मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> उत्तरप्रदेश >> एक अरब के आम खा गए लखनऊवासी, 2 अरब की हुई कमाई

एक अरब के आम खा गए लखनऊवासी, 2 अरब की हुई कमाई

लखनऊ 17 जुलाई 2018 । लखनऊ वालों ने दशहरी का स्वाद लेने में न केवल पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़े, बल्कि देश-विदेश में दशहरी सहित अन्य आमों की बिक्री के भी पिछले सारे रिकॉर्ड ध्वस्त हो गए। केवल लखनऊवासियों ने एक अरब रुपए की कीमत के आम खा डाले। मंडी हाउस के पैक हाउस से पिछले साल के मुकाबले इस बार लगभग 23 मीट्रिक टन ज्यादा आम विदेश भेजा जा चुका है। इसके साथ ही दुबग्गा मंडी से रोजाना आम से भरी 25-30 गाड़ियां विभिन्न राज्यों को भेजी गईं।

लखनऊ से दो अरब, आठ करोड़, 45 लाख रुपये का आम का व्यापार अभी तक किया गया। वहीं लखनऊ शहर की 52 से 55 लाख आबादी ने इस बार दशहरी व अन्य आमों का स्वाद चखा और यहां के लोग एक अरब रुपये की कीमत का आम खा गए। आम व्यापारियों के मुातबिक शुरुआती दौर में आम की सप्लाई तैयारियों में कमी रहने के कारण धीमी थी। इसका असर यह रहा कि ज्यादा से ज्यादा माल शहर में ही खपने लगा।

विदेश में फिर बजा डंका

आंधी-पानी और रोगों से लड़ाई जीतकर एक बार फिर दशहरी ने विदेश की सफलतापूर्वक सैर की। पिछले साल 64.44 मीट्रिक टन आम विदेश गया था। इस साल अभी तक 87.50 मीट्रिक टन आम विदेश भेजा जा चुका है। मंडी परिषद की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2016 में सबसे ज्यादा आम विदेश गया। उसके मुकाबले अभी तक 17.50 मीट्रिक टन आम ज्यादा जा चुका है।

मैंगो पैक हाउस के प्रबंधक मोहसिन खान ने बताया कि अगर बारिश तेज न हुई तो आम निर्यात का यह आंकड़ा 100 मीट्रिक टन के पार हो जाएगा। बताया कि अमूमन यहां से व्यापारी 40-45 रुपये प्रतिकिलो आम खरीदकर विदेश भेज रहे हैं। ऐसे में लगभग 45 लाख रुपये का आम केवल विदेश भेजा जाएगा। जिन देशों में यहां से आम निर्यात किया गया, उनमें दुबई, लंदन, कतर, कुवैत, जर्मनी, रोम, इटली, मलेशिया, मॉरिशस आदि देश शामिल हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …