मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> महाकालेश्वर मंदिर 3 से 12 मार्च तक मनेगा महाशिवरात्रि पर्व,12 मार्च को दोपहर में होगी भस्मार्ती

महाकालेश्वर मंदिर 3 से 12 मार्च तक मनेगा महाशिवरात्रि पर्व,12 मार्च को दोपहर में होगी भस्मार्ती

उज्जैन 20 फरवरी 2021 ।  महाकालेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व की शुरुआत 3 मार्च से होगी। प्रतिदिन भगवान के अलग-अलग श्रृंगार व पूजन अर्चन होगा। मंदिर की दर्शन सहित अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सुबह महाकाल मंदिर प्रवचन हॉल में कलेक्टर की अध्यक्षता में बैठक में सुझाव लिए। इन पर निर्णय अगली बैठक में होगा।
11 मार्च को महाशिवरात्रि पर्व है और वर्ष में एक बार दोपहर में होने वाली भस्मार्ती 12 मार्च को होगी, लेकिन पौरिणक और पारंपरिक मान्यताओं के अनुसार शिवरात्रि पर्व की शुरूआत महाकालेश्वर मंदिर में 3 मार्च से होगी। इस दौरान 11 मार्च तक भगवान महाकालेश्वर के विभिन्न श्रृंगार व पूजन होंगे। महाकालेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं की दर्शन व्यवस्था को लेकर कलेक्टर आशीष सिंह, एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ल ने मंदिर समिति के सदस्यों से चर्चा की। जिसमें यह सुझाव सामने आए कि दर्शन व्यवस्था ऑनलाइन ही रहे। शिवरात्रि पर श्रद्धालुओं की कतार हरसिद्धि मंदिर की ओर से लगाई जाए। साथ ही पास व्यवस्था को सीमित करते हुए मीडिया के प्रवेश पर भी उचित निर्णय लिया जाए। सभी सदस्यों से विचार विमर्श के बाद कलेक्टर ने कहा कि सुझावों के मद्देनजर अगली मीटिंग में निर्णय लिया जाएगा। फिलहाल मंदिर में निर्माण कार्य भी चल रहे है और पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष दोगुने श्रद्धालुओं के आने की संभावना है।

कलेक्टर ने प्रत्येक कार्य का डिजिटल डिस्प्ले मौके पर करने के लिये कहा

कलेक्टर आशीष सिंह ने आज महाकाल क्षेत्र के विकास के प्रत्येक कार्यों का टाईम लाइन तैयार करने के निर्देश स्मार्ट सिटी को दिये हैं। उन्होंने कहा है कि टाईम लाइन के चार्ट में कार्य प्रारम्भ होने एवं कार्य समाप्त होने की अवधि को दर्शाते हुए प्रगति की रिपोर्टिंग की जाये। कलेक्टर ने साथ ही कहा है कि प्रत्येक कार्य की साइट पर आकर्षक डिजिटल डिस्प्ले कर उस कार्य को पूर्ण करने में कितने दिन शेष रह गये हैं, इसका काउंट डाऊन भी दर्शाया जाये। कलेक्टर ने इसी तरह के डिस्प्ले लगाने के लिये उज्जैन विकास प्राधिकरण को भी निर्देशित किया है।
कलेक्टर ने आज बृहस्पति भवन में महाकाल विकास कार्यों के तहत मृदा कार्यों की समीक्षा की तथा दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने त्रिवेणी इंटरप्रीटेशन सेन्टर से चारधाम मन्दिर तक, चारधाम मन्दिर से नृसिंह घाट तक की सड़क एवं 11 मकानों के अधिग्रहण के कार्य की समीक्षा की तथा निर्देश दिये कि अधिग्रहण के कार्य में आपसी सहमति स्थापित कर अधिग्रहण के कार्य को तेजी से बढ़ाया जाये। साथ ही उन्होंने कहा कि इंटरप्रीटेशन से चारधाम तक की सड़क का निर्माण कार्य जैसे-जैसे भूमि का अधिग्रहण होता जाये, वैसे-वैसे प्रारम्भ कर दिया जाये। बैठक में एडीएम नरेन्द्र सूर्यवंशी, नगर निगम आयुक्त क्षितिज सिंघल, स्मार्ट सिटी सीईओ जितेन्द्रसिंह चौहान, यूडीए सीईओ सुजानसिंह रावत, एसडीएम संजीव साहू सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …