मुख्य पृष्ठ >> अब Kailash Vijayvargiya को नहीं मिलेगा BJP में बड़ा पद!

अब Kailash Vijayvargiya को नहीं मिलेगा BJP में बड़ा पद!

नई दिल्ली 01 जुलाई 2019 । पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भाजपा (Bharatiya Janata Party) को अविश्वसनीय जीत दिलाने वाले तथा हरियाणा (Jharkhand) में भी भाजपा (BJP ) की पताका लहराने वाले भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) की सालों की मेहनत अब बेकार होने वाली है। भारतीय जनता पार्टी के चहेते विजयवर्गीय को अब पार्टी में कोई भी बड़ा पद नहीं मिलेगा। अपने पुत्र आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya) के किये के कारण अब कैलाश विजयवर्गीय को मुसीबत का सामना करना पडेगा।

विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) की साख में गिरावट
पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भाजपा (BJP ) को 18 सीटें दिलवाने वाले कैलाश विजयवर्गीय के लिए चुनाव परिणाम आने के बाद कहा जा रहा था कि उन्हें पार्टी कोई बड़ा पद देकर खुश करना चाहती है। कयास तो यहां तक भी लगाए जा रहा थे कि उन्हें भाजपा अध्यक्ष की कमान या मध्यप्रदेश की कमान सौंपी जानी है, लेकिन अब उन सभी कयासों पर पूर्णत : प्रतिबन्ध लग चुका है, क्योंकि आकाश विजयवर्गीय के बल्लाकाण्ड के कारण उनकी साख प्रभावित हुई है।

बैठक में लिया जाएगा बड़ा फैसला

आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya) के बैटकांड का वीडियो वायरल (Viral video) होने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था। इसके बाद पार्टी के हाईकमान ने मामले की रिपोर्ट भी मांगी। जहां नगर निगम के अधिकारी की पिटाई करते हुए आकाश विजयवर्गीय का वीडियो वायरल हो रहा है वहीँ सालों पुराना कैलाश विजयवर्गीय का भी फोटो वायरल हो रहा है, जिसमें वे एक पुलिस अफसर की जूतों से पिटाई करते हुए दिख रहे हैं।

वीडियो और फोटो के वायरल होने के बाद कई लोगों का कहना है कि बेटा अपने पिता के नक्शेकदम पर ही चल रहा है। सोशल मीडिया पर हो रही कैलाश की इन आलोचनाओं को देखते हुए भी पार्टी हाईकमान बड़ा फैसला ले सकती है। ये भी कहा जा रहा है कि कैलाश विजयवर्गीय के महासचिव होने के पद पर भी ख़तरा मंडरा रहा है।

क्या है आकाश का बैटकांड

26 जून को इंदौर-3 से विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बल्ले से एक निगम कर्मचारी की पिटाई कर दी थी। निगम कर्मचारियों का दल एक जर्जर मकान को ढहाने के लिए पहुंचा था। तभी आकाश से उनकी बहस हो गई और मामला इतना बढ़ गया कि विधायक ने बल्ले से कर्मचारी की पिटाई कर दी। इस मामले में आकाश के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज कराया गया है।

विजयवर्गीय की जमानत आवेदन पर शुक्रवार को भोपाल की सांसदों-विधायकों के खिलाफ मामले सुनने के लिए बनी स्पेशल कोर्ट में बहस नहीं हो सकी। कोर्ट खुलते ही जमानत आवेदन तो पेश हो गया था, लेकिन कोर्ट ने कहा कि जब तक केस डायरी नहीं आ जाती बहस नहीं सुनी जा सकती। मामले पर आज यानी शनिवार को सुनवाई हो सकती है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …