मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सरकारी नोटशीट अंग्रेजी में लिखने के निर्देश

सरकारी नोटशीट अंग्रेजी में लिखने के निर्देश

भोपाल 6 फरवरी 2019 । कोई लिखित आदेश जारी नहीं हुए हैं पंरतु मंत्रालय में चर्चा है कि सीएम कमलनाथ ने सरकारी नोटशीट अंग्रेजी में लिखने के निर्देश दिए हैं। कहा जा रहा है कि सीएम कमलनाथ हिंदी भाषा में इतने निपुण नहीं हैं, वो सरकारी दस्तावेजों में उपयोग की जाने वाली हिंदी से असहज हो जाते हैं।
सरकारी नोटशीट अंग्रेजी में लिखीं तो क्या होगा
कमलनाथ मंत्रिमंडल में कुल 28 मंत्री हैं। इनमें से 8 ही ऐसे हैं जो अंग्रेजी में निपुण कहे जा सकते हैं। बाकी कुछ को अंग्रेजी आती है परंतु इतनी नहीं कि वो पूरे नोटशीट ही समझ सकें। यदि मंत्रालय में सभी सरकारी नोटशीट अंग्रेजी में बन गई तो करीब 20 मंत्रियों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो जाएगा, उन्हे नोटशीट समझने के लिए ट्रांसलेटर की जरूरत होगी।
मध्यप्रदेश सरकार की हालत यह है कि महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी शपथ ग्रहण के समय मिलने वाली शपथ ही नहीं पढ़ पाईं थीं। 26 जनवरी को परेड का निरीक्षण और सलामी के समय स्वस्थ थीं परंतु मुख्यमंत्री का संदेश वाचन का अवसर आते ही बीमार हो गईं। कलेक्टर से संदेश वाचन कराया गया। मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री श्री तरुण भनोत का भी डिग्री विवाद है। पहले वो बीई ग्रेजुएट थे, अब 12वीं पास रह गए हैं।

कमलनाथ के मंत्री और BJP नेता का हाईकोर्ट से झटका, पारधि हत्याकांड दोषी हैं दोनो

कमलनाथ सरकार में मंत्री सुखदेव पांसे सहित बीजेपी नेता राजा पवार और आठ अन्य लोगों को हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। इन्हें 2007 में बैतूल के बोन्दरू दंपत्ति की हत्या मामले मे सीबीआई की अदालत ने आरोपी माना था, और उनके फैसले को लेकर सभी आरोपियों ने हाईकोर्ट में याचिका भी लगाई थी। जिसे मंगलवार को कोर्ट ने खारिज करते हुए सभी पर आरोप बरकरार रखने के आदेश दिए हैं।

बता दें कि चौथिया के पारधी ढाना में वर्ष 2007 में आगजनी की घटना के बाद पारधी दपंती के शव मिले थे। इस प्रकरण में विशेष न्यायालय सीबीआई जबलपुर ने वर्तमान विधायक सुखदेव पांसे, जिला पंचायत सदस्य और बीजेपी नेता राजा पंवार सहित 8 लोगों को हत्या के प्रकरण में प्रस्तावित आरोपी बनाने के लिए समन जारी किए थे। जिसके खिलाफ पांसे के साथ अन्य सभी लोगों ने अधिवक्ताओं के माध्यम से जबलपुर हाईकोर्ट में 482 दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत याचिका प्रस्तुत की थी। जिसे लेकर 14 दिसंबर को सीबीआई न्यायालय से जारी हुए समन के खिलाफ विधायक सुखदेव पांसे और बीजेपी के राजा पंवार सहित 8 लोगों को मध्यप्रदेश हाई कोर्ट ने आगामी सुनवाई तक के लिए किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं करने के लिए स्टे दिया था जिसे न्यायालय द्वार अब खारिज हो कर दिया गया है।

कांग्रेस के सीएम ही लड़ाएंगे चुनाव

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तीन राज्यों – राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में पार्टी की जीत को पूरे देश में बड़ी उपलब्धि के तौर पर पेश कर रहे हैं। बिहार की राजधानी पटना में कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली हुई तो राहुल गांधी इन तीनों राज्यों के अपने मुख्यमंत्रियों को लेकर वहां गए। तीनों ने भाषण दिया और बिहार के लोगों को बताया कि चुनाव प्रचार में राहुल गांधी ने जो वादा किया था उसे इन तीनों ने पूरा कर दिया है।

इन तीन में से दो राज्यों में जो मुख्यमंत्री हैं वहीं प्रदेश अध्यक्ष हैं। मध्य प्रदेश में कमलनाथ और छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल संगठन और सरकार दोनों की कमान संभाल रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस पार्टी इन राज्यों में लोकसभा चुनाव तक नया अध्यक्ष नहीं नियुक्त करने जा रही है।

माना जा रहा है कि कांग्रेस अपना विनिंग समीकरण नहीं बदलना चाहती है। किसी तरह का टकराव नहीं हो इसलिए मध्य प्रदेश में कमलनाथ के प्रतिद्वंद्वी माने जाने वाले ज्योतरादित्य सिंधिया को महासचिव बना कर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बना दिया गया है। इन दोनों राज्यों में दोनों मुख्यमंत्री ही कांग्रेस को लोकसभा का चुनाव लड़वाएंगे।

राजस्थान में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट प्रदेश अध्यक्ष हैं। वहां भी लग रहा है कि कांग्रेस पार्टी प्रदेश अध्यक्ष नहीं बदलेगी। पर पायलट की बजाय अशोक गहलोत राजस्थान में कांग्रेस को चुनाव लड़ाएंगे। कांग्रेस नेताओं ने विधानसभा चुनाव के अनुभव से सबक लिया है। टिकटों की बंदरबाट का नतीजा यह हुआ था कि सकारात्मक माहौल होने के बावजूद कांग्रेस बहुमत तक नहीं पहुंच पाई है। तभी कहा जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में कमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के हाथ में होगी। प्रचार से लेकर टिकट तट करने तक फैसला उनके हिसाब से होगा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

बॉलीवुड डायरेक्टर प्रकाश झा पर स्याही फेंकी, तोड़फोड़, मारपीट, डीआईजी ने कहा- सुरक्षा देंगे

भोपाल 25 अक्टूबर 2021 । मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बॉलीवुड फिल्म डायरेक्टर प्रकाश …