मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> इंदौर की 164 अवैध कॉलोनियों हुईं वैध

इंदौर की 164 अवैध कॉलोनियों हुईं वैध

इंदौर 27 फरवरी 2019 । अवैध कॉलोनियों के नियमितिकरण की पहली कार्रवाई की घोषणा मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर में की। सीएम कमलनाथ ने इंदौर की 164 अवैध कॉलोनियों को वैध करने की घोषणा की। इस घोषणा के बाद 50 हजार घरों के करीब ढाई लाख लोगों को फायदा होगा।

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार इंदौर आए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ये बड़ी घोषणा की। कॉलोनियों की वैधता को लेकर पूर्ववर्ती शिवराज सरकार ने घोषणा की थी और इस संबंध में प्रक्रिया काफी आगे तक चली थी और अब अब कमलनाथ सरकार ने इसे लागू करने की अधिकृत घोषणा की। सीएम की इस घोषणा के बाद नगर निगम ने इसका नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है। सीएम द्वारा घोषित 164 कॉलोनियों में से कोई भी विवादित कॉलोनी नहीं है।

वैध की जाने वाली कॉलोनियों में संपत फार्म, संपत एवेन्यू, तुलसी नगर, गुरुकुल पॉम, सनसाइन फार्म, अयोध्यापुरी जैसी कालोनियों को नियमितिकरण की सूची से बाहर रखा गया है क्योंकि इन्हें लेकर विवाद है और इनके नियमितिकरण को लेकर आपत्तियां नगर निगम कॉलोनी सेल तक पहुंची हैं।गौरतलब है कि सीएम के सामने नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने मंच से ही इन 164 कॉलोनियों को वैध करने का प्रस्ताव रखा था। जयवर्धन सिंह ने कहा कि सरकार यदि फैसला लेती है तो 50 हजार मकानों के करीब ढाई लाख लोगों को लाभ मिलेगा। इसके बाद सीएम ने अपने संबोधन में इसे मंजूरी दी।

कमलनाथ ने कहा- हमारी आश्वासन वाली सरकार नहीं है, हमने अगले 10 साल के लिए मास्टरप्लान बनाने की कारवाई भी शुरू कर दी है। उन्होंने स्पष्ट किया मास्टरप्लान बनाते समय लोगों की सुविधा का ध्यान रखा जाएगा। सिर्फ बीच शहर ही नहीं देखा जाएगा, शहर के विस्तार को व्यवस्थित किया जाएगा ताकि शहर पर बोझ कम हो।

उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता ग्रामीण क्षेत्र के साथ ही शहर भी है। उन्होंने बताया कि सरकार प्रदेश में नया निवेश कैसे आए इस पर काफी गंभीरता से काम कर रही है क्योंकि बिना निवेश विकास संभव नहीं है। और लोग वहीं निवेश करेंगे जहां विश्वास होगा। हम प्रदेश में विश्वास का माहौल बना रहे है।कमलनाथ ने संबोधन के दौरान भाजपा पर हमला भी बोला। उन्होंने कहा- मत भूलिएगा वो अच्छे दिन के वादे, मत भूलिएगा 15 लाख की बात और 2 करोड़ युवाओं को रोजगार के वादे मत भूलिएगा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब में अब जहरीली शराब बेचने वालों को मिलेगी सजा-ए-मौत

नई दिल्ली 3 मार्च 2021 । बीते साल पंजाब के अमृतसर, तरनतारन व गुरदासपुर जिले …