मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> कांग्रेस 12 अक्टूबर को जारी करेगी उम्मीदवारों की लिस्ट

कांग्रेस 12 अक्टूबर को जारी करेगी उम्मीदवारों की लिस्ट

भोपाल  11 अक्टूबर 2018 । मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान 12 अक्टूबर को करेगी। नई दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पर चल रही स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में फैसला लिया गया है। जानकारी के मुताबिक बैठक में 150 सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम पर चर्चा हो चुकी है। पिछले विधानसभा सभा में जहां कांग्रेस तीसरे स्थान पर थी उन विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवार फिर से चर्चा की जाएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार और मंगलवार को हुई बैठक में 150 उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा हुई है। इससे पहले प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मंगलवार को बताया कि उम्मीदवारों से संबंधित कुछ जानकारी चाहिए थी। उम्मीदवारों को इसकी ख़बर दी गई है।

वहीं, राज्य के प्रभारी दीपक बावरिया ने बताया था कि करीब 150 सीटों पर चर्चा हो चुकी है। उम्मीदवारों के नाम फाइनल करने का काम तेज़ी से चल रहा है। इससे पहले सोमवार को भी समिति की मैराथन बैठक हुई थी। बैठक में समिति अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया, प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह, प्रचार समिति अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया मौजूद थे।

28 नबंवर को होगा मतदान: मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनावों के लिए 28 नबंवर को मतदान होगा। जबकि 11 दिसबंर को परिणाम घोषित किए जाएंगे। भाजपा 15 सालों से प्रदेश की सत्ता में काबिज है।

निजी एजेंसियों से कराए गए हैं सर्वे: सूत्रों का कहना है कि प्रदेश में प्रत्याशियों का चयन पार्टी द्वारा कराए गए तीन सर्वे के आधार पर होगा। इनमें से एक सर्वे खुद मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा कराया गया है। वहीं, दो अन्य सर्वे गुजरात और कर्नाटक की निजी एजेंसियों से कराए गए हैं। प्रदेश कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री के नेतृत्व में अजय कुमार लल्लू और नेटा डिसूजा उन नामों पर मंथन करेंगे।

इस आधार पर तय होंगे प्रत्याशी: कांग्रेस ने टिकट देने के लिए एक फार्मूला तय किया है। वो फार्मूले हैं पिछले चुनाव में तीन हजार से कम वोट से हारे हों। ऐसी सीटें जहां कांग्रेस प्रत्याशी 3 से 6 हजार वोटों से हारा हो। दो चुनाव लगातार हारने वाले और 15 से 20 हजार वोट से हारने वाले प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया जाएगा।

भाजपा का कांग्रेप पर आरोप, राहुल को लॉन्च करने के लिए कराई हिंसा

कांग्रेस पर देश को बांटने के अभियान में शामिल होने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने मंगलवार को आरोप लगाया कि गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले कराने में कांग्रेस पार्टी का हाथ है और कांग्रेस ने राहुल गांधी को ‘‘लॉन्च’’ करने के लिए उत्तर भारतीयों पर हमले कराए हैं। भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लोगों को भड़काने का काम किया है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ‘शहरी नक्सलियों’ को आर्थिक मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि मंदसौर में भी कांग्रेस के विधायकों ने लोगों को भड़काने और आग लगाने की राजनीति की थी और इन सभी के पीछे राहुल गांधी को लॉन्च करने की पार्टी की कोशिश रही है। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस के तीन ‘‘सी’’ का भंडाफोड़ हो गया है जिसमें अफरातफरी ‘केओस’, साजिश ‘कांस्पिरेसी’ और भ्रम ‘कंफ्यूजन’ शामिल है।’’ भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि जिस प्रकार से गुजरात में कांग्रेस ने षड्‍यंत्र किया है वह हम देख रहें हैं।

पात्रा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की यही नीति रही है कि समाज बांटो, देश जलाओ, राजनीति करो और फिर चिल्लाओ। उन्होंने जोर दिया कि गुजरात में कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने हिंसा भड़काई, कांग्रेस ने देश को बांटने की राजनीति की है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ‘‘पीछे से भड़काना, आग लगाने की राजनीति, लोगों को तोड़ना और भ्रांति फैलाना ये कांग्रेस पार्टी का मुख्य उद्देश्य रहा है और इन सबके पीछे एक ही ध्येय है लॉन्च राहुल।’’ उन्होंने कहा कि अल्पेश ठाकोर सिर्फ कांग्रेस के विधायक ही नहीं बल्कि राहुल गांधी के चहेते भी हैं।

पात्रा ने आरोप लगाया कि गांधी परिवार सत्ता के लिए कुछ भी कर सकता है। और अगर कांग्रेस पार्टी को इसके लिये देश का अहित भी करना पड़े तो उससे भी पीछे नहीं हटती। संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस कितनी भी कोशिश क्यों न कर ले लेकिन बिना क्षमता के कोई भी नेता लॉन्च नहीं हो सकता । देश को बांटकर कोई भी नेता सफलता हासिल नहीं कर सकता है।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इससे पहले कहा कि सरकार इस मामले में दृढ़ता से कार्रवाई करे और शांति बहाल करने तथा हर भारतीय की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वह हर संभव प्रयास करे। उन्होंने गुजरात सरकार की नीतियों पर भी निशाना साधा। 28 सितंबर को गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 महीने की एक बच्ची के साथ कथित बलात्कार के बाद छह जिलों में हिंदी भाषी लोगों पर हमलों की कई घटनाएं हुई हैं।

प्रियंका चतुर्वेदी के हाथ आई कांग्रेस की कमान…

कांग्रेस ने चुनावी राज्यों के लिए अपने मीडिया प्रभारी घोषित कर दिए हैं। पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी को मध्यप्रदेश का मीडिया प्रभारी बनाया गया है, जबकि छत्तीसगढ़ की कमान पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता जयवीर शेरगिल को सौंपी गई है।

इसी तरह दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के पूर्व राजनीतिक सलाहकार पवन खेड़ा राजस्थान के मीडिया प्रभारी होंगे। तेलंगाना के लिए कर्नाटक के सांसद नासिर हुसैन और मिजोरम के लिए प्रोफेशनल कांग्रेस की उत्तर-पूर्व प्रभारी जरिता लैतफलांग को यह जिम्मेदारी दी गई है।

मीडिया संयोजकों की भी नियुक्ति…
पार्टी ने मीडिया प्रभारी के साथ ही मीडिया संयोजकों की भी नियुक्ति की है। मध्यप्रदेश में संजीव सिंह और अभय दुबे मीडिया संयोजक बनाए गए हैं। छत्तीसगढ़ में संयोजक के तौर पर राधिका खेड़ा को तैनात किया गया है। इसी तरह राजस्थान में संयोजक की जिम्मेवारी रोहन गुप्ता को दी गई है।

इधर, सीटों का घमासान शुरू –
वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश कांग्रेस के टिकट बंटवारे को लेकर बड़े नेताओं में सहमति न बनने से उम्मीदवार चयन में लगातार देरी हो रही है। बुधवार को हुई स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में 12 अक्टूबर को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होने की संभावना जताई गई। उम्मीद है कि 12 को ही उम्मीदवारों की पहली सूची आ सकती है। सूत्रों के मुताबिक प्रदेश के मालवा क्षेत्र की सीटों को लेकर ज्यादा जोर आजमाइश चल रही है।

चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया मालवा से ज्यादा सीटों का दावा कर रहे हैं, जबकि प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह इससे सहमत नहीं हैं।
वहीं कई चुनावी रैलियों में सिंधिया द्वारा उम्मीदवारों की सूची आने से पहले ही मंच से कुछ नेताओं की उम्मीदवारी घोषित करने का मामला भी दिल्ली पहुंच गया है।

इधर, भाजपा की छह फायरब्रांड नेत्रियां उतरेंगी मैदान में

राजमाता विजयाराजे सिंधिया की 125वीं जयंती पर भाजपा छह फायरब्रांड नेत्रियों को मैदान में उतार रही है। 12 अक्टूबर को ये नेत्रियां अलग-अलग शहरों में कमल शक्ति संवाद के जरिए महिला वोटरों से रूबरू होंगी। भाजपा तेजतर्राट नेत्रियों से महिला वोटरों में सेंध लगाने की कोशिश कर रही है।

कार्यक्रम के तहत केंद्रीय मंत्री उमा भारती सागर, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी इंदौर, राष्ट्रीय प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी जबलपुर, केंद्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति छिंदवाड़ा, राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडे उज्जैन और यूपी की कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी रीवा में महिलाओं से संवाद करेंगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Endocrine Disruptors Linked To Several Cancers: Dr Purohit

Bhopal 07.03.2021. Endocrine disrupting chemicals (EDCs) are an exogenous [non-natural] chemical, or mixture of chemicals, …