मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> 7 चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे ,आचार संहिता लागू

7 चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे ,आचार संहिता लागू

नई दिल्ली 11 मार्च 2019 । दुनिया के सबसे बड़ेलोकतंत्र के सियासी समर का आज शंखनादहो गया है. चुनाव आयोग ने 17वीं लोकसभाके लिए चुनाव की तारीखों की एलान करदिया. देश के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनीलअरोड़ा, चुनाव आयुक्त अशोक लवासा औरचुनाव आयुक्त सुनील चंद्रा ने बताया कि 7 चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे. पहला चुनाव11 अप्रैल को होगा और आकिरी 19 मई कोहोगा. नतीजे 23 मई घोषित किए जाएंगे. इसी के साथ देश में चुनाव आचार संहितालागू हो गई है. इसका मतलब है कि सरकारअब कोई घोषणा–उद्घाटन नहीं कर सकती. चुनाव आयोग ने कहा है कि आचार संहिताका उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाईकी जाएगी.

7 चरणों में होंगे लोकसभा चुनाव

पहला चरण: 11 अप्रैल ( 91 सीट, 20 राज्य)

दूसरा चरण: 18 अप्रैल ( 97 सीट, 13 राज्य)

तीसरा चरण: 23 अप्रैल ( 115 सीट, 14 राज्य)

चौथा चरण: 29 अप्रैल (71 सीट, 9 राज्य)

पांचवा चरण: 6 मई ( 51 सीट, 7 राज्य)

छठा चरण: 12 मई ( 59 सीट, 7 राज्य)

सातवां चरण: 19 मई ( 59 सीट, 8 राज्य)

लोकसभा– 2014 के नतीजों का हिसाब–किताब

कुल राज्य: 29+7= 36

20 राज्यों में कांग्रेस का खाता ही नहीं खुला

13 राज्य, 7 केंद्र शासित प्रदेश में कांग्रेसजीरो

10 राज्यों में बीजेपी ने क्लीन स्वीप किया

2 बड़ी पार्टी BSP-DMK का खाता नहींखुला

5 साल में बढ़े 7 करोड़ वोटर

वोटरों की संख्या

2019- 90 करोड़

2014- 83 करोड़

लोकसभा में सीटों का गणित

कुल सीटें– 543

बहुमत का आंकड़ा– 272

सामान्य सीट– 412

अनुसूचित जाति– 84

अनुसूचित जनजाति– 47

1951- 17 करोड़

बोर्ड एग्जाम की तारीखों का भी रखा ध्यान– EC
चुनाव आय़ोग ने बताया है कि राज्यों मेंचुनावों के दौरान किस तरह से सुरक्षाव्यवस्था बनाई जाएगी इसको लेकर पुलिसके अधिकारियों और राज्यों के गृह सचिव, डीजीपी और वरिष्ठ अधिकारियों के साथबैठकें की गई हैं. चुनाव आय़ोग ने कहा किचुनाव की तारीखों को तय करने के दौरानविभिन्न राज्यों के बोर्ड एग्जाम की तारीखोंका भी ध्यान रखा है.

VVPAT मशीनों का होगा इस्तेमाल– EC

चुनाव आयोग ने यह भी बताया कि इसचुनाव में 90 करोड़ मतदाता हैं, जिनमेंसे 1.5 करोड़ 18-19 साल के मतदातापहली बार वोट करेंगे. वहीं, नौकरी पेशावाले मतदाताओं की संख्या 1.60 करोड़ है. आयोग ने कहा कि 1950 कॉल फ्री नंबर परआप वोटर लिस्ट से जुड़ी जानकारी ले सकतेहैं. बड़ी बात यह है कि चुनाव में VVPAT मशीनों का ही इस्तेमाल किया जाएगा. चुनावआयोग ने बताया कि देश में 10 लाख पोलिंगबूथ होंगे. पिछली बार 9 लाख पोलिंग स्टेशनथे. वोटिंग से 48 घंटे पहले लाउडस्पीकरबजाने पर रोक लग जाएगी. वहीं रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकरबजाने पर रोक लगाई गई है. मतदाताओं कोवोटर स्लिप वोटिंग से पांच दिन पहले मिलजाएगी. वोटरों को इस बार भी NOTA काविकल्प दिया जाएगा.

ईवीएम पर लगेगी उम्मीदवारों की तस्वीर-EC

आयोग ने बताया है कि देश में संवेदनशीलइलाकों में सीआरपीएफ जवानों की तैनातीकी जाएगी. इस बार ईवीएम पर उम्मीदवारोंकी तस्वीर भी लगाई जाएगी. साथ ही पूरीचुनावी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराईजाएगी. ईवीएम की मूवमेंट जानने के लिएजीपीएस ट्रेकिंग तकनीक का इस्तेमाल कियाजाएगा.

उम्मीदवारों को देनी होगी अपने सोशलमीडिया अकाउंट की जानकारी-EC

चुनाव आय़ोग ने कहा है कि उम्मीदवारों कोअपने सोशल मीडिया अकाउंट की भीजानकारी लेनी होगी. इस दौरान सोशलमीडिया पर प्रचार की भी निगरानी कीजाएगी. आयोग सोशल मीडिया के इस्तेमालके लिए गाईडलाईन भी जारी करेगा. पेडन्यूज़ को लेकर उम्मीदवारों और पार्टी परकड़ी कार्रवाई की जाएगी.

राहुकाल में हुई लोकसभा चुनाव की घोषणा, किस पार्टी के लिए होगा अशुभ
क्या चुनावी चांद को निगल लेगा राहु? क्योंकि चुनाव का ऐलान चुनाव आयोग ने जिस समय तय किया, उस समय राहुकाल चल रहा था। हर एक रविवार को राहुकाल शाम 4:30 बजे से 6:00 बजे तक होता है। ज्योतिष गणना के अनुसार प्रतिदिन राहु अलग-अलग समय पर भारत के आगे से गुजरता है। ऐसे में गणना करें तो हर दिन सुबह 6:00 बजे से लेकर शाम 6:00 बजे के बीच डेढ़ घंटे के लिए राहुकाल आता है।

हमेशा 4:30 से 6:00 तक राहुकाल होता है और उसी समय चुनाव की घोषणा हुई है। मान्यता के अनुसार कोई भी शुभ कार्य राहुकाल में नहीं किया जाता है। कई राजनीतिक दलों की सांसें इसीलिए उखड़ी हुई है कि ऐसे अशुभ काल में चुनावी घोषणा और उसका मुहूर्त होना परेशान करने वाली चीज लग रही है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

टूटे सारे रिकॉर्ड, 10 बिंदुओं में जानिए क्यों आ रहा जोरदार उछाल

नई दिल्ली 24 सितम्बर 2021 । घरेलू शेयर बाजार में शानदार तेजी का सिलसिला जारी …