मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सुरक्षित है मध्यप्रदेश सरकार , खतरा अभी भी बरकरार दिग्विजय बने कमलनाथ के लिए अर्जुन

सुरक्षित है मध्यप्रदेश सरकार , खतरा अभी भी बरकरार दिग्विजय बने कमलनाथ के लिए अर्जुन

भोपाल  6 मार्च 2020 । कांग्रेस व अन्य दलों के ९ विधायक अचानक गायब हो गए। जिनमें से ६ विधायक लौट आए है तथा ४ विधायक अभी भी लापता है। जिसकों लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा है कि उनके परिजन थाने में शिकायत दर्ज करवाये। सरकार को सुरक्षित रखने में दिग्विजयसिंह ने अर्जुन की भूमिका निभाई है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर यह आरोप हमेशा लगाया जाता है कि वे शिगूफेबाजी करके चर्चा में बने रहना चाहते हैं।

इन आरोपों को नकारते हुए दिग्विजय सिंह ने हमेशा दावा किया है कि वह जो कुछ भी कहते हैं ,उसके पुख्ता प्रमाण उनके पास होते हैं। अभी दो दिन पूर्व ही उन्होंने आरोप लगाया था कि राज्य की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के द्वारा राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी के कुछ विधायकों को 25 से 30 करोड़ का प्रलोभन और मुख्यमंत्री तथा उप मुख्यमंत्री पद का लालच देकर भाजपा में शामिल होने को कहा जा रहा है, जिससे प्रदेश में कमलनाथ सरकार का पतन हो जाए।

दिग्विजय सिंह के उक्त बयान को भाजपा नेताओं ने उनकी स्वाभाविक शिगूफेबाजी का हिस्सा बताते हुए इस आरोप को पूरी तरह मनगढ़ंत तक करार दे दिया था, परंतु भाजपा दिग्विजय सिंह के आरोपों को पूरी तरह मनगढ़त और निराधार सिद्ध कर पाती, उसके पूर्व दिल्ली से जो खबर आ गई ,उसने उन्हें दांवे को एक सच साबित कर दिया। अब दिग्विजय सिंह के आरोपों में कोई गहरा सच छिपे होने का आभास होने लगा है। इससे राजनीतिक पंडित भी यह अनुमान लगाने पर विवश हो गए हैं कि कहीं न कहीं दाल में कुछ काला अवश्य है।

बताया जाता है कि

बताया जाता है कि इन तीनों को हरियाणा की खट्टर सरकार की पुलिस ने अंदर जाने से रोक दिया। दिग्विजय सिंह ने यह भी आरोप लगाया कि अंदर भाजपा नेता करोड़ों की रकम लिए बैठे हैं ओर कोई उन पर छापा मारने की हिम्मत नही दिखा पा रहा है। दरअसल उक्त कथित घटनाक्रम को राज्य में इसी माह होने वाली राज्यसभा की तीन सीटों के चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी चाहती है कि उक्त तीन सीटों में से दो पर अपने उम्मीदवार जिता ले जाए, जबकि संख्या बल के हिसाब से दो सीटें कांग्रेस के पास जाना तय माना जा रहा है। विधायकों की इस कथित खरीद-फरोख्त की खबरों को भी राज्यसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।

लापता विधायकों में से कांग्रेस के हरदीप सिंह डंग ने इस्तीफा भेजा

मध्य प्रदेश के सत्तापक्ष के लापता 4 विधायकों में से एक हरदीप सिंह डंग ने अपना इस्तीफा स्पीकर एनपी प्रजापति और मुख्यमंत्री कमलनाथ को भेजा है। डंग 3 दिनों से लापता थे। अपने इस्तीफे में डंग ने लिखा कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र की अनदेखी से दुखी हैं। उन्होंने लिखा, न मैं कमलनाथ गुट का हूं, न दिग्विजय सिंह और न ही सिंधिया गुट का हूं। मैं सिर्फ कांग्रेस का कार्यकर्ता हूं। इसलिए मुझे परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

सूत्रों का कहना है कि

अभी कुछ और विधायक भी इस्तीफा दे सकते हैं।कांग्रेस के एक अन्य लापता विधायक कांग्रेस विधायक बिसाहूलाल सिंह के बेटे ने भी उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भोपाल में दर्ज करवाई है। हरदीप और बिसाहूलाल के अलावा रघुराज कंसाना और निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा भी 3 दिन से लापता हैं।

सियासी उठापटक के बीच शिवराज अभी दिल्ली में, देर रात तक भोपाल आने की उम्मीद

मध्य प्रदेश सियासी हलचल के बीच आज पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का जन्मदिन है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर अपना और शिवराज का एक पुराना फोटो पोस्ट किया है। मुख्यमंत्री ने फोटो के साथ लिखा है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहानजी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। ईश्वर से आपके उत्तम स्वास्थ्य और सुदीर्घ जीवन की कामना करता हूं। शिवराज सिंह ने मुख्यमंत्री के इस ट्वीट को रिट्वीट किया है।

प्रदेश में 2 दिन से जारी राजनीतिक उठापटक के बीच भाजपा कार्यकर्ताओं ने 5 मार्च को भोपाल में शिवराज का जन्मदिन मनाने की तैयारी कर रखी थी। शिवराज के भोपाल स्थित निवास पर रक्तदान शिविर के अलावा कई धार्मिक अनुष्ठान भी आयोजित किए जाने थे। हालांकि बुधवार देर रात उन्हें भाजपा हाईकमान के आदेश पर दिल्ली जाना पड़ा। कयास लगाए जा रहे थे कि शिवराज सुबह तक वापस आ जाएंगे। लेकिन वे नहीं आए। इस बीच खबर है कि उनके निवास पर जमा समर्थकों का जमघट कम होना शुरू हो गया है।

दलालों के काम हो रहे है विधायकों के नहीं, इसलिए इस्तीफा.. कमलनाथ सरकार को झटका

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में बार-बार गुहर लगाने के बावजूद भी विकास कार्य नहीं हुए.. जब भी आवेदन दिया है अब यह कहा गया कि फंड की कमी है.. लेकिन दलालों का काम तेजी से हो रहे है.. भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ रहा है.. इन्हीं सब बातों से दुखी होकर इस्तीफा दे रहा हूं..

यह इस्तीफे के लिए दिए गए पत्र के कुछ सारांश है जो सुवासरा के कांग्रेसी विधायक हरदीप सिंह डंग ने लिखे हैं। अपने इस्तीफे के दौरान उन्होंने कई ऐसी बातों का उल्लेख किया है जो सुनने और पढ़ने में चौंकाने वाली है । उन्होंने यह भी कहा कि मैं किसी भी गुट से नहीं हूं केवल कांग्रेस कार्यकर्ता के रूप में कार्य कर रहा हूं , इसलिए मुझे विकास कार्य में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे से कांग्रेस दंग रह गई है। कांग्रेस के इस दबंग विधायक में 5 साल पहले भी परचम लहराया था जब पूरे मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की लहर चल रही थी उस समय उज्जैन संभाग की 29 सीटों में से केवल एक सीट पर कांग्रेस का परचम फहराने वाले हरदीप सिंह डंग ही थे । हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे से पूरे मध्यप्रदेश में सियासी भूचाल आ गया है । वर्तमान में मध्यप्रदेश की विधानसभा में 230 सीटें हैं । इनमें से दो सीटें वर्तमान में खाली है। इस प्रकार 228 में से 114 सीट बहुमत के लिए जरूरी है । वर्तमान में कांग्रेस के पास 112 विधायक हैं। इसके अलावा चार निर्दलीय विधायक और एक सपा तथा दो बसपा विधायकों का समर्थन भी कांग्रेस को है । निर्दलीय विधायकों के बयान अलग-अलग प्रकार से सामने आ रहे हैं । इससे भी कांग्रेस की चिंता बढ़ गई है। इसके अलावा हरदीप सिंह के इस्तीफे से कांग्रेस की सीट और कम हो जाएगी, फिलहाल इस्तीफे औपचारिक रूप से मंजूर नहीं किया गया है लेकिन कांग्रेसी विधायक के पत्र ने सनसनी जरूर फैला दी है । फिलहाल मध्यप्रदेश में सियासी परिवर्तन को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है । गौरतलब है कि मार्च के माह में ही राज्यसभा के भी चुनाव होना है। ऐसी स्थिति में सत्ता परिवर्तन होने पर एक बार फिर भाजपा 2 सीटों पर काबिज हो सकती है । वर्तमान में 2 सीटें बीजेपी के पास है जबकि एक सीट कांग्रेस के पास है । अभी भी कांग्रेस के तीन विधायक लापता बताए जा रहे हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस के नाराज विधायकों को मनाने का दौर भी चल रहा है। अब कमलनाथ सरकार पर छाया संकट को लेकर समय ही सब कुछ तय करेगा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

किश्तवाड़ में बादल फटने से पांच की मौत, 40 से ज्यादा लोग लापता

नई दिल्ली 28 जुलाई 2021 ।  जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का कहर देखने को मिला …