मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बिजली कर्मियों के बाद अब इंदौर में निगम कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई

बिजली कर्मियों के बाद अब इंदौर में निगम कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई

इंदौर 26 अप्रैल 2019 । मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर इंदौर में बिजली कर्मियों के बाद अब इंदौर नगर निगम के कर्मचारियों पर भी बड़ी कार्रवाई की गाज गिर गई है। अंगूठे का निशान देने में तेरी करने के कारण 244 निगम कर्मियों की नौकरी चली गई है।राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में विद्युत प्रदाय को निर्बाध बनाने के लिए बिजली कंपनियों को कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे। इस निर्देश के परिप्रेक्ष्य में सबसे पहले और सबसे बड़ी कार्रवाई मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के द्वारा की गई । इस कार्रवाई में करीब 500 बिजली कर्मियों पर गाज गिरी थी। अभी यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि आज इंदौर में नगर निगम के कर्मचारियों पर कार्रवाई की गाज गिर गई। पिछले कुछ माह से इंदौर नगर निगम के द्वारा लगातार यह प्रयास किया जा रहा था कि नौकरी पर आने वाले सारे कर्मचारी बायोमेट्रिक मशीन के माध्यम से अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं। निगम के कई कर्मचारियों ने इस व्यवस्था से बचने की कोशिश की ।

इसके चलते हुए यह व्यवस्था लागू करने में विलंब हो रहा था । पिछले दिनों नगर निगम के आयुक्त आशीष सिंह के द्वारा यह स्पष्ट निर्देश दे दिया गया था कि अब जो निगम कर्मी मशीन के लिए अपना पंजीयन नहीं कराएगा उसकी सेवा समाप्त कर दी जाएगी। पंजीयन कराने के लिए निगम कर्मी को अपना आधार कार्ड और एम्पलाई कोड नंबर देना था।

इसके साथ ही अपने अंगूठे के निशान का नमूना भी देना था। यह कार्य कल तक इन कर्मचारियों को कर देना था लेकिन इस कार्य को करने में कई कर्मचारियों द्वारा लापरवाही बरती गई । इसके परिणाम स्वरूप आज नगर निगम आयुक्त द्वारा एक बड़ी कार्रवाई करते हुए 7 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया । जबकि 244 निगम कर्मियों की सेवा समाप्त कर दी गई है। जिन कर्मचारियों की सेवा समाप्त की गई है वे सभी दैनिक वेतन भोगी हैं। इंदौर नगर निगम द्वारा की गई जहां सबसे बड़ी कार्रवाई है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमित शाह के बयान पर नीतीश कुमार का तंज, बोले- इतिहास कोई कैसे बदल सकता है

नयी दिल्ली 14 जून 2022 । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी सहयोगी पार्टी बीजेपी …