मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> गृहमंत्री अमित शाह को फोन करने के बाद निकल पाए देश के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गी।

गृहमंत्री अमित शाह को फोन करने के बाद निकल पाए देश के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गी।

नई दिल्ली 19 दिसंबर 2019 । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को मुर्शिदाबाद जाते समय नवग्राम के पास अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने घेर लिया. उनके साथ कथित तौर पर धक्का-मुक्की की. ‘कैलाश विजयवर्गीय गो बैक’ के नारे लगाये.
कैलाश विजयवर्गीय ने इस घटना के बाद ट्वीट कर कहा, ‘मुर्शिदाबाद जाते हुए मुझे नवग्राम के पास मुसलिमों की भीड़ ने घेर लिया है. मेरी गाड़ी के दोनों तरफ भीड़ जमा है. प्रशासन कोई भी कार्रवाई नहीं कर रहा. एसपी और डीजी भी फोन नहीं उठा रहे. पश्चिम बंगाल में अराजक सरकार के रहते कुछ भी हो सकता है. यहां किसी की जान सुरक्षित नहीं है.’
श्री विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल की कानून-व्यवस्था की स्थिति इतनी बिगड़ चुकी है कि विपक्ष के नेताओं की जान सुरक्षित नहीं कही जा सकती. श्री विजयवर्गीय ने अपना ट्वीट केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को भी शेयर किया है.
श्री विजयवर्गीय ने फेसबुक और ट्विटर पर प्रदर्शन का वीडियो भी शेयर किया है. इसमें दिख रहा है कि टोटो यानी रास्ते में ई-रिक्शा खड़ी कर दी गयी है. रोड जाम है और लोग उनके खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. विजयवर्गीय के सुरक्षाकर्मी उन्हें बचाते दिख रहे हैं.

मध्य प्रदेश सरकार के निर्देश पर उज्जैन में भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू।

वह कमलनाथ सरकार ने कर दिखाया। देर रात उज्जैन के प्रकाश नगर में मुकेश भदाले के यहां से करवाई शुरू की और अवैध तरीके से बने मकान को तोड़ दीया । भदाले पर हत्या के प्रयास सहित 14 प्रकरण पूर्व के दर्ज है ।
मुख्यमंत्री के निर्देश पर यह कार्रवाई आज पुलिस अधीक्षक सचिन कुमार अतुलकर अपने अवकाश से लौटते ही शुरू कर दी ।
सचिन अतुलकर के अवकाश से लौटते ही कलेक्टर शशांक मिश्रा ने एक मीटिंग रखी। इस मीटिंग कलेक्टर ,एडीएम, एसडीएम ,एसपी ,एडिशनल एसपी, सीएसपी लेवल अधिकारियों को बुलाया। जिसमें लगभग 100 से अधिक भू-माफिया और गुंडा तत्व के लोगों के नाम चिन्हित किए हैं।
मीटिंग खत्म होते ही अधिकारियों ने 3 टीम बनाई जिसमें भारी पुलिस बल तैनात किया और सांवेर रोड प्रकाश नगर स्थित भदाले के अवैध बने मकान को तोड़ दिया। पुलिस अधीक्षक सचिन कुमार अतुलकर का कहना है कि, हमारी लिस्ट में 100 से अधिक नाम है।
जिनकी मय प्रमाण जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं। इकट्ठा होते ही एक के बाद एक अवैध भू माफिया, रेत माफिया व अन्य माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। कुछ नाम तो ऐसे हैं कि, जिन पर पुलिस पूर्व में भी इस तरह की कार्रवाई कर चुके हैं।
इधर कलेक्टर शशांक मिश्रा का कहना है कि , मध्य प्रदेश सरकार द्वारा एक अच्छा अभियान चलाया जा रहा है। इसी के तहत आज उज्जैन में भी इसकी शुरुआत कर दी गई है। और एक के बाद एक माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई लगातार की जाएगी।
शासकीय भूमि पर भू माफिया का अवैध कब्जा ।ग्रामीणों में आक्रोश।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘इंडोर प्लान’ से OBC वोटर्स को जोड़ेगी BJP, सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में उतरेगी टीम

नयी दिल्ली 25 जनवरी 2022 । उत्तर प्रदेश की आबादी में करीब 45 फीसदी की …