मुख्य पृष्ठ >> Uncategorized >> सिंधिया के बगैर कमलनाथ की सभाएं क्या दम दिखा पाएंगी

सिंधिया के बगैर कमलनाथ की सभाएं क्या दम दिखा पाएंगी

नई दिल्ली 10 सितम्बर 2018 । पदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ १० सितम्बर को लहार और मुरैना के डोरे पर रहेंगे .साथ में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह भी रहेंगे .मगर इस क्षेत्र के दमदार नेता सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया इन सभाओं में कमलनाथ के साथ नहीं रहेंगे .श्री सिंधिया का इस इलाके में भारी प्रभाव है .श्री सिंधिया को इग्नोर करके सभाएं करना कितनी सफल होंगीं ,यह तो कल ही पता चलेगा .लहार बिधायक डॉक्टर गोविन्द सिंह भीड़ जुटाने में माहिर हैं ,लेकिन मुरैना की सभा में कितने लोगों को कोंग्रस जुटा पायेगी ,यह देखने बाली बात होगी .मुरैना में अजय सिंह समर्थकों पर भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी होगी .सूत्रों का कहना है की श्री सिंधिया समर्थक न के बरावर लोग ही शामिल होंगे .कमलनाथ इस इलाके में अपना दवदबा बनाने के लिए भीड़ जुटाने के लिए पूरी ताकत लगाएं गे .

अब प्रदेश की जनता भाजपा से नहीं ठगायेगी: कमलनाथ

प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने उनसे मिलने आये अखिल भारतीय धनगर समाज के प्रतिनिधियों से कहा भाजपा सरकार ने प्रदेश में भ्रष्टाचार की नई व्यवस्था बनाई है। प्रदेश के लोग भोले-भाले हैं, लेकिन वे अब भाजपा सरकार से ठगायेंगे नहीं। हमें एक-एक सीट जीतना है। इसके लिये गहन सर्वे कराया गया है। यह भी देखा जायेगा कि जिस व्यक्ति को टिकिट दी गयी है उसे जनता का व सभी वर्गों का समर्थन प्राप्त है या नहीं। हर सीट जीतने के लिये लोकप्रिय प्रत्याशी का चयन पहली आवश्यकता है, क्योंकि हमारा लक्ष्य इस भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकना हैै।
कमलनाथ ने कहा कि मुझे अच्छी तरह ज्ञात है कि धनगर समाज का उनके क्षेत्रों में काफी महत्व है। यह आपके समाज पर निर्भर करता है कि आप किस तरह अपनी
रणनीति तैयार करते हैं और लोगों को भाजपा सरकार की सच्चाई बताकर कांगे्रस के पक्ष में करते हैं। कांगे्रस की सरकार बनने पर हम आपके प्रतिनिधित्व का ध्यान रखेंगे। धनकर समाज के प्रतिनिधियों ने एक स्वर में कांगे्रस का साथ देने का वायदा कमलनाथ से किया। उन्होंने कहा कि पहली बार आपके अध्यक्ष बनने से हमारे समाज को संगठन में प्रतिनिधित्व मिला है। हम सब आपके साथ हैं। प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश के विभिन्न जिलों से आये धनगर समाज के पदाधिकारीगण उपस्थित थे। इस अवसर पर धनगर समाज के अध्यक्ष महादेव धनगर सहित यशवंत चैधरी, अंतरसिंह चैधरी, सुभाष चैधरी, हनुमंत पाल, मुकेश चैधरी, विक्रम विद्यार्थी, सुरेश धनगर, कचरूलाल चढ़ावर, बनेसिंह चैधरी, अजबसिंह पवार, कैलाश चैधरी आदि उपस्थित थे।
आर्थिक गतिविधियां चौपट हुई और जनता निराशा में है
दांगी समाज से कमलनाथ ने कहा कि दांगी समाज ने हमेशा कांगे्रस का साथ दिया है। यह एक संपन्न समाज है। राजनीतिक तस्वीर आपके सामने हैं। आप लोगों को अब यह सोचना है कि हम मध्यप्रदेश का कैसा नक्शा बनाना चाहते हैं। आज आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह चैपट हो गयी हैं। किसानों में निराशा है। युवा बेरोजगार हैं। बाहर मध्यप्रदेश का नाम लेने पर सिर शर्म से झुकाना पड़ता है क्योंकि बलात्कार, बेरोजगारी, किसान आत्महत्या में प्रदेश नंबर वन हो गया है।
कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश के लोग सरल स्वभाव के हैं, भोले-भाले हैं। सरकार से धोखा खाने पर निराश जरूर हो गये हैं, लेकिन इतनी जागरूकता उनमें है कि वे अब ठगायेंगे नहीं और अगले चुनाव में भाजपा को उखाड़ फेंकेगे। आपको जनता को समझाना है कि प्रदेश के लोगों को कैसे ठगा गया है। यह सच्चाई बताना है कि इन्होंने हर वर्ग को किस तरह परेशान कर रखा है। हर रोज झूठी घोषणायें हो रही हैं, जो कभी पूरी नहीं होंगी। जनता को यह भी बताना होगा कि अगले चुनाव में भाजपा की हार में मध्यप्रदेश का सुखद भविष्य छुपा हुआ है।

