मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> लाखों लोगों का बंद हो सकता है जनधन खाता

लाखों लोगों का बंद हो सकता है जनधन खाता

चंडीगढ़ 19 अगस्त 2018 । यदि बैंक में आपका जनधन खाता है और पिछले कई महीनों से आप इस खाते का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो यह खबर आपके लिए अहम है। पंजाब और हरियाणा में 15 लाख से अधिक जनधन खाते बंद हो सकते हैं क्योंकि पिछले कई महीनों से इन खातों में कोई लेनदेन नहीं हुआ है और इनकी बैंलेंस राशि भी जीरो है।

RBI ने दिया यह निर्देश
बैंकिंग सूत्रों के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंकों को ऐसे खाता धारकों को 30 दिन का नोटिस भेजने का आदेश दिया है। यदि खाताधारक खाता चालू रखना चाहता है, तो उसे नोटिस प्राप्त करने के 30 दिनों के अंदर खाता चालू करना होगा। यदि कोई खाताधारक फिर भी खाता नहीं चलाता तो उसका खाता बंद कर दिया जाएगा। आरबीआई के क्षेत्रीय निदेशक रचना दिक्षित ने गुरुवार को बैंकरों की बैठक में कहा, “यह जीरो बैंलेंस वाले खाते लंबे समय से बिना किसी बैंलेंस की स्थिति में है। इसलिए कृपया इन खातों को चलाने के लिए खाता धारकों को नोटिस भेजें और यदि वे ऐसा करने में विफल रहते हैं, तो उनके खाते बंद करें।”

देश में 32 करोड़ से ज्यादा खाते
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2014 को प्रधानमंत्री जन धन योजना की घोषणा की थी और औपचारिक रूप से इसे 28 अगस्त, 2014 को पूरे देश में लागू किया गया था। इस योजना के तहत बैंकों ने घर-घर और गांवों में जाकर लोगों को जोड़ा। आंकड़ों के मुताबिक, प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत देश में 32 करोड़ से ज्यादा खाते हैं, जिनमें से 8 अगस्त 2018 तक कुल जमा 81,197 करोड़ रुपए जमा हुए।

पंजाब में 8.76 लाख खाते खाली
पंजाब में इस योजना के तहत 66.28 लाख खाते खोले गए, जिनमें से लगभग 8.76 लाख खातों में 30 जून, 2018 तक जीरो बैलेंस रहा। सबसे ज्यादा जीरो बैलेंस खाते आईसीआईसीआई बैंक में हैं। उसके बाद कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक और आईडीबीआई बैंक में हैं। वहीं हरियाणा में कुल 65.82 लाख खाते खोले गए जिनमें 30 जून 2018 तक 6.50 लाख जीरो बैलेंस खाते थे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों को कैसे दें सुरक्षा कवच

नई दिल्ली 12 मई 2021 । भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार …