मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> शिवराज सरकार के घोटाले उजागर करेगी कमलनाथ सरकार

शिवराज सरकार के घोटाले उजागर करेगी कमलनाथ सरकार

भोपाल 23 जनवरी 2019 । मध्य प्रदेश में कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद पूर्व की शिवराज सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। कमलनाथ सरकार पूर्व सरकार के कार्यकाल में कराए कामकाज की जांच कराने जा रही है। इसी के चलते पिछली सरकार द्वारा प्रदेशभर में कराए गए पौधारोपण के महाभियान की जांच कराने जा रही है। इस पौधारोपण अभियान में सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किये गए थे, जिसके बाद सरकार ने दावा किया था कि, अभियान के तहत साढ़े सात करोड़ से अधिक पौधे लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। उस समय विपक्ष में रहने वाली कांग्रेस ने इसे बड़ा घोटाला बताया था, लेकिन अब सत्ता में आने के बाद सरकार नर्मदा किनारे लगवाए गए पौधों की जांच करवाने की तैयारी कर रही है।

थर्ड पार्टी करेगी जांच

कृषि और उद्यानिकी मंत्री सचिन यादव ने नमामि देवी नर्मदे के तहत लगाए गए पौधे और अन्य स्थानों पर लगाए गए पौधों की जांच थर्ड पार्टी से करवाने की बात कही है। जानकारी मिली है कि, जांच द्वारा पता लगाया जाएगा कि, उस महा पौधारोपण की हकीकत क्या है। क्या वाकई में इतने पौधे लगाए गए थे ? अगर लगाए गए थे तो वर्तमान में ये किस स्थिति में है ? इसकी जांच की जाएगी।

दिग्विजय ने उठाए थे कई सवाल

विपक्ष में रहने के दौरान कांग्रेस ने पौधरोपण के महाभियान को घोटाला बताते हुए तत्कालीन सरकार पर गंभीर आरोप लगाए थे। उस दौरान सड़क से सदन तक इस मुद्दे को गहमा गहमी दिखाई दी थी। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पैदल नर्मदा परिक्रमा करने के दौरान भी तत्कालीन सरकार के इस अभियान पर कई गंभीर सवाल उठाये थे, साथ ही सरकार के दावे को घोटाला बताया था और सरकार में आने के बाद जांच की बात कही थी। अब जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है और शिवराज के कार्यकाल में हुए कार्यों की जांच कराई जा रही है, जिससे भाजपा की मुश्किलें बढ़ सकती है।

वचन पत्र में की थी घोषणा

मामले को लेकर मंत्री यादव ने कहा कि नर्मदा पौधारोपण में हुए भारी भ्रष्टाचार की आशंका है,हम इसकी जांच तह तक कराएंगे। नर्मदा किनारे पिछले तीन साल में लगे साढ़े सात करोड़ से ज्यादा पौधों की मैदानी हकीकत पता लगवाने के लिए सरकार द्वारा यह कदम उठाया जा रहा है। इसके तहत सबसे पहले उद्यानिकी विभाग के अंतर्गत खरीदे गए 40 करोड़ से ज्यादा के पौधों की खरीदी और पौधारोपण की जांच की जाएगी। इसके बाद बाकी विभागों से हर साल लगे पौधे और मौके की पड़ताल की जाएगी। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में सरकार बनने पर पौधारोपण की जांच का वादा किया था। कृषि और उद्यानिकी मंत्री सचिन यादव ने कहा है कि सरकार अपने वचन पत्र पर अग्रसर है।

BJP वालों ने मध्यप्रदेश में जलाए पुतले, CM कमलनाथ ने स्विट्जरलैंड के दावोस से Tweet कर दिया ये जवाब

मध्यप्रदेश में मंदसौर पालिकाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार व बड़वानी भाजपा मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की हत्या से पार्टी कार्यकर्ता गुस्से में हैं। सोमवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने पूरे प्रदेश में कमलनाथ सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। पुतले जलाए। इसकी गूंज द‍िल्ली तक सुनाई दी।

उधर, BJP के हल्ला-बोल पर मध्यप्रदेश सीएम कमलनाथ ने पलटवार किया है। उन्होंने स्विट्जरलैंड के दावोस से ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा। ट्वीट में कमलनाथ ने लिखा है कि बेहद शर्मनाक है कि जिन्होंने अपने 15 वर्ष के कार्यकाल में मध्यप्रदेश प्रदेश को अपराध प्रदेश बनाए रखा, जो अपनी सरकार में अपराध रोकने में पूरी तरह से नाकाम रहे, जिनके कार्यकाल में अपराधों में प्रदेश देश में शीर्ष पर रहा। अब वो हमारी 1 महीने की सरकार को अपराध को लेकर कोस रहे हैं और राजनीति कर रहे हैं। सीएम कमलनाथ के दस पुतले जलाए

इधर, उज्जैन में युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पाण्डे की अगुवाई में मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला दहन उज्जैन के टावर चौराहे पर किया गया। इस दौरान पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं में काफी धक्का-मुक्की भी हुई। कई बार पुलिस ने पुतला भी छीना, लेकिन भाजपाइयों ने अलग-अलग पुतले बनाकर मुख्यमंत्री के 10 पुतले दहन किए। इसी दौरान पुलिस से पुतला छुड़ाने के प्रयास में भाजपाई व पुलिसकर्मियों के बीच मामूली झड़प हो गई। पुलिस ने वाटर कैनन वाहन से पानी की बौछार कर कार्यकर्ताओं को तीतर-बितर किया।

कमलनाथ सरकार हर मोर्चे पर विफल

युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे ने कहा कि कांग्रेस के कुशासन के विरोध में प्रदर्शन किया है, क्योंकि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद जिस तरह से भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है, वो गंभीर है। कमलनाथ

जबसे मुख्यमंत्री बने हैं तब से वे कानून व्यवस्था के साथ-साथ अन्य मोर्चों पर भी विफल हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …