मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> फिर पुलवामा जैसी साजिश रचने की तैयारी में है जैश-ए-मोहम्मद

फिर पुलवामा जैसी साजिश रचने की तैयारी में है जैश-ए-मोहम्मद

नई दिल्ली 22 फरवरी 2019 । आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद एक बार फिर पुलवामा जैसी साजिश रचने की तैयारी कर रहा है. जिसके लिए उसने बनाया है ऑपरेशन खिलौना. भारतीय एजेंसियों और सेना ने जैश के ऑपरेशन खिलौने को डिकोड कर लिया है. साथ ही जैश के एक नए बकरे को मौलाना मसूद अजहर ने मरने के लिए हिंदुस्तान भेज दिया है.

कश्मीर घाटी जैश के कमांडर की कब्रगाह बन चुकी हैं. एक के बाद एक जैश कमांडर को भारतीय जाबांज इस घाटी में दफ्ना चुके हैं. अब जैश ने अपना एक और गुर्गे अबू बकर को मरने के लिए हिंदुस्तान में छोड़ दिया है. पुलवामा में हुए एनकाउंटर में जैश का कमांडर मारा गया था. इसलिए अब जैश ने अबू बकर को नया कमांडर बनाया है. जिसके मरने का वक्त आ चुका है. इससे पहले भी जैश के कमांडर मरने के लिए भारत आए थे. जानकारी के मुताबिक

मार्च 2018 में जैश कमांडर मुक्ती बकास मारा गया

जुलाई 2018 में जैश कमांडर उमेर खालिद मारा गया

सितंबर 2018 को जैश कमांडर अदनान को ढेर हुआ

अक्टूबर 2018 में जैश कमांडर उस्मान हैदर को मारा गया

उस्मान हैदर जैश सरगना मसूद अजहर का भतीजा था.

हाल ही में जैश कमांडर कामरान पुलवामा में ढेर कर दिया गया.

भारतीय सेना ने कड़े शब्दों में कह दिया है कि आतंकवाद से कोई समझौता नहीं होगा. बंदूक उठाओगे तो गोली खाओगे. अब बारी है अबू बकर की है. जिसकी उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. ख़ुफ़िया सूत्रों के मुताबिक घाटी में जैश के आतंकियों के मरने की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ हैं. जिसके बाद से जैश ने पीओके में पाकिस्तानी सेना की मदद से ट्रेनिंग कैंप की संख्या बढा दी है.

जैश के करीब 2 दर्जन फिदायीन आतंकियों को खास ट्रेनिंग दी जा रही है. जिन्हें पाकिस्तानी आर्मी घुसपैठ कराने की फिराक में है. जिसके चलते पिछले दो दिनों में पाकिस्तानी सेना ने कई बार सीजफायर का उल्लंघन किया है. लेकिन हर घुसपैठ के लिए भारतीय सेना तैयार है.

जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता, अनिल अंबानी को मिल जाते हैं 30 हजार करोड़: राहुल
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि पुलवामा हमले में मारे गए 40 जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिल सकता है, लेकिन प्रधानमंत्री ने अनिल अंबानी को 30,000 करोड़ रुपये का ‘तोहफा’ दे दिया.

राहुल ने गुरुवार को ट्वीट किया- ‘बहादुर शहीद हुए हैं. उनके परिवार संघर्ष कर रहे हैं. 40 जवान अपनी जान देते हैं लेकिन ‘शहीद’ का दर्जा नहीं मिला. जबकि इस आदमी ने कभी नहीं दिया, सिर्फ लिया. उन्हें अपने 30,000 करोड़ गिफ्ट किया है, जिसके बाद यय आदमी ‘पूरी जिन्दगी खुशी से रहेगा’. मोदी के NEW INDIA में आपका स्वागत है.’

बता दें गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस मोदी सरकार पर आरोप लगाती रही है कि राफेल फाइटर जेट सौदे के तहत एक ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट दिलाने में मदद कर उद्योगपति को 30,000 करोड़ रुपये का लाभ पहुंचाया. हालांकि, सरकार और अनिल अंबानी ने सभी आरोपों से इनकार किया है.

अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट को टैग किया है. सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत के एक हफ्ते बाद राहुल की टिप्पणी यह आई है. पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के काफिले में शामिल एक बस को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी आत्मघाती हमला किया था.

इससे पहले पुलवामा अटैक पर कांग्रेस ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भारतीय जनता पार्टी पर पुलवामा हमले को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने कहा कि ‘पीएम मोदी और अमित शाह बस इसका राजनीतिक फायदा उठा रहे हैं. उन्होंने राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी नहीं की.

शहीद जवानों के बच्चों के लिए रवीना टंडन ने उठाया ये बड़ा कदम

बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन चैरिटी के लिए जानी जाती हैं। अब हाल ही में रवीना ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों के बच्चों के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। दरअसल, हाल ही में आयोजित हुए एक अवॉर्ड शो के दौरान रवीना ने बताया कि वो शहीद हुए जवानों के बच्चों की पढ़ाई में मदद करेंगी।

रवीना ने कहा, ‘ये ऐसा मौका है जहां सभी को आगे आना चाहिए और जो भी वह मदद कर सकते हैं उन्हें करना चाहिए। ये जवानों के परिवार के लिए बहुत बड़ी मदद होगी। मैंने जवानों के गर्ल चिल्ड्रन की पढ़ाई की जिम्मेदारी ली है, लेकिन इसे मैं लड़कियों तक ही सीमित नहीं रखना चाहती।’

आईएएनएस से बातचीत में रवीना ने कहा, ‘कहीं इस तरह लिखा गया था कि ये मदद सिर्फ लड़कियों के लिए है, लेकिन बता दूं कि ये सिर्फ गर्ल चाइल्ड के लिए नहीं, बल्क‍ि शहीदों के बच्चों के लिए है। न सिर्फ पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के लिए बल्क‍ि सभी शहीदों के बच्चें के लिए हमारा फाउंडेशन एजुकेशन में मदद करेगा। साथ ही हम स्कॉलरशिप भी देते हैं।’

पुलिस ने अपनी जेब से दिए साढे सात करोड़ रु

पुलवामा आतंकी हमले के बाद देश भर में गुस्सा है, वहीं शहीद हुए जवानों के परिजनों के लिए देश भर से मदद के हाथ आगे आने लगे हैं। सरकारों ने जहां सहायता राशि का ऐलान किया है, वहीं कर्मचारी अधिकारियों ने भी पहल की है| मध्य पुलिस ने जवानों के परिजनों की मदद के लिए बड़ी पहल करते हुए पुलिस के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपने वेतन में से 7 करोड़ 50 लाख रुपये की राशि एकत्रित की है| पुलिस महानिदेशक वी.के. सिंह ने इस राशि का चेक मुख्यमंत्री कमलनाथ को सौंपा है| गुरूवार को मुख्यमंत्री कमल नाथ को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों के परिवारों की सहायतार्थ मध्यप्रदेश पुलिस की ओर से पुलिस महानिदेशक वी.के. सिंह ने 7 करोड़ 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का चेक सौंपा गया। मुख्यमंत्री को सौंपी गई इस राशि में मध्यप्रदेश पुलिस के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपने वेतन में से अंशदान दिया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री की विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव भी उपस्थित थीं। मध्य प्रदेश की इस पहल की सराहना की जा रही है, इससे प्रेरणा लेकर अन्य विभाग भी देश के लिए अपने प्राण न्योछावर करने वाले जवानों के परिजनों की सहायता के लिए आगे आएंगे|

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …