मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहे हैं अतंराष्ट्रीय आतंकवादी

पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहे हैं अतंराष्ट्रीय आतंकवादी

संयुक्त राष्ट्र 30 सितम्बर 2018 । भारत ने कहा कि पाकिस्तान लगातार आतंकवाद फैला रहा है और आतंकवादियों को पनाह दे रहा है तथा अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी वहां खुलेआम घूम रहे हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र को संबोधित करते हुए को कहा आज आतंकवाद का राक्षस कहीं धीमी, कहीं तेज गति से हर देश तक जा पहुंचा है। भारत काफी लंबे समय से आतंकवाद का दंश झेलता आ रहा है। हमें दु:ख है कि हमारे यहां सीमा पार से अपना पड़ोसी ही आतंकवाद फैला रहा है।

पाकिस्तान न सिर्फ आतंकवाद फैलाने में बल्कि आतंकवाद को नकारने में भी माहिर
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने न सिर्फ आतंकवाद फैलाने में बल्कि आतंकवाद को नकारने में भी महारत हासिल कर ली है। अमरीका में 11/9 को विश्व ट्रेड सेंटर पर हुए हमले को आतंकवाद का सबसे बड़ा कृत्य बताया जाता है। पाकिस्तान में ही उसका मास्टर माइंड ओसामा बिन लादेन पाया गया जिसे अमरीका अपना सबसे बड़ा दुश्मन मानता था। लेकिन, खुद को अमरीका का करीबी दोस्त बताने वाला पाकिस्तान ने उसे अपने यहां छुपा रखा था। विदेश मंत्री ने कहा पाकिस्तान की हिमाकत देखिए न चेहरे पर झेंप, न माथे पर सिकन। अमरीका में 11/9 के हमले के मास्टर माइंड को तो सजा मिल गई, लेकिन 26/11 का मास्टर माइंड हाफिज सईद पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहा है, रैलियां कर रहा है।

पाकिस्तान का असली चेहरा हुआ बेनकाब
स्वराज ने कहा कि अब दुनिया ने पाकिस्तान का असली चेहरा पहचान लिया है। उन्होंने कहा भारत पर आरोप लगाया जाता है कि वह पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए तैयार नहीं है। लेकिन, यह असत्य है। हमारा मानना है कि दुनिया के जटिल से जटिल मुद्दे वार्ता से ही हल किए जा सकते हैं। हमने कई बार उससे वार्ता की कोशिश की, लेकिन हर बार उनकी हरकतों के कारण ही बातचीत टूटी है।

भारत की सभी सरकारों ने पाकिस्तान से बातचीत की कोशिश की
देश में किसी भी पार्टी की सरकार रही हो सभी ने पाकिस्तान के साथ बातचीत की कोशिश की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तो अपने शपथ ग्रहण समारोह से पहले ही इसकी शुरुआत कर दी थी। उसके बाद 09 दिसंबर 2016 को मैंने स्वयं इस्लामाबाद जाकर समग्र वार्ता की पहल की। लेकिन एक महीने के भीतर ही 02 जनवरी 2017 को पाकिस्तान ने पठानकोट में हमला कर दिया। ऐसी स्थिति में बातचीत कैसे आगे बढ़ सकती थी।

इमरान खान के बातचीत के प्रस्ताव के चंद घंटो बाद तीन जवानों की हत्या
स्वराज ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इच्छा जताई थी कि दोनों देशों के विदेश मंत्री न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के सम्मेलन के दौरान मुलाकात करें। हमने उनके प्रस्ताव को मंजूर भी कर लिया, लेकिन चंद घंटे बाद ही जम्मू -कश्मीर पुलिस के तीन जवानों का आतंकवादियों ने अपहरण और फिर हत्या कर दी गई। उन्होंने सवाल किया कि क्या ऐसी स्थिति में बात हो सकती है?

मानवाधिकार का सबसे ज्यादा उल्लंघन करते हैं आतंकवादी
उन्होंने भारत पर मानवाधिकारों के उल्लंघन के आरोपों को पूरी तरह खारिज करते हुए कहा कि मानवाधिकार का सबसे ज्यादा उल्लंघन तो आतंकवादी करते हैं और पाकिस्तान उनकी पैरवी करता है। वह गलत तस्वीरें दिखाकर भारत के खिलाफ इस बारे में दुष्प्रचार करता है। इसका एक बड़ा उदाहरण है कि पिछले वर्ष इसी सभा में पाकिस्तान के प्रतिनिधि ने‘उत्तर देने के अधिकार’के तहत दूसरे देश की तस्वीर दिखाकर उसे भारत का बताया था।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …