मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> महंत नृत्य गोपाल दास बने राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष

महंत नृत्य गोपाल दास बने राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष

नई दिल्ली 20 फरवरी 2020 । अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए नवगठित ‘राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट की आज (बुधवार) को दिल्ली में हुई अहम बैठक में महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष और चंपत राय को महासचिव बनाया गया है. नृपेंद्र मिश्रा को भवन निर्माण समिति का चेयरमैन नियुक्त किया गया है. ट्रस्ट की आज हुई पहली बैठक में 9 प्रस्ताव भी पारित किए गए.

इससे पहले श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक आज दिल्ली में ग्रेटर कैलाश-1 स्थित ट्रस्ट के ऑफिस में हुई. यह ऑफिस वरिष्ठ वकील के. परासरण के आवास पर बनाया गया.

गोविंद गिरी बने कोषाध्यक्ष

परासरण की अगुवाई में हुई बैठक के बाद चंपत राय ने कहा कि नृत्य गोपाल दास अध्यक्ष और चंपत राय महासचिव चुने गए हैं. जबकि गोविंद गिरी को कोषाध्यक्ष बनाया गया है.

उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए भवन निर्माण समिति बनेगी. इसके लिए काम आगे बढ़ेगा. नृपेंद्र मिश्रा को भवन निर्माण समिति का चेयरमैन नियुक्त किया गया है. हालांकि बैठक की जानकारी देने के दौरान चंपत राय भावुक हो गए और अपना वक्तव्य पूरा नहीं कर सके.

फिर गोविंद देव गिरी स्वामी ने आगे की जानकारी दी. गोविंद देव गिरी को ही ट्रस्ट का कोषाध्यक्ष बनाया गया है. उन्होंने कहा कि बैठक में ट्रस्ट से जुड़े सभी 14 न्यासी उपस्थित हुए. आज भारत के इतिहास का नया अध्याय लिखा गया.मंदिर का मॉडल वही रहेगाः नृत्य गोपाल दास

मंदिर निर्माण कार्य शुरू होने के बारे में गोविंद देव गिरी ने कहा कि निर्माण तिथि के बारे में भवन निर्माण समिति एक रिपोर्ट देगी तब हम उचित तिथि बताने में सक्षम होंगे.

ट्रस्ट के अध्यक्ष बने महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि राम मंदिर का मॉडल वही रहेगा, लेकिन उसे और ऊंचा तथा चौड़ा करने के लिए प्रारूप में थोड़ा बदलाव किया जाएगा. नृपेंद्र मिश्रा की अगुवाई में निर्माण समिति का गठन किया गया है.

ट्रस्ट से जुड़े सूत्र ने कहा कि 15 दिन बाद इस ट्रस्ट के लोग अयोध्या में मिलेंगे. तब राम मंदिर निर्माण को लेकर तारीखों का ऐलान किया जा सकता है.परासरण की अगुवाई में हुई बैठक में महंत नृत्यगोपाल दास, महंत दिनेन्द्र दास, गृह मंत्रालय से संयुक्त सचिव ज्ञानेश कुमार, होम्योपैथ डॉ. अनिल कुमार मिश्रा, चंपत राय (VHP), शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती, यूपी के अपर प्रधान गृह सचिव अवनीश अवस्थी, परमाननंद जी महाराज, अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज झा, कामेश्वर चौपाल, पेजावर मठ के प्रमुख विश्वप्रसन्न तीर्थ स्वामी, पुणे के स्वामी गोविंद देव गिरी और अयोध्या के राज परिवार के विमलेंद्र मोहन मिश्र शामिल हुए.हालांकि वैष्णव वैरागी अखाड़ों की निर्वाणी अणी के महंत और अयोध्या में हनुमानगढ़ी के महंत धर्मदास भी बैठक के दौरान पहुंचे, लेकिन उन्हें शामिल नहीं किया गया. उन्हें बैठक कक्ष के बाहर ही एक अन्य कमरे में बिठाया गया. महंत धर्मदास काफी समय से ट्रस्ट में शामिल होने की मांग कर रहे थे.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

चीन नहीं, हिमाचल में तैयार होगा दवाइयों का सॉल्ट, खुलेगा देश का पहला एपीआई उद्योग

नई दिल्ली 01 अगस्त 2021 । नालागढ़ के पलासड़ा में एक्टिव फार्मास्यूटिकल इनग्रेडिएंट (एपीआई) उद्योग …