मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मोदी और शाह आखरी समय सीएम के लिए किसी ओर को कर सकते हैं आगे

मोदी और शाह आखरी समय सीएम के लिए किसी ओर को कर सकते हैं आगे

भोपाल 3 जुलाई 2018 ।  अखिल भारतीय कांग्रेस के महासचिव ओर कांग्रेस के मध्यप्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने आज मध्यप्रदेश के झाबुआ मे कहा कि कांग्रेस मे कांग्रेस की सरकार बनती है तो ज्योतिरादित्य सिंधिया या कमलनाथ मे से कोई एक होगा यह तय है यह पूछे जाने पर कि दिग्विजय सिंह सीएम नही बनेगे यह कांग्रेस क्लियर क्यो नही करती है इस पर उन्होंने फिर दोहराया कि जब हमने बता दिया कि सिंधिया ओर कमलनाथ मे से एक सीएम चेहरा होगे तो फिर सब क्लियर है ओर जनता समझदार है ।

बाबरिया ने ये भी कहा ऐसे संकेत मिल रहे है कि आखरी समय मे भाजपा शिवराज की जगह कैलाश विजयवर्गीय , नरोत्तम मिश्रा या तोमर में से किसी को सीएम केँ लिए आगे कर सकती हैं

बैठकों से गायब विधायकों पर कमलनाथ की नजर, बड़े नेताओं पर भी गिर सकती है गाज

मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के कार्यक्रमों और बैठकों से गैरहाजिर रहने वाले नेता और विधायकों के खिलाफ अनुशासन का डंडा चलेगा. पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ ने चुनाव को लेकर पार्टी लाइन के बाहर जाने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई को लेकर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह समेत चुनाव को लेकर गठित समितियों से निष्क्रिय नेताओं के नाम तलब किए हैं.

दरअसल, नेता प्रतिपक्ष की अगुवाई में बीते दिनों कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा में डमी सदन लगाया. इसमें पार्टी अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के साथ विधायक लगातार तीन दिन विधानसभा की सीढ़ियों पर दो से तीन घंटे बैठे रहे और डमी सदन के समापन पर राष्ट्रगान के साथ ही पार्टी निर्देशों का पालन किया. वहीं दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया की बुलाई बैठक में सदस्य पूरे समय अनुशासन में रहे, लेकिन इन सबके बीच एक बड़ी खबर निकल कर आई.

डमी सदन के संचालन के दौरान पार्टी के निर्देशों के बाद भी विधायक बिना सूचना के गैरहाजिर रहे, दो से तीन एसे विधायक रहे जो सिर्फ चेहरा दिखाकर गायब रहे. और इसी तरह से सिंधिया की बैठक में लगातार तीन बार पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव नहीं पहुंचे तो विवेक तंखा दो बार नहीं आए.

पार्टी के निर्देशों पर अब बैठक में सदस्यों की बकायदा अटेंडेंस लगाई जा रही है, और अब पार्टी ऐसे नेताओं के खिलाफ अनुशासन का डंडा चलाने की तैयारी में है, जो पार्टी लाइन के बाहर जाकर पार्टी की बैठकों और कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो रहे हैं. यह भी बताया जा रहा है कि कई बड़े नेताओं पर गाज गिर सकती है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

टूटे सारे रिकॉर्ड, 10 बिंदुओं में जानिए क्यों आ रहा जोरदार उछाल

नई दिल्ली 24 सितम्बर 2021 । घरेलू शेयर बाजार में शानदार तेजी का सिलसिला जारी …