पूर्व मंत्री प्रभुसिंह ठाकुर ने कहा कि कमलनाथ एक पारखी व्यक्ति हैं और चुनावी रणनीति में माहिर हैं। उन्होंने कहा कि दांगी समाज काम करने में विश्वास रखता है, दिखावे में नहीं। नगरीय निकायों, पंचायतों और मंडियों में हमारा अच्छा प्रतिनिधित्व भी है। आपके साथ हमारा समाज कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगा और कांगे्रस को जिताकर आपको यशस्वी बनायेगा।
पूर्व सांसद सुरेन्द्र सिंह ठाकुर ने समाज के दलपत शाह दांगी का उल्लेख किया, जिन्होंने सागर और खुरई में किला बनवाया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में यह समाज ओबीसी में आता है। यह समाज कृषि और शिक्षा के सहारे आगे बढ़ा है। समाज के उपयुक्त लोगों को संरक्षण मिलना चाहिये।
इस अवसर पर करूणा दांगी, रणवीरसिंह दांगी, रूद्रप्रताप सिंह, शिरोमणि सिंह दांगी, जितेन्द्रसिंह, रामसिंह पारिया सहित समाज के अन्य पदाधिकारी और विभिन्न जिलों से आये प्रतिनिधि उपस्थित थे।
राम वन गमन पथ यात्रा निकलेगी
कांगे्रस उपभोक्ता प्रकोष्ठ के सदस्यों ने पंडित हरिशंकर शुक्ला के नेतृत्व में कमलनाथ से मिलकर चित्रकूट से प्रस्तावित राम वन गमन पथ यात्रा का प्रस्तावित रोड मेप सौंपा। यह यात्रा 21 सितम्बर से 9 अक्टूबर तक निकाली जायेगी, जिसमें कांगे्रस के विभिन्न प्रतिष्ठित नेतागण शामिल होंगे। यह यात्रा 35 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। जहां-जहां से भगवान राम गुजरे थे, वहां-वहां से यह यात्रा जायेगी।
श्री शुक्ला ने कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ को बताया कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने 2007 में राम वन गमन पथ की घोषणा की थी जो आज तक पूरी नहीं हुई। लेकिन भाजपा वाले राजनीतिक लाभ के लिये हमेशा भगवान राम का नाम भर लेते रहते हैं। उन्हांेने इस मसले को घोषणा पत्र में शामिल करने का आग्रह किया। प्रतिनिधि मंडल में संदीप सूरी और राकेश पाल भी शामिल थे।
आउट सोर्स विद्युत कर्मचारी संघ के कर्मचारियों ने कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ से की मुलाकात
प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ से आज यहां मध्यप्रदेश वाह्म स्त्रोत विद्युत कर्मचारी कल्याण संघ के नेतृत्व में सैकड़ों कर्मचारियों ने रैली की शक्ल में पहुंचकर प्रदेश कांगे्रस कार्यालय में मुलाकात की।
कमलनाथ ने प्रदेश कांगे्रस मुख्यालय के बाहर आकर उनकी बात सुनी और एक अस्थायी मंच से उन्हें संबोधित किया। कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सरकार ने आप लोगों के साथ जो अन्याय किया है उसे कांगे्रस की सरकार बनने पर दूर करेंगे। आऊट सोर्स बिजली कर्मचारियों की समस्याओं से मैं अच्छी तरह वाकिफ हूं। जो शोषण आपका हो रहा है वह असंवेदनशीलता का प्रमाण है। आज इस सरकार में हर कर्मचारी परेशान है और वह अगले चुनाव में भाजपा को सबक सिखायेगा। कर्मचारियों ने उन्हें अपनी मांगों के संबंध में ज्ञापन दिया और कांगे्रस के घोषणा पत्र में शामिल करने का आग्रह किया।
कांगे्रस अध्यक्ष को दिये गये ज्ञापन में उन्होंने लिखा है कि मध्यप्रदेश की विद्युत कंपनियों में लगभग 45 हजार आउट सोर्स विद्युत कर्मचारी कार्यरत हैं। ये कुल कर्मचारियांे का 80 प्रतिशत है और 95 प्रतिशत काम इन्हीं के द्वारा किया जाता है। बार-बार मांग करने पर भी शिवराज सरकार ने इनकी मांगों के बारे में अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है। विगत 15 जुलाई को लगभग तीन हजार से अधिक कर्मचारी एकत्र होकर उज्जैन के टावर चैक पर भारतीय जनता पार्टी को वोट न देने की शपथ ले चुके हैं।
ज्ञापन में कांगे्रस की सरकार बनने पर सभी विद्युत कंपनियों के आउट सोर्स कर्मचारियों को नियमित कर ठेका प्रथा बंद करने की मांग की गयी है। इसमें कर्मचारियों से विद्युत कंपनी सीधे अनुबंध कर कंपनी से सीधे भुगतान की व्यवस्था का भी उल्लेख है। यह भी लिखा है कि भारतीय संविधान और सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार समान कार्य के लिये समान वेतन दिया जाये। कमलनाथ ने ज्ञापन में लिखी सभी मांगों को सरकार बनने पर पूरी करने का आश्वासन दिया।
कुंभकर्णी नींद में सोयी भाजपा सरकार को जगाने के लिये जनता करे कांगे्रस के बंद का समर्थन
पेट्रोल-डीजल की मूल्य वृद्धि को लेकर आज कांगे्रस के देशव्यापी बंद के आव्हान को देखते हुए प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश कांगे्रस ने भी आज प्रदेश में बंद का आव्हान किया है। कमलनाथ ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती दरों से जनता हलाकान है और महंगाई चरम पर है। देश और प्रदेश की भाजपा सरकार पेट्रोल-डीजल को न जीएसटी में ला रही है और न ही उस पर थोपे गये करों को कम कर जनता को निज़ात दिलाना चाहती है।
कमलनाथ ने कहा कि लंबे समय से कांग्रेस जन हित में इस तरह की मांग कर रही है, लेकिन केन्‍द्र और राज्य की भाजपा सरकार कुंभकर्णी नींद में सोयी होकर तानाशाही और हिटलरशाही रवैया अपनाकर निर्णय नहीं लेकर, जनता को राहत प्रदान नहीं कर रही है। नाथ ने कुंभकर्णी नींद में सोयी भाजपा सरकार को जगाने के लिये प्रदेश की जनता से अपील की है कि कांगे्रस के बंद के इस आव्हान को अपना समर्थन देते हुए बढ़ती महंगाई व इस मूल्यवृद्धि के विरोध में अपने व्यवसायिक संस्थान बंद रखें। वहीं कांगे्रस कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे शांतिपूर्ण तरीके से हाथ जोड़कर इस बंद को सफल बनाने के लिए लोगों का समर्थन हासिल करें। नाथ ने कहा है कि सुबह नौ से तीन बजे तक आयोजित इस बंद के दौरान दूध, दवाई व आवश्यक सेवाऐं प्रभावित नहीं होंगी। बंद के आव्हान से इन्हें छूट रहेगी।

कांग्रेस की पहली सूची में ग्वालियर चंबल अंचल से ये नाम तय

कांग्रेस ने अपनी पहली सूची तैयार कर ली है। 17 सितंबर को राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का म.प्र. दौरा होने के बाद दिल्ली में बैठक होगी, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश अध्यक्ष सांसद कमलनाथ उपस्थित रहेंगे। बैठक के बाद इसी सितंबर माह के अंत तक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर सकते हैं।
ग्वालियर चम्बल संभाग से पहली सूची में अटेर से हेमंत कटारे, लहार से डॉ. गोविन्द सिंह, पिछोर से केपी सिंह, मेहगांव से ओपीएस भदौरिया, दतिया से राजेंद्र भारती, विजयपुर या सबलगढ़ से रामनिवास रावत, डबरा से इमरती देवी सुमन, भितरबार से लाखन सिंह यादव, ग्वालियर पूर्व से मुन्नालाल गोयल, करैरा से श्रीमती खटीक, कोलारस और मुंगावली से दोनों वर्तमान विधायक नाम तय बताय जा रहे हैं।  ग्वालियर की जिन सीटों पर पैनल मे नाम है उनमे ग्वालियर विधानसभा में अशोक शर्मा- प्रदुम्मन सिंह तोमर, ग्वालियर दक्षिण में रमेश अग्रवाल , पूर्व मंत्री भगबान सिंह यादव, श्रीमती रश्मि पवार शर्मा, ग्वालियर ग्रामीण से रामवरन सिंह गुर्जर ,उदयवीर सिंह गुर्जर और साहब सिंह गुर्जर के नाम शामिल हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

वायु प्रदूषण के चलते 5 साल घटी हर भारतीय की उम्र, मदिरापान-स्मोकिंग से भी ज्यादा खतरनाक: स्टडी

नयी दिल्ली 14 जून 2022 ।  वायु प्रदूषण देश में मानव स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़ा खतरा …