मुख्य पृष्ठ >> राजा भोज के नाम पर होगी मेट्रो रेल परियोजना:मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ

राजा भोज के नाम पर होगी मेट्रो रेल परियोजना:मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ

भोपाल 27 सितम्बर 2019 । मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज भोपाल में मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास करने के बाद परियोजना का नामकरण राजा भोज के नाम से ‘भोज मेट्रो रेल’ करने की घोषणा की। उन्होने कहा कि शहरों को सुरक्षित और सुंदर बनाए रखने के लिए जरूरी है कि उनका विस्तारीकरण बुनियादी सुविधाओं के साथ हो। कमल नाथ आज यहाँ एम.पी. नगर में भोपाल मेट्रो रेल परियोजना का भूमि-पूजन कर रहे थे। कार्यक्रम में भोपाल जिले के प्रभारी सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह और खनिज विकास मंत्री प्रदीप जायसवाल उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि भोपाल में मेट्रो रेल परियोजना के भूमि-पूजन के साथ ही प्रदेश में विकास के एक नये अध्याय की शुरुआत हो रही है। उन्होंने कहा कि मेट्रो सिर्फ आवागमन की दृष्टि से महत्वपूर्ण नहीं है। शहरों में बढ़ती हुई आबादी का नियोजन बेहतर ढंग से हो, इसके लिए यह जरूरी है। उन्होंने कहा कि हमें भविष्य को देखते हुए शहरों के मास्टर प्लान को इस तरह तैयार करना होगा, जिससे हम आने वाली पीढ़ी को हर दृष्टि से सर्वसुविधायुक्त शहर दे सकें। उन्होंने दिल्ली के पास विकसित हुए नोएडा और गुड़गांव का उल्लेख करते हुए कहा कि आज अगर ये दो नए क्षेत्र विकसित नहीं होते, तो दिल्ली की क्या हालत होती, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। इसलिए यह जरुरी है कि हम समय से शहरों के विस्तार की योजना बनाकर लोगों को व्यवस्थित और सुरक्षित बनाएँ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे शहर स्वच्छ हों, स्मार्ट हों, इसके साथ यह भी जरूरी है कि परिवर्तन के इस दौर में हम अपनी सोच में भी बदलाव लाएं। हर नागरिक अपने अंदर परिवर्तन लाए और अपने शहर को स्वच्छ, सुंदर और व्यवस्थित बनाने में सहयोग करे।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्द्धन सिंह ने कहा कि भोपाल शहर का बहुप्रतिक्षित मेट्रो रेल का स्वप्न पूरा होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमल नाथ के सहयोग से 2022 तक इस परियोजना की पहली लाइन को पूरा कर देंगे। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शहरी क्षेत्रों के विकास और विस्तार को लेकर निरंतर प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि मेट्रो रेल प्रोजेक्ट में दो कॉरीडोर बनेंगे। पहला कॉरीडोर करोंद सर्कल से एम्स अस्पताल तक और दूसरा कॉरिडोर भदभदा चौराहे से रत्नागिरि चौराहे तक बनेगा। इसकी कुल लागत 7 हजार करोड़ रुपये होगी। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने कहा कि भारत के पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय श्री शंकरदयाल शर्मा के बाद मुख्यमंत्री कमल नाथ पहले व्यक्ति हैं, जो भोपाल के विकास के लिए प्रयास कर रहे हैं।

जनसम्‍पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि भोपाल की जनता मुख्यमंत्री कमल नाथ की आभारी है, जिन्होंने भोपाल मेट्रो रेल की सौगात को आज जमीन पर साकार किया है। उन्होंने कहा कि कमल नाथ केन्द्रीय मंत्री के रूप में भी भोपाल के विकास के लिए निरंतर भरपूर राशि देते रहे हैं। उन्होंने बताया कि पूर्ववर्ती सरकार के तत्कालीन नगरीय विकास मंत्री स्वर्गीय श्री बाबूलाल गौर कमल नाथ से शहरी विकास मंत्री के रूप में जब मिले थे, तब उन्होंने भोपाल में नर्मदा जल लाने के लिए 500 करोड़ रुपये देने की मांग की थी। श्री कमल नाथ ने तत्काल यह राशि मध्यप्रदेश सरकार को दी थी। आज भोपालवासियों को जो नर्मदा जल मिल रहा है, यह मुख्यमंत्री कमल नाथ की ही देन है। श्री शर्मा ने बताया कि जब कमल नाथ प्रदेश के मुख्यमंत्री बने, तब भोपाल से दो फ्लाइट दिल्ली और मुम्बई जाती थीं। उन्होंने कहा कि आज हैदराबाद, अहमदाबाद, इन्दौर से दुबई की भी फ्लाइट शुरु हो गई। उन्होंने कहा कि इससे विकास की न केवल गति बढ़ेगी बल्कि जिस नियोजित तरीके से चिंता के साथ मुख्यमंत्री काम कर रहे हैं, उससे आने वाले पाँच साल में प्रदेश की दशा और दिशा दोनों ही बदल जाएगी।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि वर्षों पुरानी विचाराधीन मेट्रो रेल परियोजना आज शुरु हुई। उन्होंने कहा कि भोपाल के विकास के साथ पूरे प्रदेश में अधूरी योजनाओं को पूरा करने के लिये मुख्यमंत्री कमल नाथ काम कर रहे हैं। इससे निश्चित ही प्रदेश के विकास का एक नया नक्शा बनेगा। उन्होंने बताया कि मेट्रो रेल उनके विजन डाक्यूमेंट का एक हिस्सा था।

कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने मेट्रो रेल परियोजना का विधिवत पूजन किया और शिला-पट्टिका का अनावरण किया। भोपाल नगर निगम के महापौर आलोक शर्मा ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री संजय दुबे ने भोपाल मेट्रो परियोजना के निर्माण की जानकारी दी। आभार प्रदर्शन क्षेत्रीय विधायक श्री आरिफ मसूद ने किया।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …