मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मंत्री पटवारी को इंदौर में झटका

मंत्री पटवारी को इंदौर में झटका

इंदौर 15 मार्च 2020 । मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री तथा मुख्यमंत्री कमलनाथ के खास माने जा रहे जीतू पटवारी को इंदौर में करारा झटका लगा है। सरकार पर छाया स्थिरता के बादल को भापते हुए इंदौर के इंदौर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने पटवारी के गृह क्षेत्र राहु की योजना को रद्द करने से हाथ खींच लिए हैं । यह माना जा रहा है कि जाती हुई सरकार में अधिकारियों ने भी अपना रंग बदल लिया।प्राधिकरण के संचालक मंडल की बैठक आज अध्यक्ष एवं संभाग आयुक्त आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में हुई। इस बैठक में मध्य प्रदेश सरकार के लैंड पूलिंग एक्ट को ध्यान में रखते हुए प्राधिकरण की सावधानी योजनाओं के भविष्य को लेकर विचार विमर्श किया गया। पिछले कई सालों से कागज पर रेंग रही 7 योजनाओं को प्राधिकरण ने एक झटके में समाप्त करने का फैसला लिया है । इन योजनाओं में योजना क्रमांक 134a, 134 b,170, 174, 175, 176 , 177 शामिल है।

ध्यान रहे कि प्रदेश के वजनदार मंत्री पटवारी के द्वारा पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान अपने निर्वाचन क्षेत्र राऊ में नागरिकों से यह वादा किया गया था कि उनकी जमीन पर प्राधिकरण के द्वारा प्रावधान की गई योजना क्रमांक 165 को रद्द करवाएंगे। वैसे तो सरकार के द्वारा जो नियम बनाए गए हैं। उसके अंतर्गत इस योजना का रद्द होना स्वाभाविक था। इसके साथ ही यह माना जा रहा था कि पटवारी का दबाव भी योजना को रद्द कराने में मदद करेगा । लेकिन हाय री किस्मत… जब योजना के रद्द होने की बारी आई तब प्रदेश में राजनीतिक अस्थिरता के बादल छा गए। इन बादलों की ओट में अधिकारियों ने भी पटवारी को ठेंगा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

प्राधिकरण के आज हुई बैठक में पटवारी की ऊंची वाली योजना को समाप्त करने से अधिकारियों ने इंकार कर दिया और इसे शासन के भरोसे के नाम पर एक बार फिर लटका दिया है। इस बारे में प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विवेक श्रोत्रिय का कहना है कि शासन से इस योजना को लेकर अलग से नियम मंगवाई जाएंगे । निश्चित तौर पर प्राधिकरण द्वारा लिया गया यह फैसला मंत्री के निर्वाचन क्षेत्र के नागरिकों के लिए एक बड़ा झटका है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘इंडोर प्लान’ से OBC वोटर्स को जोड़ेगी BJP, सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में उतरेगी टीम

नयी दिल्ली 25 जनवरी 2022 । उत्तर प्रदेश की आबादी में करीब 45 फीसदी की …