मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कपूर खानदान की मेहमाननवाजी कर फंसे MP के कैबिनेट मंत्री

कपूर खानदान की मेहमाननवाजी कर फंसे MP के कैबिनेट मंत्री

सतना 4 जून 2018 । कपूर खानदान की मेहमाननवाजी कर मध्यप्रदेश के कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र शुक्ला फंस गए है। रीवा में राज कपूर ऑडिटोरियम के लोकार्पण और रीवा प्राइड सांस्कृतिक संध्या के बाद रविवार को कपूर फैमिली ने दुनिया की इकलौती व्हाइट टाइगर सफारी का भ्रमण किया।

इस दौरान मंत्री और रीवा के स्थानीय विधायक राजेन्द्र शुक्ला ने मेहमानों को बैटरी चलित गोल्फ कार्ट में घुमाया। इसे लेकर शुक्ला विवादों में हैं। सेंट्रल जू अथॉरिटी के नियमों को तार तार करने पर एक्टिविस्ट अजय दुबे सहित अन्य सामाजिक कार्यकर्तों ने इस पर आपत्ति जताई है।
उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ला और कपूर व प्रेमकिशन का परिवार मुकुंदपुर व्हाइट टाइगर सफारी में आना था। इसके लिए रविवार को जू तय समय 9 बजे से तीन घंटे बाद 12 बजे आम लोगों के लिए खुला। हालांकि एक दिन पहले ही जू प्रबंधन ने इसके 12 बजे खुलने की सूचना दे दी थी। पर समय से इसका प्रचार नहीं होने से सपरिवार सफारी देखने आए लोग धूप में परेशान होते रहे। इसके अलावा मंत्री शुक्ला ने मेहमानों को कार्ट में बिठाकर खुद घुमाया। जबकि नियमानुसार कार्ट कोई और नहीं चला सकता।

सेंट्रल जू अथॉरिटी को शिकायत

इसलिए सेंट्रल जू अथॉरिटी को शिकायत की गई है। एक्टिविस्ट अजय दुबे सहित अन्य सामाजिक कार्यकर्तों ने इस पर आपत्ति जताई है। दुबे ने कहा कि मंत्री ने इसे मुकुंदपुर सफारी को निजी संपत्ति मान लिया है, पहले समय बदला गया। इसके अलावा तय स्टाफ के स्थान पर वे खुद मेहमानों को लेकर गए। गौरतलब है कि रणधीर कपूर, प्रेम चोपड़ा और प्रेमकिशन शनिवार को राजकपूर ऑडिटोरियम के लोकार्पण में आए थे।

सीएम का कार्यक्रम ऐनवक्त पर हुआ था निरस्त
ऑडिटोरियम के लोकार्पण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी आना था। सायं अचानक भोपाल से सूचना आई कि उनका कार्यक्रम निरस्त किया जाता है। यह खबर पाते ही आयोजकों के साथ ही आम लोगों में भी मायूषी छाई रही। हालांकि मंत्री ने यह प्रयास भी किया कि वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीएम का संदेश प्रसारित कराया जाए, लेकिन इसकी व्यवस्था नहीं बन पाई।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Urdu erased from railway station’s board in Ujjain

UJJAIN 06.03.2021. The railways has erased Urdu language from signboards at the newly-built Chintaman Ganesh …