मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कुमारी शैलजा पर लगा 3.5 करोड़ रुपये में टिकट बेचने का आरोप

कुमारी शैलजा पर लगा 3.5 करोड़ रुपये में टिकट बेचने का आरोप

नई दिल्ली 6 नवम्बर 2018 । राजस्थान विधानसभा चुनाव टिकट बंटवारे में स्क्रीनिंग कमेटी की प्रमुख कुमारी शैलजा पर 3.5 करोड़ रुपये में टिकट बेचने के आरोप लगे हैं. कांग्रेस मुख्यालय के टॉयलेट में सोमवार को चस्पा मिले एक पोस्टर में शैलजा पर फलौदी टिकट को 3.5 करोड़ में बेचने का आरोप लगाया गया है. इस पोस्टर में शैलजा के साथ एक अन्य महिला का फोटो भी छपा है. पोस्टर के अनुसार इस सीट पर विजयलक्ष्मी विश्नोई को 3.5 करोड़ में कांग्रेस का टिकट बेचा गया है.

बता दें कि कांग्रेस ने कुमारी शैलजा को राजस्थान स्क्रीनिंग कमेटी का चेयरपर्सन नियुक्त किया हुआ है. पार्टी ने जून महीने में ही विभिन्न राज्यों में स्क्रीनिंग कमेटियों का गठन करते हुए शैलजा को राजस्थान की जिम्मेदारी सौंपी थी. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की स्वीकृति के बाद राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने शैलजा की नियुक्ति की अधिकारी घोषणा की थी.

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता कुमारी शैलजा को राजस्थान स्क्रीनिंग कमेटी का चेयरपर्सन बनाते हुए ललितेश त्रिपाठी और शाकिर सनादि को बतौर सदस्य नियुक्त किया था. विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे के दौरान स्क्रीनिंग कमेटी का अहम रोल रहता है और इसी लिहाज से चुनाव से छह महीने पहले ही इस कमेटी का गठन कर दिया गया था.

कौन है कुमारी शैलजा

– महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रही हैं कुमारी शैलजा
– कुमारी शैलजा कांग्रेस व केंद्र सरकार में विभिन्न पदों पर रही हैं.
– 1990 में वे महिला कांग्रेस की अध्यक्ष बनीं थीं.
– 10वीं लोकसभा के चुनाव में हरियाणा के सिरसा लोकसभा क्षेत्र से चुनी गईं थीं.
– पीवी नरसिम्हा राव सरकार में वे शिक्षा एवं संस्कृति मामलों की राज्यमंत्री बनीं थीं.
– 1996 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के काफी खराब प्रदर्शन के बावजूद कुमारी शैलजा फिर से चुनी गईं.
– 2004 के लोकसभा चुनाव में अंबाला लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधत्व किया और बाद में केंद्रीय राज्यमंत्री बनीं.

कांग्रेस ने की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के खिलाफ चुनाव आयोग व साईबर सेल को शिकायत

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का एक झूठा, फ़ेक, एड़ीटेड विडीओ भाजपा द्वारा वाइरल कर चुनाव के समय उनकी छवि बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है। यह सब संजय सिंह के कांग्रेस प्रवेश की बौखलाहट के कारण किया जा रहा है। ख़ुद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा अपने आफ़िशियल ट्विटर हेंडल से इस एडिटेड, झूठे विडीओ को पोस्ट किया गया है।

अाचार संहिता में किसी भी व्यक्ति की छवि बिगाड़ने का झूठा प्रयास प्रतिबंधित रहता है एवं झूठे, एडिटेड विडीओ को वाइरल करना या पोस्ट करना भी अपराध की श्रेणी में आता है। कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने आज इसकी शिकायत मयप्रमाण के प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी.एल. कांताराव से मिलकर व साईबर सेल में भी कर दोषियों के ख़लिाफ़ कड़ी कार्यवाही की माँग की है। कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल में नरेन्द्र सलूजा, पंकज चतुर्वेदी, रवि सक्सेना, भूपेन्द्र गुप्ता, जे.पी. धनोपिया, शाहवर आलम, फ़िरोज़ सिद्दीक़ी, आनंद तारण, कुदन पंजाबी, विलियन खोगल, शयरयार खान सहित अन्य कांग्रेसजन उपस्थित थे।

भाजपा के समृद्ध प्रदेश के विज्ञापन में सरकार की ओर से वायदा, संदेश और प्रलोभन दिया जा रहा

प्रदेष कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज यहां मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा के नेतृत्व में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी.एल. कांताराव से मिलकर शिकायत की है कि सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी द्वारा समृद्ध मध्यप्रदेश अभियान के तहत जारी किये जा रहे विज्ञापनों में मतदाताओं को लुभाने के लिये सरकार की ओर से वायदा और घोषणायें की जा रही हैं। कांगे्रस ने कहा है कि आदर्श आचार संहिता के चलते एक राजनीतिक दल इस तरह का वायदा सरकार की ओर से कैसे कर सकती है? यह कृत्य आदर्श आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है।

शिकायत के साथ दो विज्ञापन लगाये गये हैं। एक विज्ञापन में लिखा है ‘‘सोहेल खान के आइडिया से एक क्लिक पर सभी सरकारी दस्तावेज आनलाईन उपलब्ध होंगे।’’ दूसरे विज्ञापन में लिखा है ‘फूलसिंह तोमर के आइडिया से किसानों को भुगतान की प्रक्रिया सरल और बैंक व्यवहार आसान होगा….।’ दोनों विज्ञापनों में बड़ी बारीकी से सरकार द्वारा सरकारी दस्तावेज आॅनलाईन उपलब्ध कराने और किसानों को भुगतान प्रक्रिया बैंकांे के माध्यम से सरल करने का वायदा, संदेश और प्रलोभन मतदाताओं को दिया गया है। यह विज्ञापन भारतीय जनता पार्टी का है। लेकिन इसमें अपरोक्ष रूप से मतदाताओं को सरकार की ओर से आश्वासन दिया गया है।
इस तरह सत्ताधारी दल और उसकी सरकार द्वारा मिलकर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन खुल्लम खुल्ला किया जा रहा है। कांगे्रस पार्टी मांग करती है कि इस तरह अपरोक्ष रूप से सरकार का संदेश देने वाले भाजपा के विज्ञापनों पर तत्काल रोक लगाई जाये। साथ ही मेडीकल छुट्टी लेकर घर से भाजपा का काम कर रहे वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी और अन्य अधिकारी, कर्मचारियों पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की कार्यवाही की जाये जो निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव के लिए जरूरी है।
प्रतिनिधि मंडल में नरेन्द्र सलूजा के साथ कांगे्रस के पदाधिकारी पंकज चतुर्वेदी, रवि सक्सेना, जे.पी. धनोपिया, भूपेन्द्र गुप्ता, आनंद तारण, फिरोज सिद्धीकी, विव्यिान खोंगल, शाहवर आलम, शहरयार खान, कुंदन पंजाबी सहित अन्य कांगे्रसजन शामिल थे।

सोशल मीडिया के अध्यक्ष अभय तिवारी को प्रचार समिति में भी शामिल किया

प्रदेष कांग्रेस कमेटी के सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष अभय तिवारी को अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के निर्देश पर प्रदेश कांगे्रस की प्रचार समिति में भी शामिल किया गया है। इस आशय के आदेश संगठन प्रभारी और कांगे्रस उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने जारी कर दिये है।

भाषण देकर लौट रहे कांग्रेस नेता को बदमाशों ने पीटा, काटी जीभ, भाजपा समर्थकोंं पर आरोप
छतीसगढ़ में चुनाव से पहले एक शर्मनाक वाक्या सामने आया है। यहां कांग्रेस पार्टी के एक उम्मीदवार को समर्थन देने के चक्कर में चर्चित कांग्रेस नेता की जीभ काट दी गई है। बता दें कि राहुल दानी जो कि कांग्रेस के प्रत्याशी रविंद्र चौबे के समर्थन में भाषण देने के लिए बेमतारा जिले की साजा विधान सभा इलाके में गए थे। इस दौरान खाना-खाने जाते वक्त राहुल पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने हमला कर उनकी जीभ काट दी। राहुल को गंभीर हालत में भिलाई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद राहुल कोमा में चले गए थे। बता दें कि डॉक्टरों की टीम राहुल की जीभ की सर्जर करेगी ताकि उन्हें जल्द से जल्द ठीक किया जा सके।

जीभ काटकर फेंका सड़क पर
बीते दिनों धमधा में युवा कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन को राहुल ने संबोधित किया। इस संबोधन के बाद वे और उनके लोग ढाबे पर खाना खाने के लिए जा रहे थे। इसी बीच कुछ अज्ञात हमलावरों ने उनकी गाड़ी पर हमला कर दिया और उन्हें गाड़ी से नीचे उतार कर उनसे मारपीट की और उनकी जीभ काटकर वहीं सड़क पर फेंक दिया। रास्ते पर आने-जाने वाले राहगीरों ने जब राहुल को बेहोश अवस्था में देखा तो वे दंग रह गए। आनन-फानन में उन्होंने राहुल का भिलाई के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

तीन दिनों तक थे कोमा में
होश में आने के बाद राहुल ने बताया कि हमलावरों ने उनके साथ मारपीट की उसके बाद उनकी जीभ काटकर उन्हें तड़पता हुआ सड़क पर छोड़कर भाग गए। राहुल बीते तीन दिनों से कोमा में थें। रविवार को होश में आने के बाद उन्होंने और भी कई बातें बताई।

ना दे सकूं भाषण इसलिए काटी जीभ
रविवार को होश में आने के बाद उन्होंने इस बात का जिक्र किया और कहा कि आरोपी मारते वक्त कह रहे थे कि तुझे भाषण देने का बहुत शौक है, अब तेरी जीभ ही काट देते हैं। इस हमले में राहुल के चेहरे पर गंभीर चोट आई है। सूचना के अनुसार पुलिस ने अभी मामला दर्ज नहीं किया है। आरोप है कि साजा से बीजेपी प्रत्याशी लाभचंद बाफना के समर्थकों ने कांग्रेस नेता से मारपीट की है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

आयुष्मान भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल में फंसने से बचाया: पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली 27 सितम्बर 2021 । पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल …