस घड़ी का इंतजार करने लगा जब उसकी पत्नी उससे कहेगी चलो साजन।

यहां एरोड्रम रोड़ स्थित नयापुरा में रहने वाली युवती की कल १८ मई को शादी हुई है। जिसके फेरे देर रात सम्पन्न हुए, लेकिन बारात तब तक रूकी रही जब तक दुल्हन ने वोट नहीं डाल दिया। यानी मतदान के लिए बारात को रूकना पड़ा, फिर जाकर दुल्हन की विदाई की रस्म अदा की गई। इसमें खास बात यह थी कि दूल्हा स्वयं अपनी पत्नी को मतदान करने लेकर पहुंचा। नयापुरा में रहने वाले विजय कुमार यादव की बेटी सोनल यादव की कल शादी हुई है। शाम ६ बजे बारात जिंसंी से वीआईपी रोड़ स्थित आनंद मांगलिक भवन में पहुंची। यहां रिसेप्शन के बाद रात में फेरे सम्पन्न हुए।

जिंसी में रहने वाले गौरव यादव से सोनल की शादी हुई। उसके पिता विजय कुमार यादव ने बताया की हमारे जमाई गौरव का ही कहना है की पत्नी सोनल को वोट डलवाकर ही वह अपने घर ले जाएंगे इसके बाद वे खुद वोट डालने जाएंगे। इसको लेकर परिवार के सभी लोग दुल्हन के लिए रूकेंगे। फेरे कल रात में ही हो गए, लेकिन दुल्हन सोनल की विदाई नहीं की गई। सोनल विधानसभा एक के नयापुरा कॉलोनी स्थित वैदिक स्कूल में सुबह ७ बजे वोट डालने पहुंची। दूल्हा अपनी पत्नी को वोट डालने के लिए लेकर गया, वहां मतदान करने के बाद फिर दुल्हन की बिदाई की रस्म पूरी की गई।

दुल्हन के लिए रुक गया

आज सुबह संगम नगर मोरल एकेडमी में वोट डालने के लिए जब एक दुल्हन पहुंची तो वहां कतार में लगे नागरिकों ने इस दुल्हन को प्राथमिकता दी। इसे बिना लाइन में लगे सीधे मतदान करने की सुविधा दी गई। यह दुल्हन रीतू दीक्षित थी, जिसकी कल रात में ही नृसिंह वाटिका में शादी सम्पन्न हुई। इस युवती का विवाह गौरव त्रिपाठी के साथ हुआ है, रात में विवाह हो जाने के बाद यहां भी दुल्हन की बिदाई को मतदान के लिए रोका गया था। आज सुबह जब दुल्हन ने वोट डाल दिया तब फिर उसकी बिदाई हुई, दूल्हे ने बताया कि अपनी पत्नी को लेकर घर पहुंचने के बाद वह गोपूर चौराहा स्थित मतदान केन्द्र पर जाकर अपना मतदान करेगा।

हाथ नहीं पर हौंसले में कोई कमी नही।पैरो से बटन दबाकर किया मतदान

हाथ नहीं है मगर इनके हौसले भी कम नहीं है। रतलाम जिले के आलोट विधानसभा क्षेत्र के मतदाता गोपाल सिंह ने अपने दोनों हाथ नहीं होने के बावजूद पैरों से मतदान कर इस बात को साबित किया कि हाथ भले ही न हो लेकिन इंसान के हौसले भी कम नहीं होना चाहिए। गोपाल सिंह ने मतदान केंद्र में पैरों से बटन दबाकर अपना मत दिया।23-उज्जैन संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले रतलाम जिले के223- आलोट विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र क्रमांक 231 तालोद के मतदाता गोपाल सिंह ने मतदान केंद्र पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया और पैरों से बटन दबाकर अपना मत दिया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …