मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> विजयवर्गीय खेमे पर बोला महाजन ने हमला

विजयवर्गीय खेमे पर बोला महाजन ने हमला

इंदौर 16 जुलाई 2019 । पूर्व सांसद एवं लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने आज भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खेमे पर जोरदार हमला बोल दिया। इसके साथ ही भाजपा की इंदौर की गुटीय राजनीति में नया मोड़ आ गया है।

इंदौर विमानतल से अंतरराष्ट्रीय उड़ान के शुभारंभ समारोह में भाग लेने के लिए महाजन विमानतल पर पहुंची थी । वहां उन्होंने मीडिया के साथ चर्चा भी की। इस चर्चा में जब महाजन से पिछले दिनों विजयवर्गीय के बेटे विधायक आकाश विजयवर्गीय के द्वारा इंदौर नगर निगम के अधिकारी की क्रिकेट के बल्ले से पिटाई किए जाने के मामले में सवाल पूछा गया तो साफगोई से उन्होंने कहा कि क्या यह घटना आपको अच्छी लगी है ।

जब आपको अच्छी नहीं लगी, तो मुझे अच्छी कैसे लग सकती है। मुझे भी यह व्यवहार अच्छा नहीं लगा। इतना बोलने के बाद महाजन को इस बात का अहसास हुआ कि वे जो बोल रही है । उसका राजनीतिक परिणाम निकलेगा तो तत्काल उन्होंने अपनी बात को दार्शनिक अंदाज की तरफ मोड़ दिया। उन्होंने कहा कि 1 माँ के कई बेटे होते हैं। मां अपने किसी भी बेटे को इस तरह के संस्कार नहीं देती। जब इस तरह की कोई घटना होती है तो फिर सबसे पहले तो माँ इस बात पर विचार करती है कि कहीं मुझसे ही कोई संस्कार देने में गलती तो नहीं हो गई। फिर उसके बाद बेटे को डांटा भी जाता है , फ़टकारा भी जाता है लेकिन जरूरी नहीं है कि यह सभी के सामने किया जाए।

महाजन द्वारा दिए गए इस बयान के साथ ही इंदौर की भाजपा की गुटीय राजनीति में नया मोड़ आ जाएगा। इस बयान के माध्यम से महाजन ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अभी इंदौर की भाजपा की राजनीति में उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है । उनके इस बयान के साथ ही अब एक बार फिर इंदौर में भाजपा की राजनीति में महाजन और विजयवर्गीय में के बीच सीधी जंग शुरू होने के आसार मजबूत हो गए हैं।

महाजन ने यह मोर्चा उस समय खोला है जब नगर निगम के चुनाव में करीब छह माह का वक्त ही बचा है। इस समय महाजन चाहे सांसद नहीं हैं लेकिन उनके खेमे के व्यक्ति को ही उन्होंने सांसद के पद पर निर्वाचित करवाया और अपनी ताकत को बढ़ाया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

चीन नहीं, हिमाचल में तैयार होगा दवाइयों का सॉल्ट, खुलेगा देश का पहला एपीआई उद्योग

नई दिल्ली 01 अगस्त 2021 । नालागढ़ के पलासड़ा में एक्टिव फार्मास्यूटिकल इनग्रेडिएंट (एपीआई) उद्योग …