मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> बैंकों के मर्जर से बिगड़ा मार्केट का मूड

बैंकों के मर्जर से बिगड़ा मार्केट का मूड

नई दिल्ली 4 सितम्बर 2019 । मोदी सरकार की ओर से बैंकिंग सेक्‍टर को लेकर बड़ा फैसला लिया गया. इसके तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक साथ 10 बैंकों के विलय का ऐलान किया. सरकार के विलय के फैसले से शेयर बाजार में निराशा का माहौल देखने को मिल रहा है. इसका नतीजा यह हुआ कि सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन शुरुआती घंटों में बैंकिंग सेक्‍टर के शेयर पस्‍त नजर आए. मंगलवार को निफ्टी में बैंक इंडेक्स 1 फीसदी से ज्यादा गिर गया. वहीं सेंसेक्‍स में भी बैंकिंग इंडेक्‍स में 1 फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की गई.

पीएनबी को सबसे तेज झटका
विलय के ऐलान के बाद पहले दिन कारोबार के दौरान पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के शेयर 8 फीसदी से अधिक लुढ़क गए. इसी तरह केनरा बैंक के शेयर में भी 7 फीसदी से अधिक की गिरावट आई. वहीं यूनियन बैंक के शेयर 6 फीसदी से अधिक गिरावट के साथ कारोबार करते देखे गए. इसके अलावा इंडियन बैंक, ओरिएंटल बैंक, इलाहाबाद बैंक के शेयर में भी 3 फीसदी से अधिक फिसलन दर्ज की गई. मामूली बढ़त वाले शेयरों में आंध्रा बैंक और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया शामिल हैं.

किन- किन बैंकों का हो रहा विलय ?
सरकार ने कुल 10 बैंकों के विलय का ऐलान किया है. पहला विलय पंजाब नेशनल बैंक में यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक का होगा. वहीं अगर दूसरे विलय की बात करें तो केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक शामिल होगा. जबकि तीसरे विलय के तहत यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक एक हो जाएंगे. चौथा विलय इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक का होगा. विलय के ऐलान के बाद अब देश में 12 PSBs बैंक रह जाएंगे. इससे पहले साल 2017 में पब्‍लिक सेक्‍टर के 27 बैंक थे.
शेयर बाजार का हाल
सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन मंगलवार को बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ हुई. दोपहर 1 बजे सेंसेक्‍स की गिरावट 500 अंकों से अधिक की हो गई और यह 36 हजार 830 के स्‍तर पर कारोबार करता दिखा. इसी तरह निफ्टी 150 अंक लुढ़क कर 10 हजार 850 के स्‍तर पर आ गया. वहीं रुपये में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है. शुरुआती कारोबार में रुपया 56 पैसे कमजोरी के साथ 71.96 प्रति डॉलर पर खुला. कुछ देर बाद ही यह 72.03 के स्तर पर पहुंच गया.

अगर आप पंजाब नेशनल बैंक (PNB) या एचडीएफसी बैंक के ग्राहक हैं

तो आपके लिए एक बड़ी खबर है. दरअसल, इन दोनों बैंकों में फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (FD) के जरिए निवेश करने वाले ग्राहकों के लिए एक नियम बदल गया है. इस बदलाव का असर लाखों ग्राहकों पर पड़ने की आशंका है.

दरअसल, पंजाब नेशनल बैंक और एचडीएफसी बैंक ने फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट की ब्‍याज दरों में बदलाव किया है. PNB ने 2 करोड़ रुपये से कम की फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाली ब्याज दरों को 0.50 फीसदी घटा दिया है. इस बदलाव के तहत अब बैंक 7-45 दिन के मैच्‍योरिटी टेन्‍योर वाले डिपॉजिट पर 4.5 फीसदी ब्याज देगा. वहीं सीनियर सिटीजन के लिए इस अवधि में फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर 5 फीसदी की ब्‍याज दर दी जाएगी. यहां बता दें कि पूर्व में इस अवधि वाले डिपॉजिट पर ब्याज दर क्रमश: आम लोगों के लिए 5 फीसदी और सीनियर सिटीजन के लिए 5.50 फीसदी थीं.

सके अलावा 46-179 दिनों के लिए भी ब्याज दर 5.5 फीसदी है जबकि सीनियर सिटीजन के लिए यह दर 6 फीसदी पर हो जाती है. वहीं अगर बात करें 180-270 दिनों की तो ब्याज दर 6 फीसदी और 6.5 फीसदी है. इसके अलावा 271 दिनों से एक साल के लिए ब्याज दर 6.25 फीसदी और 6.75 फीसदी है.

इससे पहले HDFC बैंक ने भी फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में कटौती की थी. वर्तमान में बैंक 7 दिनों से लेकर 10 साल तक की FD पर बैंक 3.50 फीसदी से लेकर 7.10 फीसदी तक की ब्याज दर ऑफर कर रहा है. सीनियर सिटीजन को बैंक आम नागरिक से आधा फीसदी ज्यादा ब्याज देता है. इन दोनों बैंकों के बदलाव 1 सितंबर से प्रभावी हो गए हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

31 जुलाई तक सभी बोर्ड मूल्यांकन नीति के आधार पर जारी करें परिणाम, सुप्रीम कोर्ट ने दिए आदेश

नई दिल्ली 24 जून 2021 । देश के सभी राज्य बोर्डों के लिए समान मूल्यांकन …