मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 700 करोड़ रुपये देगा UAE

केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 700 करोड़ रुपये देगा UAE

नई दिल्ली 22 अगस्त 2018 । संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए करीब 700 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है. केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने इस मदद के लिए UAE की सरकार का शुक्रिया अदा किया है.

मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने कहा, ”कई लोग केरल की मदद के लिए आगे आए हैं. अलग-अलग राज्यों की सहायता के अलावा, दूसरे देश भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में मदद कर रहे हैं. संयुक्त अरब अमीरात ने भी राहत पैकेज दिया है और खाड़ी देश सभी मोर्चों पर हमारी मदद कर रहे हैं.” मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि UAE ने राहत कार्यों के लिए 100 मिलियन डॉलर (लगभग 700 करोड़ रुपये) देने का वादा किया है और अबू धाबी के राजकुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है.

आपको बता दें कि UAE सरकार ने केरल के लोगों की मदद करने के लिए एक कमेटी बनाने का फैसला किया था. बाढ़ से प्रभावित लोगों को सहायता करने के लिए UAE के प्रेसिंडेंट शेख खलीफा ने नेशनल इमरजेंसी कमेटी के गठन की मांग की थी. UAE के उपराष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने कहा था कि भारी बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करना उनके देश की विशेष ज़िम्मेदारी है. UAE में केरल के हज़ारों लोग रहते हैं.

उपराष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ”केरल के लोग हमेशा हमारी सफलता की कहानी का हिस्सा रहे हैं और अभी भी हैं.”

केरल में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के चलते लाखों लोग बेघर हो गए हैं. साल 1924 के बाद पहली बार केरल में इतनी खतरनाक बाढ़ आई है. है. राज्य की उफनती नदियों के जलस्तर में कमी आई है. सोमवार से बारिश रुकने के बाद कई इलाकों में पानी का लेवल भी कम हुआ है. राहत शिविरों में 10 लाख से अधिक लोग शरण लिए हुए हैं.

बीमा भुगतान से भी होगी केरल की सहायता, 1,000 करोड़ रुपए से ऊपर बजट

बीमा कंपनियों का अनुमान है कि बाढ़ प्रभावित केरल में बीमा दावों के 1,000 करोड़ रुपये से ऊपर जा सकते हैं। सरकार ने केरल की बाढ़ को ‘गंभीर प्राकृतिक आपदा’ घोषित किया है। एक बीमा कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दावों का आकलन केरल में स्थिति के सामान्य होने पर किया जाएगा। दावों के प्राप्त होने पर चार-पांच दिन में सबकुछ साफ हो जाएगा।
अधिकारी ने कहा कि प्राथमिक आधार पर हमारा आकलन है कि कार, गृह और उद्योग से जुड़े साधारण बीमा दावे 1,000 करोड़ रुपए से भी अधिक होंगे। केंद्र सरकार ने कल राज्य को भेजी जाने वाली राहत सामग्री को सीमाशुल्क और अंतरराज्यीय कर से छूट प्रदान कर दी थी।

ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक ए.वी. गिरजाकुमार ने कहा कि अभी से दावों का अनुमान लगाना बहुत जल्दबाजी होगी। हालात बेहतर होने पर अगले चार-पांच दिन में स्थिति और साफ हो जाएगी।

नेशनल इंश्योरेंस, न्यू इंडिया एश्योरेंस, ओरिएंटल इंश्योरेंस और युनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस जैसी सार्वजनिक क्षेत्र की साधारण बीमा कंपनियों ने बाढ़ प्रभावित केरल में दावों के तेजी से निपटान के प्रबंध किए हैं। गिरजाकुमार ने कहा कि कंपनियों की अपनी एक प्रणाली है और वह बीमा दावा फॉर्म को और आसान बना रही हैं।

उन्होंने कहा कि 22 अगस्त को बीमा कंपनियों के तकनीकी विभागों के प्रमुख और महाप्रबंधकों की बैठक है। यह मौजूदा दिशानिर्देशों के तहत होगी और केरल की बाढ़ के संदर्भ में सभी उपयुक्त प्रबंध करेंगे। दावा निपटान प्रक्रिया की निगरानी क्षेत्रीय स्तर पर की जाएगी।

भारतीय जीवन बीमा निगम ने कहा कि वह सहयोगी बैंकों के साथ काम कर रही है ताकि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत आने वाले बीमित व्यक्तियों के दावों का तेजी से निपटान किया जा सके।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

आयुष्मान भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल में फंसने से बचाया: पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली 27 सितम्बर 2021 । पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल …